Saturday, November 17, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सुल्तानपुर जिलाधिकारी महोदय खनन पर कर रहें नजर अंदाज भूमाफियाओं कें आगे प्रदेश सरकार की बोलती हुयी बंदजोगी बंगले में गजराज पगारिया की पिटाई, थाने पहुंचा मामलाचौटाला परिवार के दोफाड़ - इनेलो मुख्यालय का नया पता फ्लैट नंबर-109, सेक्टर-3एसपी आस्था मोदी का कैथल से अम्बाला हुआ तबादलाकैथल जिला की पुलिस कैसे साफ़ सुधरी रह सकती है जिला पुलिस कप्तान आस्था मोदी कुछ भी कहती रहे हिमाचल के पत्रकारों को भी जल्द दिलाएंगे हरियाणा की तर्ज पर पेंशनकैथल चीनी मिल चिप घोटाले में सरकार द्वारा शीघ्र जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाएगी : ग्रोवरचंद्रबाबू नायडू के समक्ष विपक्षी एकता की चुनौती
Haryana

कैथल-मंत्री का आदेश बना तूफ़ान --अनिल विज ने दिया एसडीओ वेदपाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश से जिले की राजनीति गरमाई

राजकुमार अग्रवाल | May 11, 2018 07:43 PM
राजकुमार अग्रवाल


कैथल-अनिल विज ने दिया एसडीओ वेदपाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश से जिले की राजनीति गरमाई

जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने दिए एसडीओ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश

गुहला विधायक, पूर्व सीपीएस श्याम राणा, शिकायतकर्ता व सरकार मिलकर झूठे मामले में मुझे फंसा रहे हैं : एसडीओ वेदपाल

अगर आरोप साबित करदे तो मैं 10 लाख रुपए देने को तैयार : कुलवंत बाजीगर

एसडीओ पहले ही भ्रष्टाचार में लिप्त है, बचने के लिए कर रहा है ड्रामा : विधायक

मानव अधिकार व जीवन जीने के अधिकार का सरेआम हो रहा हनन : एसडीओ वेदपाल

कैथल, 11 मई (कृष्ण प्रजापति/राजकुमार अग्रवाल): गुहला क्षेत्र में गत एक सप्ताह से चल रहे जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ वेदपाल पर उनके कार्यलय में हुए हमले व उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपो के मामले ने उस समय और ज्यादा तूल पकड़ लिया जब जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक में कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने एसडीओ वेदपाल के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत पर तुरंत एफआईआर दर्ज करने व सस्पेंड करने के आदेश दे दिए जबकि यह मामला एसडीओ वेदपाल के अनुसार जांच किए जाने का था लेकिन जैसे ही मंत्री द्वारा एसडीओ के खिलाफ दिया गया एफआईआर दर्ज करने का आदेश की सूचना जिले की जनता खासकर गुहला चीका क्षेत्र में पहुंची तो लोगों ने नोदी चीका की अगुआई में कैबिनेट मंत्री विज का पुतला फूंका व इसे एक तानाशाही रवैया करार दिया।

फैसले के बाद एसडीओ वेदपाल से जब हमने बातचीत की व मंत्री द्वारा उनके द्वारा दिए गए आदेशो पर उनका पक्ष जाना तो एसडीओ ने बताया कि इस पूरे प्रकरण में गुहला विधायक, पूर्व सीपीएस श्याम सिंह राणा, शिकायतकर्ता दिग्विजय व उनकी गैंग, अनिल विज आदि सभी ने मिलकर उनके साथ अन्याय किया है और अगर इस पूरे प्रकरण की पिछले तीन-चार दिन की कॉल डिटेल निकलवाई जाए तो सच सब के सामने होगा। उन्होंने कहा कि इस मामले में उनकी कोई भी सुनवाई नहीं हुई है और धक्काशाही हुई है। बिना जांच किए एफआईआर के आदेश देना एक मंत्री को शोभा नहीं देता। पूरे प्रकरण में उनके मन को गहरी ठेस पहुंची है और वे इस पूरे मामले की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने कहा कि भारत के संविधान की शपथ लेकर नहीं बल्कि किसी दूसरे देश की (पाकिस्तान) के संविधान जैसी शपथ लेकर कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने उनके साथ अन्याय किया है। एसडीओ वेदपाल ने कहा कि इस मामले में पहले जांच होनी चाहिए थी फिर कार्रवाई होनी चाहिए थी, अगर वे दोषी है तो उन पर कार्रवाई हो इसमें कोई दिक्कत नहीं लेकिन एक सिंपल एप्लीकेशन पर ही मुकदमा दर्ज करने के आदेश देना एक मंत्री को शौभा नहीं देता। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश देना उनके साथ अन्याय है। एसडीओ वेदपाल ने कहा कि अगर वे दोषी है तो बेशक उन पर कार्रवाई हो लेकिन मामले की जांच तो हो।वेदपाल ने गुहला विधायक कुलवंत बाजीगर पर ट्रांसफर रोकने व सबमर्सिबल पंप की पेमेंट करवाने की एजव में पैसे मांगने के आरोप भी बातचीत के दौरान लगाए और कहा की उन्होंने विधायक को पैसे नहीं दिए तो विधायक ने यह सब मामला रचा, जिसके चलते उनको मानसिक रुप से परेशान किया गया है। उन्होंने कहा कि गुहला विधायक द्वारा उनसे बार-बार पैसे मांगे गए और उनके घर व रिश्तेदारी में लगे सभी सबमर्सिबल पम्पो की पेमेंट उनको करने के लिए बोला गया था, जब उन्होंने ऐसा नहीं किया तो उनके ऊपर हमला करवाया गया और बल्कि धमकी भी दी गई और आज जब वे न्याय की गुहार कर रहे थे तो कैबिनेट मंत्री ने उनकी सुनने की बजाए उन पर ही एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए हैं जो मानव अधिकार व जिंदगी का अधिकार का सरेआम हनन है। उन्होंने कहा कि मेरे साथ सरकार अन्याय रही है। जब एसडीओ वेदपाल से पूछा गया कि वे इस मामले को लेकर कहां तक जाएंगे तो उनका कहना था कि वे अब इस मामले को लेकर उनकी डिप्लोमा इंजिनियर एसोसिएशन हरियाणा हैंडल करेगी और उनके केस को एसोसिएशन ने टेक अप कर लिया है, जो भी संगठन कार्रवाई करेगा मुझे उस पर सहमति है।

विधायक कुलवंत बाजीगर ने कहा
बॉक्स--- उधर जब इस पूरे मामले पर गुहला विधायक कुलवंत बाजीगर से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने बताया कि यह केस 2016 का है, जिसकी आज सुनवाई हुई है वह दो महीने पहले का केस है। उन्हें आज ही इस मामले की जानकारी मिली है, पहले यह मामला उनके संज्ञान में नहीं था। ट्रांसफर रुकवाने के नाम पर मांगे गए पैसे के आरोपों के जवाब में गुहला विधायक ने कहा कि उन्होंने न तो एसडीओ की ट्रांसफर रुकवाई और न ही करवाई। उन्होंने कहा कि एसडीओ वेदपाल कोई नोट दिखाएं जिसमें उन्होंने उनकी ट्रांसफर करवाने के कोई आदेश दिए हैं।

गुहला विधायक ने कहा कि उन्होंने न तो एसडीओ की ट्रांसफर रुकवाई और न ही करवाई। उन्होंने कहा कि एसडीओ वेदपाल कोई नोट दिखाएं जिसमें उन्होंने उनकी ट्रांसफर करवाने के कोई आदेश दिए हैं।

 

 

बाजीगर ने कहा कि इससे पहले एसडीओ वेदपाल कैथल से रतिया ट्रांसफर हुए और रतिया से अंबाला जहां पर एक डेढ़ महीना ड्यूटी के दौरान उन पर घपला करने के आरोप लगे, फिर बहादुरगढ़ उनका ट्रांसफर हुआ, उसके बाद रायपुररानी में रितिका शर्मा ने भी तंग होकर उनका ट्रांसफर गुहला में करवा दिया। बाजीगर ने कहा कि अगर उन पर लगे आरोपों में अगर एक पर्सेंट भी सच्चाई हुई तो मैं कसूरवार हूं। उन्होंने वेदपाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो व्यक्ति पहले ही भ्रष्टाचारी हो, उसके लिए वे क्या बोलेंगे और वेद पाल एसडीओ कार्रवाई से बचने के लिए झूठा ड्रामा रच रहे हैं। अनिल विज की कार्रवाई को सही बताते हुए उन्होंने अनिल विज को ईमानदार मंत्री बताया और कहा कि अनिल विज जैसे ईमानदार मंत्री भ्रष्टाचार को सहन नहीं करते हैं। जब उनके सामने ही एसडीओ ऐसे ही बोलता हो वे हमारी क्या परवाह करेगा क्योंकि आज अनिल विज के सामने भी एसडीओ साहब कैसे बात कर रहे थे, ऐसा आरोप कुलवंत बाजीगर ने लगाया। उधर कुलवंत बाजीगर ने कहा कि झूठे आरोप लगाने वाले को भगवान सदा देता है जो सजा एसडीओ को मिल गई है। उन्होंने कहा कि अगर एसडीओ की बातों में जरा सी भी सच्चाई हो तो वे गौ माता की पूंछ पकड़कर कह दें या फिर बच्चे की कसम खाकर कह दें कि उनसे विधायक ने पैसे मांगे हैं तो वे गौशाला में 10 लाख रुपए देने को तैयार हैं। कुलवंत बाजीगर ने कहा कि एसडीओ वेदपाल के मामले में पूरी तरह विपक्षी लोगों का हाथ है। लोकदल और कांग्रेस के नेताओं ने एसडीओ वेदपाल को मेरे खिलाफ भड़काने का काम किया है।

 

बाजीगर के गुर्गे बचाने में लगे विज : जयहिंद
कैथल | आप प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज द्वारा ककहेड़ी निवासी दिग्विजय सिंह की जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ के खिलाफ तुरंत प्रभाव से एफआईआर दर्ज करने एवं निलंबित करने के निर्देश दिए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा कि अनिल ने एसडीओ का पक्ष सुने बिना ही फैसला सुना दिया जो कि चौकाने वाला रहा है |जयहिंद ने कहा कि अनिल विज भ्रष्टाचारियों को बचाने में लगे हुए है ,जयहिंद ने कहा कि भाजपा विधायक कुलवंत बाजीगर ने जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ के साथ मारपीट की शिकायत की तब अनिल विज चुप क्यों रहे | अपने विधायक के खिलाफ कुछ क्यों नही बोले मंत्री जी |हिंद ने स्वास्थ्य मंत्री विज पर तंज कसते हुए कहा कि विधायक का भतीजा ठेकेदारों के साथ मिलकर पानी के टैंकर अपने निजी कामों के लिए मांगा रहा था और एसडीओ जी ने मना कर दिया, इसलिए अनिल विज ने उनके खिलाफ कार्यवाही की |जयहिंद ने कहा कि भाजपा सत्ता के नशे में चूर हो चुकी है |

हिंद ने स्वास्थ्य मंत्री विज पर तंज कसते हुए कहा कि विधायक का भतीजा ठेकेदारों के साथ मिलकर पानी के टैंकर अपने निजी कामों के लिए मांगा रहा था और एसडीओ जी ने मना कर दिया, इसलिए अनिल विज ने उनके खिलाफ कार्यवाही की <

 
वेद मामले पर लोगों ने अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू की

उधर खबर के बाद लोगों ने अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी हैं। गुहला के पूर्व विधायक रहे बूटा सिंह ने इसको भाजपा के तानाशाही रवैया करार दिया है। बूटा सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोप तो एसडीओ ने कुलवंत बाजीगर पर भी लगाए हैं तो क्या अनिल विज मुख्यमंत्री से उनके लिए भी कोई सस्पेंड आर्डर निकलवाएँगे। वहीं आम आदमी पार्टी के नेता जगजीत सिंह ने भी इस मामले में भाजपा पर निशाना साधा है। विकास कंगवाल ने अनिल विज पर कानून का अपमान करके तानाशाही रवैया अपनाने के आरोप लगाए हैं। गुहला चीका निवासी नरेंद्र सीड़ा ने कहा कि भाजपा के ईमानदार मंत्री ने बिना कुछ सुने ही एसडीओ को सस्पेंड करने के आर्डर दिए हैं जबकि एसडीओ पर हमला करने वाले सरेआम बाहर घूम रहे हैं,आखिर यह कहां का न्याय है।

एसडीओ वेदपाल मामले को लेकर जब शयाम सिंह राणा पूर्व सीपीएस और वर्तमान विधायक रादौर से उनके मोबाइल नबर 8434840999 पर उनसे बातचीत करनी चाही तो  सम्पर्क नहीं हो पाया 

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
चौटाला परिवार के दोफाड़ - इनेलो मुख्यालय का नया पता फ्लैट नंबर-109, सेक्टर-3
एसपी आस्था मोदी का कैथल से अम्बाला हुआ तबादला
कैथल जिला की पुलिस कैसे साफ़ सुधरी रह सकती है जिला पुलिस कप्तान आस्था मोदी कुछ भी कहती रहे
हिमाचल के पत्रकारों को भी जल्द दिलाएंगे हरियाणा की तर्ज पर पेंशन
कैथल चीनी मिल चिप घोटाले में सरकार द्वारा शीघ्र जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाएगी : ग्रोवर
टैंशन और एक्शन से बचना है तो ईमानदारी से दीजिए टैक्स : धनेष्टा
घरौंडा,-साँपों के साये में पढ़ने को मजबूर छात्र प्रशासन ने मुंदी आँखे, किसी हादसे की इंतजार में प्रशासन
IPS अधिकारियों के तबादले किये हरियाणा सरकार ने बड़े स्तर पर लिस्ट जारी
नैना चौटाला का बड़ा ऐलान, कल एक नया झंडा और डंडा गाड़ने का काम करेंगे
इंकलाब मंदिर में मनाया गया शहीद करतार सिंह सराभा का बलिदान दिवस