Monday, May 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
करनाल-गुंडों ने महिलाओं को बालों से पकड़कर जमकर घसीटा वह बुरी तरह मारा और उनके परिवार का सारा सामान बाहर निकाल कर सड़क पर फेंक दियागांव टीक में चल रहे दो दिवशीय आर्या महिला प्रशिक्षण सत्र का हुआ समापन139 अधिकारियों व कर्मचारियों सहित 47 अन्य व्यक्तियों को भ्रष्टाचार की विभिन्न धाराओं में कठोर करावास की सजा हुई शहरवासियों की जिद ने किया शहर को गंदगी से मुक्त बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक ने खुद उठाई झाडू सिंगोवाल में नशा विरोधी जागरूकता सप्ताह मनाया गयामुख्यमंत्री ने पूछा पहले की तरह किसी ने नौकरी के लिए पैसे और पर्ची तो नहीं दी, जवाब मिला नहीं प्रबंधक समिति ने किया टॉपर छात्रों को सम्मानित जनता अपने डंडे से तोड़ेगी भाजपा की गिल्ली- डाॅ सुशील गुप्ता ।
National

मुख्यमंत्री, चेयरमैन दोषी क्यों-कांग्रेस शासन में थी घर, दफ्तर में पेपर सैट करने की परंपरा

राजकुमार अग्रवाल | May 09, 2018 07:39 PM
फ़ाइल फोटो---सुभाष बराला भाजपा प्रदेश प्रधान
राजकुमार अग्रवाल

मुख्य परीक्षक से परीक्षा केंद्र पहुंचता है पेपर तो मुख्यमंत्री, चेयरमैन दोषी क्यों
: कांग्रेस शासन में थी घर, दफ्तर में पेपर सैट करने की परंपरा
: प्रश्न विवाद में संबंधित पर की जा रही है कार्रवाई
:101 काले ब्राह्मण एकत्रित करने के मुद्दे पर भावनात्मक राजनीति कर रही है कांग्रेस

चंडीगढ़, 9 मई- (राजकुमार अग्रवाल )

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा है कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षाओं के पेपर निर्धारित होने के बाद मुख्य परीक्षक से सीधा परीक्षा केंद्र खुलता है। यदि इस पेपर को सरकार खोलकर देखेगी तो परीक्षा की गोपनीयता भंग हो जाएगी। ऐसे में मुख्यमंत्री, बोर्ड चेयरमैन दोषी कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि घर-दफ्तरों में पेपर सैट करने की परंपरा कांग्रेस शासन में होती थी। आज कांग्रेस राजनीतिक लाभ पाने के लिए इस विवाद को भावनात्मक तरीके से भडक़ाना चाहती है, जिसे आमजन आसानी से समझते हैं।
आज यहां जारी बयान में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा अन्य कांग्रेसी विधायकों के साथ प्रश्न विवाद पर सरकार और आयोग के खिलाफ मामला दर्ज कराने की मांग पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस और उनके नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा हमेशा से जात-पात की राजनीति करते आए हैं और भाजपा शासन के दौरान कांग्रेसी किसी न किसी बहाने से जातिवाद की बात करते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन के दौरान परीक्षा के प्रश्नपत्र कांग्रेसी नेताओं के घर-दफ्तर में तैयार होते थे, ताकि अपने चहेते आवेदकों को एडजस्ट किया जा सके। वर्तमान सरकार द्वारा सभी स्वायत्त संस्थाओं को भर्तियों में पारदर्शिता बरतने के निर्देश दिए, ताकि प्रदेश में योग्य युवाओं को उनका हक दिलाया जा सके। उन्होंने प्रश्न को लेकर उठे विवाद पर कहा कि वर्तमान समय में आयोग की परीक्षाओं के लिए मुख्य परीक्षक प्रश्न पत्र तैयार कराते हैं, जो सीलबंद होने के बाद सीधा परीक्षा केंद्र पर खुलते हैं। यदि पेपर को हम खोलकर जांच करेंगे तो परीक्षा की गोपनीयता भंग होगी। वहीं आयोग को जैसे ही प्रश्न में गडबड़ी का पता चला तो न केवल उन्होंने इसके लिए माफी मांगी, अपितु संबंधित दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। अब इस प्रक्रिया के लिए मुख्यमंत्री तथा आयोग चेयरमैन कैसे दोषी हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी नेता कह रहे हैं कि वह 101 काले ब्राह्मण एकत्रित करके सरकार के सामने अपशकुन करेंगे, जो पूरी तरह से राजनीतिक से प्रेरित योजना है। इसके माध्यम से कांग्रेस ब्राह्मण समुदाय की भावना से खिलवाड़ करते हुए उनका अपमान करने की कोशिश कर रही है।

Have something to say? Post your comment
More National News
सीएम मनोहर लाल ने खेली गिल्ली-डंडा और बच्चों को उठाया कंधों पर
भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और राबार्ट बाड्रा की मिलीभगत थी , जैसे ही हाईकोर्ट फैसला कर देगा रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दिया जाएगा--मनोहर लाल
युवा पत्रकार रवि अग्रहरि ने पौधरोपण कर मनाया अपना जन्मदिन पर्यावरण सेना के ब्लाक अध्यछ ने दिया अपने जन्मदिन पर पर्यावरण बचाने हेतु संदेश
प्रतापगढ़,जौनपुर -यू पी के दूल्हा दुल्हन ने मुम्बई में रचाई अनोखी शादी, -साईकल पर सवार होकर ब्याह रचाने दूल्हा पहुँचा दुल्हन के द्वार
मुम्बई-पर्यावरण सेना की हरित विवाह मुहिम का असर पूरे हिंदुस्तान में
दंगा, पत्थरबाजी, गोली, बम की बजाए शांति, प्रेम, विश्वास व विकास का मार्ग चुने-इंद्रेश कुमार
आम्रपाली एक्सप्रेस के डायनेमो बॉक्स में लगी आग
भारतीय रेल के डीजल इंजन कितना एवरेज देते हैं जानकर हैरान रह जायेंगे
कैथल,-बेटे की शादी में की अनूटी मिसाल पेश शगुन की राशि खर्च करेंगे निर्धन कन्याओं की शादी और शिक्षा पर
हरियाणा और यूपी में अवैध खनन को लेकर खींचतान , यूपी सरकार से नहीं आया कोई ,मामला अधर में लटका