Saturday, April 20, 2019
BREAKING NEWS
22वर्ष पुराने सामूहिक हत्याकांड में विधायक दोषी,हुई उम्र कैदजहां सतगुरु आप आ गए वहां साध संगत भी अपने आप पहुंच जाती है : संत बाबा रामसिंह जीभाजपा से रतनलाल कटारिया, राव इंदरजीत सिंह, सुनीता दुज्गल सहित 21 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किएयुवक की संदिग्ध हाल में मौत, शव को लेकर उलझे परिजनलवीस को बस से उतारा और उसका अपहरण कर फरार हो गए। कैथल जिले में पंचायती राज विभाग द्वारा बनाई गई व्यामशालाओं को लेकर उठे रहे सवाल !क्या कार्यवाही करेगा चुनाव आयोग , सुनीता दुग्गल के रोड शो में 15 मिनट फंसी रही गर्भवती को ले जा रही एंबुलेंस,?सतीश राज देशवाल ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर किया नामांकन दाखिल जनता की अदालत में फैसला अभी बाकी है स्वाति यादव ने भाजपा व कांग्रेस का वोट समीकरण बिगाड़ा

Punjab

बठिंडा, -खसरे का टीका लगने से तेरह बच्चों की हालत बिगडी

May 07, 2018 06:14 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

बठिंडा, -खसरे का टीका लगने से तेरह बच्चों की हालत बिगडी
सभी बच्चों को परिजनों ने करवाया सिविल अस्पताल में दाखिल
बठिंडा, 07 मई, (परविंदर )
सेहत विभाग की तरफ से सरकारी स्कूलों में बच्चों को लगाए जा रहे खसरे के टीके से सोमवार को तेरह बच्चों की शहर के विभिन्न स्कूलों अंदर हालत बिगड गई । जिनको स्कूल प्रबंधकों एवं बच्चों के परिजनों की ओर से सिविल अस्पताल बठिंडा में दाखिल करवाया गया । जहां पर डाक्टर सतीश जिंदल ने छह बच्चों को प्राथमिक उपचार देकर घर भेज दिया जबकि बाकी सात बच्चों को दाखिल कर उनका उपचार शुरू कर दिया ।

जानकारी के अनुसार शहर की लाल सिंह बस्ती, अमर पुरा बस्ती के अलावा अन्य जगहों से संबंधत तेरह बच्चों में से सात बच्चों ने दो दिन पहले अपने स्कूल में खसरे का टीका लगवाया था । लेकिन दो दिन बाद सोमवार को उक्त सभी बच्चों को बुखार व उल्टियां आने लगी जिस के चलते उनके परिजन एकदम घबरा गए और आनन फानन में अपने बच्चों को उपचार के लिए सिविल अस्पताल मेें भर्ती करवाया । जहां पर डाक्टर सतीश गोयल ने उक्त बच्चों में से छह बच्चों का प्रा‌थमिक उपचार कर उन्हें घर भेज दिया जबकि एक बच्चें की हालत ठीक न होने के चलते उसे अस्पताल में दाखिल कर लिया गया । वहीं सोमवार को सुबह शहर में स्थित विभिन्न सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों को खसरे का टीका लगाया गया था । जिनमें से छह बच्चों की हालत स्कूल में ही ज्यादा बिगड गई। जिस के बाद तुरंत स्कूल प्रबंधकों ने बच्चों के परिजनों को सूचित कर उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया । जिनकी हालत सोमवार शाम तक पूरी ठीक न होने के चलते बच्चों को अस्पताल में ही रखा ।

इस संबंधी बच्चों के माहिर डाक्टर सतीश गोयल का कहना था कि खसरे का टीका लगने के बाद यह आम बात है, लेकिन अब उक्त टीके को लेकर जो माहौल देश में बना हुआ है, उसी के कारण पूरा पेनिक क्रेट हुआ है। उन्होनें कहा कि तेरह बच्चें उनके पास उपचार के लिए आए थे। जिनमें से छह का उपचार कर घर भेज दिया जबकि बाकी सात बच्चों का उपचार अस्पताल में अभी चल रहा है। लेकिन वो खतरे से बाहर है।

जिला प्रशासन व सिविल अस्पताल प्रशासन में मचा हडकंप
खसरे के टीके से तेरह बच्चों की हालत बिगडने की खबर जैसे ही जिला प्रशासन अधिकारियों के पास पहुंची तो उनमें हडकंप मच गया । जिस के चलते डिप्टी कमिशनर बठिंडा दीप्रवा लाकरा ने तुरंत सिविल अस्पताल अधिकारियों व डाक्टरों को जरूरी आदेश दिए । वहीं जैसे ही उक्त बच्चों को लेकर उनके परिजन अपने बच्चों का उपचार करवाने सिविल अस्पताल में पहुंचे तो अस्पताल प्रशासन में भी हडकंप मच गया और आनन फानन में बच्चों का उपचार शुरू कर दिया ।

Have something to say? Post your comment

More in Punjab

अकाली दल ने बठिंडा के डीपीआरओ तथा मानसा के एपीआरओ के खिलाफ भी शिकायत दी

महिलाओं से अवैद्घ संबंधों से तंग आकर पत्नी और बेटे ने मिलकर करवाया था कत्ल,पत्नी,बेटे समेत आठ लोग गिरफ्तार

पंजाब में 118 नेताओं के लोकसभा चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक

मामला कांग्रेसी सरपंच नवदीप सिंह की हत्या का मृतक सरपंच के अभिभावक अस्पताल में चार घंटे पोस्टमार्टम होने का इंतजार करते रहे

कांग्रेसी सरपंच पर बार-बार कार चढ़ाकर मौत के घाट उतारा,दो घायल

हथियारों के साथ सोशल मीडिया पर फोटो अपलोड करने वालों की अब खैर नही

इमीग्रेशन कंपनी के मालिक ने पत्नी व दो बच्चों सहित की खुदकशी

यू-ट्यूब पर ‌असलाह बनाने की तकनीक सीखी फिर खुद हथियार बना डाले

पिता अपने दोनों बच्चों समेत ट्रेन के आगे कूदा, पिता-पुत्र की मौत

पडोसन ने कहा तेरी अपतिजनक वीडियों वाइरल हो रही है तो विवाहिता ने जहरीली चीज निगल ली,हालत नाजुक