Saturday, November 17, 2018
Follow us on
Punjab

बठिंडा, -खसरे का टीका लगने से तेरह बच्चों की हालत बिगडी

अटल हिन्द ब्यूरो | May 07, 2018 06:14 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

बठिंडा, -खसरे का टीका लगने से तेरह बच्चों की हालत बिगडी
सभी बच्चों को परिजनों ने करवाया सिविल अस्पताल में दाखिल
बठिंडा, 07 मई, (परविंदर )
सेहत विभाग की तरफ से सरकारी स्कूलों में बच्चों को लगाए जा रहे खसरे के टीके से सोमवार को तेरह बच्चों की शहर के विभिन्न स्कूलों अंदर हालत बिगड गई । जिनको स्कूल प्रबंधकों एवं बच्चों के परिजनों की ओर से सिविल अस्पताल बठिंडा में दाखिल करवाया गया । जहां पर डाक्टर सतीश जिंदल ने छह बच्चों को प्राथमिक उपचार देकर घर भेज दिया जबकि बाकी सात बच्चों को दाखिल कर उनका उपचार शुरू कर दिया ।

जानकारी के अनुसार शहर की लाल सिंह बस्ती, अमर पुरा बस्ती के अलावा अन्य जगहों से संबंधत तेरह बच्चों में से सात बच्चों ने दो दिन पहले अपने स्कूल में खसरे का टीका लगवाया था । लेकिन दो दिन बाद सोमवार को उक्त सभी बच्चों को बुखार व उल्टियां आने लगी जिस के चलते उनके परिजन एकदम घबरा गए और आनन फानन में अपने बच्चों को उपचार के लिए सिविल अस्पताल मेें भर्ती करवाया । जहां पर डाक्टर सतीश गोयल ने उक्त बच्चों में से छह बच्चों का प्रा‌थमिक उपचार कर उन्हें घर भेज दिया जबकि एक बच्चें की हालत ठीक न होने के चलते उसे अस्पताल में दाखिल कर लिया गया । वहीं सोमवार को सुबह शहर में स्थित विभिन्न सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों को खसरे का टीका लगाया गया था । जिनमें से छह बच्चों की हालत स्कूल में ही ज्यादा बिगड गई। जिस के बाद तुरंत स्कूल प्रबंधकों ने बच्चों के परिजनों को सूचित कर उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया । जिनकी हालत सोमवार शाम तक पूरी ठीक न होने के चलते बच्चों को अस्पताल में ही रखा ।

इस संबंधी बच्चों के माहिर डाक्टर सतीश गोयल का कहना था कि खसरे का टीका लगने के बाद यह आम बात है, लेकिन अब उक्त टीके को लेकर जो माहौल देश में बना हुआ है, उसी के कारण पूरा पेनिक क्रेट हुआ है। उन्होनें कहा कि तेरह बच्चें उनके पास उपचार के लिए आए थे। जिनमें से छह का उपचार कर घर भेज दिया जबकि बाकी सात बच्चों का उपचार अस्पताल में अभी चल रहा है। लेकिन वो खतरे से बाहर है।

जिला प्रशासन व सिविल अस्पताल प्रशासन में मचा हडकंप
खसरे के टीके से तेरह बच्चों की हालत बिगडने की खबर जैसे ही जिला प्रशासन अधिकारियों के पास पहुंची तो उनमें हडकंप मच गया । जिस के चलते डिप्टी कमिशनर बठिंडा दीप्रवा लाकरा ने तुरंत सिविल अस्पताल अधिकारियों व डाक्टरों को जरूरी आदेश दिए । वहीं जैसे ही उक्त बच्चों को लेकर उनके परिजन अपने बच्चों का उपचार करवाने सिविल अस्पताल में पहुंचे तो अस्पताल प्रशासन में भी हडकंप मच गया और आनन फानन में बच्चों का उपचार शुरू कर दिया ।

Have something to say? Post your comment
More Punjab News
पूर्व मुख्य मंत्री बादल की सुरक्षा में सेंध एक व्यक्ति को सरकारी रिवालवर समेत दबोचा
बठिंडा में दो सौ रूपए के लेन देन को लेकर युवक की हत्या
जबरन उतरवाए लड़कियों के कपड़े . .
बठिंडा के एसपीडी, डीएसपी डी ने कांग्रेस वर्करों के साथ मिलकर किया लोकतंत्र का कत्ल-पूर्व मंत्री मलूका बठिंडा में पत्नी ने अपने प्रेमी संग मिलकर की आप उमीदवार हिंदा की हत्या- आई जी फारूकी मामला महिला डाक्टर की संदिग्ध मौत का -सुप्रीम कोर्ट से डा.शेखावत की जमानत याचिका रद्द-जाएगें जेल इनेलो सांसद रोड़ी का प्राइवेट डराईवर को पुलिस ने किया गिरफतार,आरोपियों में हरियाणा पुलिस के होमगार्ड का जवान शामिल महिला मजदूर के साथ मारपीट,आरोपी एएसआई पर हो एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज-पूर्व विधायक बठिंडा में हाईकोर्ट के वकील ने शिक्षा विभाग के सचिव को नोटिस भेज की मांग बठिंडा-स्कूल प्रिंसीपल को बिना बताए होस्टल से दो छात्राओं को बाहर भेजने के आरोप में