Thursday, July 19, 2018
Follow us on
National

कैथल,-बेटे की शादी में की अनूटी मिसाल पेश शगुन की राशि खर्च करेंगे निर्धन कन्याओं की शादी और शिक्षा पर

कृष्ण प्रजापति | May 01, 2018 07:34 PM
कृष्ण प्रजापति

कैथल,-बेटे की शादी में की अनूटी मिसाल पेश
शगुन की राशि खर्च करेंगे निर्धन कन्याओं की शादी और शिक्षा पर
कैथल, 1 मई
शहर के प्रमुख उद्योगपति ने अपने पुत्र की शादी में आई शगुन राशि निर्धन कन्याओं की शादी व शिक्षा पर खर्च करने की अनूठी मिसाल पेश की है। जब लोग वर वधु को आशीर्वाद देने के पश्चात वर विपुल के पिता नरेश कुमार व माता बिनू गुप्ता से मिले और शगुन देने लगे तो उन्होंने सामने रखे एक बाक्स की तरफ इशारा किया जिसमें पहले से ही शगुन के काफी लिफाफे पड़े थे। उस बाक्स पर जय श्री श्याम लिखा हुआ था और साथ में ही एक ज्योति जल रही थी। पास में एक बैनर पर लिखा हुआ था कि इस शादी में शगुन के रूप में आने वाली तमाम राशि को समाज की जरूरतमंद लड़कियों की शिक्षा और उनकी शादी के ऊपर खर्च किया जाएगा। वृंदावन गार्डन में इस अनूठी शादी में सैकड़ों लोगों ने शिरकत कर इस तरह की अनूठी मिसाल देख मुक्त कंठ से गुप्ता परिवार की तारीफ की। मौके पर ही कई लोगों ने प्रण लिया कि वे अपने बच्चों की शादी में भी ऐसा ही प्रयास करेंगे। धाॢक संस्था श्री श्याम शरणम के करीब 90 सदस्यों ने अपने मन में संकल्प लिया कि वे अपने बच्चों की शादियों में आने वाने शगुन से समाज के जरूरतमंद कन्याओं की शिक्षा और शादी में वहन करेंगे। वर के रूप में विपुल पेशे से एक नामी कंपनी में इंजिनियर हैं और वधू अपूर्वा बैंक में अधिकारी है।

Have something to say? Post your comment
More National News
कल तक सोनीपत पहुंचेगी सुरभि गुप्ता की डेडबॉडी
मोबाइल फोन ने उड़ाया अंतर्राष्ट्रीय योग का मखौल
योग का नहीं किसी जाति धर्म से लेना देना - प्रभारी मंत्री, योग करने से होता है शारीरिक व मानसिक विकास- डीएम अमेठी
दिल्ली स्थित दाती महाराज के आश्रम में है गुफा?दाती महाराज के आश्रम से संदिग्ध चीजें बरामद, घटनास्थल की पहचान पुलिस
दलितों ने किया 15 अगस्त के दिन धर्मांतरण का ऐलान
चर्म रोग दूर करता है इस कुएं का पानी
बैंक बड़ौदा में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में भारी गड़बड़ी की आशंका, मांगी गयी जनसूचना 34 करोड की लागत से बना तिरुपति बालाजी मंदिर के जल्द होगे दर्शन
8 वर्षीय बच्ची के साथ 22 वर्षीय युवक ने किया दुष्कर्म,
विदेश में हरियाण्वी संस्कृति से रूबरू करवा रहा सिद्धपुर का छौरा