Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Entertainment

हरियाणवी हास्य कलाकार झंडू ने जागरण में जमाया रंग

May 20, 2018 01:03 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

हरियाणवी हास्य कलाकार झंडू ने जागरण में जमाया रंग
रादौर में हुआ 18वें भगवती जागरण का आयोजन
रादौर, 2० मई (सैनी): शिव एकता सेवा समिति रादौर की ओर से शनिवार की रात्रि 18वें विशाल भगवती जगराते का आयोजन किया गया। गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी जगराते में भव्य दरबार लगाया गया था जो सभी के लिए आकर्षण का केन्द्र रहा। इस वर्ष हुए जगराते की खासिख्त थी कि जगराते में हरियाणा के मशहूर हास्य कलाकार झंडू भी विशेष रूप से कार्यक्रम में पहुंचे और अपनी हास्य कला की बदौलत सभी का मन मोहा। बीच बीच में अपनी प्रस्तुति दे रहे हास्य कलाकर झंडू से जगराते में पहुंचे श्रद्धालुओ को जोड़े रखा और वातावरण को भक्ति व हास्य रंग से भर दिया। इसके अलावा जगराते में कुमार संजय मेरठ, सूरज चंचल यमुनानगर व कर्ण राजा रादौर ने मां भगवती की सुदंर भेंटे प्रस्तुत की और माहौल को भक्तिमय कर दिया। हरियाणवी कलाकार सुरेश नैनी ने भी अपनी कला का अद्भूत परिचय दिया। जगराते में पंकज सूफी दिल्ली ने सुदंर झांकिया प्रस्तुत की। इस दौरान भगवान शिव की मनोहर झांकी प्रस्तुत की गई जिसमें कलाकारो ने भगवान शिव के तांडव को प्रस्तुत कर सभी को आकर्षित किया। इससे पूर्व बाबा सीताराम की अध्यक्षता में पूर्ण विधि विधान से जगराते का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में रादौर विधायक श्यामसिंह राणा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। कार्यक्रम की अध्यक्षता गुलशन सैनी ने की। समिति सदस्यो गुलशन सैनी, डॉ. बलदेव सैनी, संजीव सैनी घेसपुरिया, चिराग, संजू सैनी, विकास गुर्जर, गगन शर्मा, राजेश सैनी, प्रवीन, कमल राणा, साहिल, विरेन्द्र सैनी, प्रवीन सैनी, शेखर राणा, गुलशन इत्यादि ने अपनी सेवाएं दी और व्यवस्था बनाए रखी।

Have something to say? Post your comment

More in Entertainment

अशोक मैमोरियल पब्लिक स्कूल फरीदाबाद के विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया

संभोग के संबंध में सोचता रहता है, बड़ा सुख मन में पाता है।

लड़की का कितने लोगों से प्रेम-संबंध रहा

शहीद भगत सिंह प्रतिमा पर माल्यार्पण करके मनाया वैलेंटाइन डे

पेड चैलन बंद होने पर आपरेटर्स और उपभोक्ताओं में भारी रोष

किसी से प्रेम करते हैं तो "जताइए" और वैलेंटाइन डे इसके लिए सबसे अच्छा दिन है।

आदमी की कामवासना, लगती है, पशुओं से भी नीचे गिर जाती है। क्या कारण होगा?"

संभार्य थियेटर फेस्टिवल - दूसरे दिन नाटक काला ताजमहल का हुआ मंचन

संभार्य थियेटर फेस्टिवल - पहले दिन नाटक विद्रोही का हुआ मंचन

अमेरिका में फिल्म-टेलीविजन हैं, तब तक कोई पुरुष किसी स्त्री से तृप्त नहीं होगा