Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Haryana

हिसार के गांव खेदड़ थर्मल प्लांट मृतकों को 20-20 लाख, घायलों को 10-10 लाख की सहायता मिलेगी: पंवार

May 10, 2018 07:51 PM
राजकुमार अग्रवाल
हिसार के गांव खेदड़  थर्मल प्लांट मृतकों को 20-20 लाख, घायलों को 10-10 लाख की सहायता मिलेगी: पंवार 
परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार की घोषणा के बाद हुआ मृतकों का अंतिम संस्कार
एसआईटी करेगी दुर्घटना के कारणों व दोषियों की भूमिका की जांच 
घायलों का सरकार द्वारा करवाया जाएगा नि:शुल्क उपचार 
 
चंडीगढ़, 10 मई-(राजकुमार अग्रवाल )
 
परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने घोषणा की कि जिला हिसार के गांव खेदड़ स्थित राजीव गांधी थर्मल पावर प्लांट में 8 मई को हुए हादसे के तीनों मृतकों के परिजनों को 20-20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, तीनों घायलों को 10-10 लाख रुपये की सहायता तथा सभी के परिवार के एक-एक सदस्य को एचपीजीसीएल में नौकरी दी जाएगी। हादसे के कारणों और इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच के लिए मुख्यालय के डीएसपी, एक इंस्पेक्टर तथा एक सब इंस्पेक्टर को शामिल करते हुए एसआईटी गठित कर दी गई है। इसके अलावा प्लांट के एसई, एक्सईएन व एसडीओ को चार्जशीट करते हुए उनका तबादला किया जाएगा। श्री पंवार ने घोषणा की कि झुलसे हुए पीडि़तों का उचित उपचार सरकार द्वारा करवाया जाएगा। 
परिवहन मंत्री ने यह बात जिला हिसार के गांव खेदड़ स्थित थर्मल पावर प्लांट के पीडि़त परिवारों व ग्रामीणों से बात करते हुए कही। उनकी घोषणाओं से सहमत होने के बाद गांव के शमशान घाट में मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस अवसर पर उपायुक्त अशोक कुमार मीणा, पूर्व मंत्री प्रो. छत्तरपाल सिंह, पुलिस अधीक्षक मनीषा चौधरी भी मौजूद थे।
ग्रामीणों के बीच परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि यह हादसा बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है और हमारी पूरी सहानुभूति पीडि़त परिवारों के साथ है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिवार को सरकार की ओर से 17.5 लाख रुपये तथा घायल को 7.5 लाख रुपये नकद दिए जाएंगे। इसके अलावा सभी छह पीडि़त परिवारों को जिला प्रशासन द्वारा विभागीय योजना के तहत ढाई-ढाई लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी छह परिवारों के एक-एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाएगी। घायलों का सरकार की ओर से उचित उपचार करवाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जो घायल पुलिस में अपने बयान दर्ज करवाना चाहेगा उसके 161-164 के तहत बयान दर्ज करवाए जाएंगे। हादसे के जिम्मेदार अधिकारियों की भूमिका की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। अधिकारी जांच को प्रभावित न कर सकें और ग्रामीणों द्वारा की जा रही मांग के आधार पर प्लांट के एसई, एक्सईएन व एसडीओ को चार्जशीट करते हुए उनका यहां से तबादला किया जाएगा। परिवहन मंत्री के आश्वासन के बाद मृतकों का अंतिम संस्कार किया गया।
परिवहन मंत्री ने मृतक कर्मचारियों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए लोगों को भरोसा दिलाया कि सरकार और प्रशासन पूरी तरह से पीडि़त परिवारों के साथ है और उनकी हर संभव मदद की जाएगी। उन्हें भरोसा दिलाया कि हादसे के दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा, फिर चाहे वह किसी भी स्तर का अधिकारी या प्रभावशाली व्यक्ति क्यों न हो

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

मनोहर लाल खट्टर हार का ठीकरा मोदी के सिर पर फोड़कर जीत का सेहरा खुद बांधना चाहते हैं ?

गुस्सा नही हो रहा शांत, लाडली फोज ने ललकार दी

डंपिंग यार्ड में डाले गए मलबे को अवैध तरीके से बेचकर रिफाइनरी को मोटा चूना लगाने में लगे ठेकेदार

गांव पाड़ला के स्कूल में पंचायत द्वारा करवाए जा रहे हैं अनेक विकास कार्य

आम आदमी पार्टी के लोकसभा अध्यक्ष बने गुलाब सिंह

अलीपुर गांव में एक युवक की जहरीला पदार्थ खाने से मौत

सामाजिक बुराईयों का डटकर मुकाबला करें महिलाएं : डा. पूजा गोयल

चकबंदी पीडि़त पांच गांव के सैंकड़ों किसान मिले कमीशनर और नए डी.सी. से

पिहोवा विधानसभा क्षेत्र की मांगों को लेकर मुख्यमंत्री से मिलेंगे गगनजोत संधू कहा मुख्यमंत्री द्वारा 2016 में विकास रैली में की गई घोषणाएं को भी ध्यान में लाया जाएगा

हरियाणा विधानसभा में उठा नेता प्रतिपक्ष का मुद्दा, विधायक नैना चौटाला ने कहा कि हां हमारी अब है अलग पार्टी