Monday, May 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
करनाल-गुंडों ने महिलाओं को बालों से पकड़कर जमकर घसीटा वह बुरी तरह मारा और उनके परिवार का सारा सामान बाहर निकाल कर सड़क पर फेंक दियागांव टीक में चल रहे दो दिवशीय आर्या महिला प्रशिक्षण सत्र का हुआ समापन139 अधिकारियों व कर्मचारियों सहित 47 अन्य व्यक्तियों को भ्रष्टाचार की विभिन्न धाराओं में कठोर करावास की सजा हुई शहरवासियों की जिद ने किया शहर को गंदगी से मुक्त बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक ने खुद उठाई झाडू सिंगोवाल में नशा विरोधी जागरूकता सप्ताह मनाया गयामुख्यमंत्री ने पूछा पहले की तरह किसी ने नौकरी के लिए पैसे और पर्ची तो नहीं दी, जवाब मिला नहीं प्रबंधक समिति ने किया टॉपर छात्रों को सम्मानित जनता अपने डंडे से तोड़ेगी भाजपा की गिल्ली- डाॅ सुशील गुप्ता ।
Haryana

राज्य सरकार ने बढ़ाई प्रोत्साहन राशि, अब अन्तरजातीय विवाह करने पर मिलेंगे अढ़ाई लाख

अटल हिन्द ब्यूरो | May 17, 2018 05:34 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

राज्य सरकार ने बढ़ाई प्रोत्साहन राशि, अब अन्तरजातीय विवाह करने पर मिलेंगे अढ़ाई लाख
सन्नी मग्गू
जीन्द, 17 मई
एडीसी विक्रम ने बताया कि राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री सामाजिक समरसत्ता अन्तरजातीय विवाह शगुन योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि में अच्छी खासी बढ़ोतरी की है। इस स्कीम के तहत विवाह करने वाले जोड़े को दो लाख पचास हजार रूपये की राशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाएगी। गौरतलब है कि इससे पहले मात्र एक लाख एक हजार रूपये की राशि प्रदान की जाती थी। एडीसी ने बताया कि समाज से जाति-पाति के भेदभाव को खत्म करने एवं आपसी सौहार्द को बढ़ाने के लिए अन्तरजातीय विवाह बतौर प्रोत्साहन योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत अन्तरजातीय विवाह करने वाले दम्पत्तियों को पहले एक लाख एक हजार रूपये की राशि प्रदान की जाती थी। अब इस प्रोत्साहन राशि को बढ़ाकर दो लाख पचास हजार रूपये कर दिया गया है। इस योजना का लाभ लेने के लिए दम्पत्ति में से एक अनुसूचित जाति से सम्बधित होना चाहिए तथा एक गैर अनुसूचित जाति का होना चाहिए। उन्होंने बताया कि वह हरियाणा का स्थाई निवासी भी होना जरूरी है। यह बढ़ोतरी विगत 7 मई 2०18 से की गई है। उन्होंने बताया कि जींद जिला में इस योजना का भरपूर लाभ उठाया जा रहा है। पिछले वर्ष के आकड़ो पर नजर डाली जाए तो जिला में 13 ऐसे केस हुए जिन्होंने अन्तरजातीय विवाह कर इस योजना का लाभ उठाया है। एडीसी ने बताया कि इस योजना का लाभ लाभपात्रों को सहजता से उपलब्ध करवाने के लिए काफी सरल प्रक्रिया अपनाई गई है। इस योजना के तहत मिलने वाली राशि को सीधे लाभपात्र के खातों में डाल दिया जाता है। पात्र व्यक्ति इस प्रोत्साहन राशि को विवाह के तीन साल बाद निकाल सकता है।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
करनाल-गुंडों ने महिलाओं को बालों से पकड़कर जमकर घसीटा वह बुरी तरह मारा और उनके परिवार का सारा सामान बाहर निकाल कर सड़क पर फेंक दिया
गांव टीक में चल रहे दो दिवशीय आर्या महिला प्रशिक्षण सत्र का हुआ समापन
139 अधिकारियों व कर्मचारियों सहित 47 अन्य व्यक्तियों को भ्रष्टाचार की विभिन्न धाराओं में कठोर करावास की सजा हुई
शहरवासियों की जिद ने किया शहर को गंदगी से मुक्त बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक ने खुद उठाई झाडू
सिंगोवाल में नशा विरोधी जागरूकता सप्ताह मनाया गया
मुख्यमंत्री ने पूछा पहले की तरह किसी ने नौकरी के लिए पैसे और पर्ची तो नहीं दी, जवाब मिला नहीं
प्रबंधक समिति ने किया टॉपर छात्रों को सम्मानित
कैथल में क्रिकेट सट्टा बुकिज गिरोह का भाडाफोड 2 आरोपी काबु, , 47,200 रुपये व 9 फोन बरामद ,
मुख्यमंत्री के आगे मृत्त पशुओं को डालकर करेंगे स्वागत ,प्रशासन की अनदेखी पर हडवारा हटाओ आंदोलनकारियों का ऐलान
1 से 10 जून तक हरियाणा के गाँव बंद होंगे किसान जाएंगे छूटी पर राष्ट्रीय किसान महासंघ अभियान चलाएगी