Friday, November 16, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
चंद्रबाबू नायडू के समक्ष विपक्षी एकता की चुनौतीटैंशन और एक्शन से बचना है तो ईमानदारी से दीजिए टैक्स : धनेष्टामीडिया के सहयोग से बिलासपुर की बेटी की हुई घर वापसी, मीडिया को सहृदय धन्यवाद - प्रकाशपुंज पांडेयसीआईए 30 इंचार्ज इंस्पेक्टर संदीप मोर सिंघम ने आरोपी विकास दलाल को भगाने वाले 3 और बदमाशो को अवैध असले सहित किया गिरफ्तार।घरौंडा,-साँपों के साये में पढ़ने को मजबूर छात्र प्रशासन ने मुंदी आँखे, किसी हादसे की इंतजार में प्रशासनIPS अधिकारियों के तबादले किये हरियाणा सरकार ने बड़े स्तर पर लिस्ट जारी नैना चौटाला का बड़ा ऐलान, कल एक नया झंडा और डंडा गाड़ने का काम करेंगेइंकलाब मंदिर में मनाया गया शहीद करतार सिंह सराभा का बलिदान दिवस
Fashion/Life Style
सेक्‍स नैतिक या अनैतिक—ओशो सेक्स से भयभीत रही हैं। तुम भयभीत मत रहना। तुम समझने की कोशिश करना उसे। कामवासना के प्रति तुम्हारा विरोध मिट जाए। प्रश्न--सेक्स एक सृजनात्मक शक्ति है। पति-पत्नी के संबंध में उसका क्रिएटिव उपयोग कैसे किया जाए? तुम किसी स्त्री को निर्वस्त्र कर सकते हो, नग्न नहीं। प्रेम हमेशा एकांत लाता है। अकेलापन हमेशा प्रेम लाता है। जब तुम प्रेम में हो, तुम अकेले नहीं हो सकते सेक्स और धन में क्या सम्बन्ध है ? अपरिचित में एक आकर्षण है क्योंकि उस के प्रेम में कोई कारण नहीं मालूम पड़ता।.. "प्रेम की स्वतंत्रता' और भारतीय मन समझता है "यौन की स्वतंत्रता'। अंधे करवा दोगे न मालूम कितनों को! आंखों के तंतु अभी बच्चे के बहुत कोमल हैं। सेक्स का दमन मत करो इसके चरम सीमा तक जाओ ,जानो इसे - ओशो प्रेम सौ बिमारियों का एक ईलाज है , स्त्री देह इस दुनिया की सबसे बड़ी समस्या है। सुना है मैंने, कैसे पाऊंगा? आधा बाहर रह जाऊंगा, आधा भीतर जाऊंगा, तो जाना हो ही नहीं पाएगा क्या तुम जिंदा हो❓अगर यही जिंदगी है तो मौत क्या होगी❓*🍃 इस घड़ी का आनन्द लो अगली घड़ी का क्या ठिकाना "सेक्स के सारे रहस्यो को समझो" साइकिल पर करतब दिखाकर कर रहे हैं लोगों का मनोरंजन प्रेमीयो मे तो एकदुसरे को झुकाने कि होड सी लगी रहती है,ये बडाही विकृत प्रेम है सेक्स, सेक्स, सेक्स.. .इस शब्द में कैसा जादू है कि पढ़ते, सुनते कहीं न कहीं चोट जरूर पड़ती है- ओशो घोड़ी या डोली चढ़ने के दिन रह गए थोड़े स्त्री की ताकत इसी में है कि वह तुम्हारे सामने गाजर की तरह झूलती रहे क्या मैं गलत रास्ते पर हूँ..? || सुख तो यूं छूट जाता है क्योंकि सुख है कहां?* केवल एक महीना ही बचा है विवाहों के लिए सिमरन के सिर पर सजा मिस फ्रैशर का ताज "पतली छरहरी थी वो काया" आखिर दुनिया की सरकारें ओशो से डरती क्यों है ? नंगा कर दिया और शराब पीकर वे नाचने-गाने लगे डिजिटल तिलिस्मी दुनिया के आपातकाल से लगी जिंदगी पर ब्रेक