Thursday, July 19, 2018
Follow us on
Haryana

विधायक कुलवंत बाजीगर का पलटवार-उन्होंने न तो एसडीओ की ट्रांसफर रुकवाई और न ही करवाई।

कृष्ण प्रजापति | May 12, 2018 07:54 PM
कृष्ण प्रजापति

गुहला विधायक, पूर्व सीपीएस श्याम राणा, शिकायतकर्ता व सरकार पर झूठे मामले में फंसाने के एसडीओ के बयान पर गुहला विधायक कुलवंत बाजीगर का पलटवार

बोले--- "अगर आरोप साबित करदे तो मैं 10 लाख रुपए देने को तैयार" : कुलवंत बाजीगर

एसडीओ पहले ही भ्रष्टाचार में लिप्त है, बचने के लिए कर रहा है ड्रामा : विधायक

मानव अधिकार व जीवन जीने के अधिकार का सरेआम हो रहा हनन : एसडीओ वेदपाल

कैथल, 12 मई (कृष्ण प्रजापति ): गत दिवस कैबिनेट मंत्री अनिल विज द्वारा एसडीओ को सस्पेंड करने के फरमान के बाद व एसडीओ द्वारा गुहला विधायक, पूर्व सीपीएस श्याम राणा, शिकायतकर्ता व सरकार पर झूठे मामले में फंसाने के एसडीओ के बयान पर गुहला विधायक कुलवंत बाजीगर ने पलटवार किया है। जब इस पूरे मामले पर गुहला विधायक कुलवंत बाजीगर से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने बताया कि यह केस दो महीने पहले का केस है। उन्हें आज ही इस मामले की जानकारी मिली है, पहले यह मामला उनके संज्ञान में नहीं था। ट्रांसफर रुकवाने के नाम पर मांगे गए पैसे के आरोपों के जवाब में गुहला विधायक ने कहा कि उन्होंने न तो एसडीओ की ट्रांसफर रुकवाई और न ही करवाई। उन्होंने कहा कि एसडीओ वेदपाल कोई नोट दिखाएं जिसमें उन्होंने उनकी ट्रांसफर करवाने के कोई आदेश दिए हैं। बाजीगर ने कहा कि इससे पहले एसडीओ वेदपाल कैथल से रतिया ट्रांसफर हुए और रतिया से अंबाला जहां पर एक डेढ़ महीना ड्यूटी के दौरान उन पर घपला करने के आरोप लगे, फिर बहादुरगढ़ उनका ट्रांसफर हुआ, उसके बाद रायपुररानी में रितिका शर्मा ने भी तंग होकर उनका ट्रांसफर गुहला में करवा दिया। बाजीगर ने कहा कि अगर उन पर लगे आरोपों में अगर एक पर्सेंट भी सच्चाई हुई तो मैं कसूरवार हूं। उन्होंने वेदपाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो व्यक्ति पहले ही भ्रष्टाचारी हो, उसके लिए वे क्या बोलेंगे और वेद पाल एसडीओ कार्रवाई से बचने के लिए झूठा ड्रामा रच रहे हैं। अनिल विज की कार्रवाई को सही बताते हुए उन्होंने अनिल विज को ईमानदार मंत्री बताया और कहा कि अनिल विज जैसे ईमानदार मंत्री भ्रष्टाचार को सहन नहीं करते हैं। जब उनके सामने ही एसडीओ ऐसे ही बोलता हो वे हमारी क्या परवाह करेगा क्योंकि आज अनिल विज के सामने भी एसडीओ साहब कैसे बात कर रहे थे, ऐसा आरोप कुलवंत बाजीगर ने लगाया। उधर कुलवंत बाजीगर ने कहा कि झूठे आरोप लगाने वाले को भगवान सदा देता है जो सजा एसडीओ को मिल गई है। उन्होंने कहा कि अगर एसडीओ की बातों में जरा सी भी सच्चाई हो तो वे गौ माता की पूंछ पकड़कर कह दें या फिर बच्चे की कसम खाकर कह दें कि उनसे विधायक ने पैसे मांगे हैं तो वे गौशाला में 10 लाख रुपए देने को तैयार हैं। कुलवंत बाजीगर ने कहा कि एसडीओ वेदपाल के मामले में पूरी तरह विपक्षी लोगों का हाथ है। लोकदल और कांग्रेस के नेताओं ने एसडीओ वेदपाल को मेरे खिलाफ भड़काने का काम किया है। उधर इस बारे में रादौर के विधायक व पूर्व सीपीएस श्याम सिंह राणा से उनके मोबाइल नम्बर 8437840999 पर संपर्क करने का कई बार प्रयास किया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
कैथल,पबनावा में राजकुमार सैनी समर्थक ने लगाए शरारती तत्वों पर हमला करने के आरोप
एसवाईएल की आड में इनेलो को जिंदा करने के प्रयास विफल
रेवाड़ी-पंचायत को फिर उम्मीद, शायद बात बन जाए
पिपली -हाइटैंशन वोल्टेज की तारें टूट कर गिरी राष्ट्रीय राजमार्ग के बीचोबीच
कुरुक्षेत्र-बायोगैस प्लांट के सेफ्टी टैंक की जांच करने गड्डे में उतरे एक परिवार के चार लोगों की मौत
जेल भरो आंदोलन के समापन अवसर पर 37 हजार 810 कार्यकर्ताओं ने दी गिरफ्तारी
भिवानी जेल भरो आंदोलन को लेकर इनेलो-बसपा के पदाधिकारियों की बैठक का आयोजन
कन्या जन्म पर कुंआ पूजन कर मनाई खुशियां
एम.बी.बी.एस. में चयनित विक्रम यादव को सरताज जनसेवा ग्रुप द्वारा किया गया सम्मानित
सतनाली के राजकीय महाविद्यालय में किया दो दिवसीय अभिमुख कार्यक्रम का आयोजन