Wednesday, June 20, 2018
Follow us on
Crime

कैथल- अपोलो टायर शौरुम मालिक से 10 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में 3 आरोपी गिरफ्तार,

राजकुमार अग्रवाल | April 28, 2018 07:06 PM
राजकुमार अग्रवाल

 

 
 
कैथल- अपोलो टायर शौरुम मालिक से 10 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में सीआईए-टू पुलिस द्वारा 3 आरोपी गिरफ्तार, न्यायालय से 2 दिन का पुलिस रिमांड हासिल
 
 
 
कैथल ( राजकुमार अग्रवाल    ) कुख्यात गैंगस्टर के नाम का प्रयोग कर अपोलो टायर शौरुम मालिक से 10 लाख रुपये रंगदारी मांगने के मामले में सीआईए-टू पुलिस द्वारा 3 आरोपी गिरफ्तार किए गये है। वारदात में संलिप्त 3 अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी, मोबाईल फोन व घटनास्थल से फरार होने में प्रयुक्त टाटा जैस्ट गाडी की बरामदगी सहित व्यापक पुछताछ के लिए तीनों आरोपियों का 28 अप्रैल को न्यायालय से दिनांक 30 अप्रैल तक 2 दिन के लिए पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। 
    पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने बताया कि वार्ड नं. 14 चीका निवासी एक व्यक्ति का ईंडस्ट्रीज एरिया चीका में अपोलों कंपनी के टायरों का शौरुम है, जो 24 अप्रैल की शाम करीब 7 बजे अपनी दुकान की दूसरी मंजिल पर स्थित कार्यालय में बैठा था। अचानक वहां 4 युवक आए, जिन्होनें उसको मोबाईल फोन देते हुए कहा कि बाबु जी, जरा बात करना। शौरुम मालिक ने जब फोन सुना तो अज्ञात व्यक्ति द्वारा एक कुख्यात गैंगस्टर का नाम लेते हुए धमकी दी गई, कि उसे 10 लाख रुपये की जरुरत है, तेरे पास जो लडके भेजे गये है, उनको 10 लाख रुपये दे दो, वर्ना अपनी जान से हाथ धो बैठोगे। व्यापारी द्वारा बहादूरी व सूझबूझ का परिचय देते हुए चारों आरोपियों को नकदी देने से साफ मना कर दिया तो वे जान से मारने की धमकी देकर मौका से फरार हो गये। पुलिस अधीक्षक ने बताया पिडि़त के ब्यान पर थाना चीका में मामला दर्ज कर अभियोग की गम्भीरता देखते हुए मामला सीआईए-टू पुलिस के सुपूर्द करते हुए शिघ्रातिशिघ्र आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गये।
    एसपी ने बताया क्राईम ब्रांच सैंकिड प्रभारी सबइंस्पेटर सत्यवान की अगुवाई में सहायक उपनिरिक्षक सत्यवान सिंह, एएसआई राममेहर व एचसी लखविंद्र सिंह की टीम द्वारा उपरोक्त मामले में आरोपी दीप सिंह व सुरेंद्र वासीयान आंधली तथा विक्रम निवासी मानस को दबिश देकर काबु करते हुए भादसं. की धारा 387 अंतर्गत गिरफ्तार कर लिया गया। पुछताछ दोरान आरोपियों ने कबूला कि उन्होंने पुर्व नियोजित षडय़ंत्र के तहत अनुमान लगाया था, कि कुख्यात गैंगस्टर का नाम सुनकर व्यापारी सहज रुप उन्हें कुछ लाख रुपये नकदी तो दे ही देगा, तथा शेष नकदी वे बाद में वसूल सकते है। आरोपियों ने कबूला उन्होनें वारदात में प्रयुक्त टाटा जैस्ट गाडी सलेमढ पंजाब में तथा मोबाईल फोन गांव गामडी जिला करनाल में अपने ठिकानो पर छिपा रखा है, जिसे वे बरामद करवा सकते है। पुछताछ दौरान वारदात में लिप्त शेष 3 आरोपियों की भी पुख्ता पहचान कर ली गई है। गिरफ्तार किए गये तीनों आरोपियों का 28 अप्रैल को अदालत से 2 दिन के लिए पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। 
Have something to say? Post your comment
More Crime News
जमीन को लेकर दस दिन में दूसरा खुनी संघर्ष, एक की मौत कई घायल
बारड़ा गांव में पकड़ा गायों से भरा ट्रक, पुलिस ने खानापूर्ति कर मामले से किया किनारा
"सिर चढक़र बोलता अंधविश्वास", विज्ञान के युग में भी लोग फंस रहे पाखंडियों के जाल में
पुत्रवधु की करतूत भी उजागर ,48 घंटों के भीतर ही पुलिस कंवाली में हुई बुजुर्ग महिला की हत्या की गुत्थी सुलझाई
शहर नरवाना पुलिस सीआइए जींद ने दो कुख्यात अपराधियों को टोहाना मोड़ नरवाना से किया काबू ,
चाची की हत्या का आरोपी गिरफ्तार, दो दिन के पुलिस रिमांड पर
ट्राली चोरों को तरावड़ी पुलिस ने भेजा जेल
घरौंडा-ददलाना गांव के सरपंच पर फायरिंग
घरौंडा-कलयुगी पुत्र ने अपने की पिता की हत्या
महेन्द्रगढ़-बेटे के सामने ही आरोपी ने कैंची घोपकर की महिला की निर्मम हत्या