Wednesday, January 16, 2019
Follow us on
Political

कंडेला के ऐतिहासिक चबूतरे तक सत्ता लाएंगे,सत्ता परिवर्तन ही नहीं व्यवस्था बदलाव को भरें हुंकार-रणदीप

नरेन्द्र जेठी | May 21, 2018 03:42 PM
नरेन्द्र जेठी

सत्ता परिवर्तन ही नहीं व्यवस्था बदलाव को भरें हुंकार-रणदीप
चौटाला पर बोले प्रत्यक्ष हमले, भाजपा नेताओं की कारगुजारी को लेकर चेताया
नरवाना 21 मई(नरेन्द्र जेठी): कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी एवं कैथल से विधायक रणदीप सुरजेवाला ऐलान किया कि प्रदेश में यदि कांग्रेस की सरकार बनी तो कंडेला के ऐतिहासिक चबूतरे तक सत्ता लाएंगे। उन्होंने कंडेला वासियों से फिर वहीं हुंकार भरने का आह्वान किया, जिसने अटल बिहारी वाजपेयी और ओमप्रकाश चौटाला को गद्दी छोडऩे पर मजबूर कर दिया था। रविवार देर रात वे कंडेला खाप के संयोजन में आयोजित सभा को संबोधित कर रहे धे। अध्यक्षता कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुधीर गौत्त्म ने की।
सभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरजेवाला ने कंडेला को संघर्ष और बलिदान की धरती बताया। उन्होंने चौटाला शासन की याद दिलाते हुए कहा कि किस तरह से निहत्थे ग्रामीणों पर गोलियों बरसाकर यहां की जमीन को लाल कर दिया गया था। कहा कि जिस भी शासक ने जनता विशेषकर किसान से ज्यादती की उसे राजनीतिक खामियाजा भुगतना पड़ा है। पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला इसका उदाहरण है और कंडेला की पावन धरती इस बात का गवाह। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम मनोहर लाल खट्टर उसी राह चल पड़े हैं। इनका भारतीय लोकतंत्र और संविधान में विश्वास नहीं है। भाजपाई सरकारों की उल्टी गिणती शुरू हो चुक। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार हर वर्ग का समर्थन और विश्वास खो चुकी है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को उन्होंने भ्रष्टाचार का अड्डा बताया। वशेषकर युवाओं के हितों से खिलवाड़ किया जा रहा है।
सभा में केंद्र व हरियाणा की भाजपाई सरकारों पर उन्होंने जमकर राजनीतिक हमले बोले। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं ने पहले झूठ बोलकर सत्ता हासिल की और इस बार वे जनता के बीच फूट डलवाकर सत्ता हासिल करना चाहते हैं। इससे उन्होंने सचेत रहने का आह्वान कियाबढ़ी हुई पेट्रो पदार्थों की कीमतों, जीएसटी और जनमत व संविधान के खिलाफ केंद्र की कारगुजारियों को लेकर उन्होंने आलोचना की। कर्नाटक चुनाव के ठीक अगले दिन पेट्रो पदार्थों की कीमतों में बढ़ौतरी को उन्होंने देश की जनता के साथ धोखा करार दिया। लगातार बढ़ी कीमतों से हर वर्ग विशेषकर किसान की कमर टूट गई है। पिछले चार सालों में बढ़ौतरी का उन्होंने तुलनात्मक विश£ेषण भी किया। उन्होंने कहा कि कृषि यंत्रों, खाद-बीज व कीटनाशकों पर जीएसटी लगाकर खेती और किसान को तबाह करने का काम किया गया है। उन्होंने भाजपाई सरकारों को किसान विरोधी करार दिया। उन्होंने कहा कि रोजाना 47 किसान आत्महत्या कर रहे हैं। वर्ष 2015 में सरकार की गलत नीतियों के चलते आर्थिक मंदी में 12062 किसानों ने आत्म हत्या की, जबकि 2016 में 17 हजार ने आत्म हत्या की। किसान जब अपना हक मांगता है तो उस पर पुलिस की लाठियां भांजी जाती हैं। हरियाणा के किसानों को जब आलू, पापुलर और सफेदे की फसल का दाम नहीं मिला तो उन्होंने हक मांगने के लिए दिल्ली कूच किया। इस पर बेरहम खट्टर सरकार ने 41 ट्रैक्टर जब्त कर इतने ही किसानों पर धारा 307 के मुकदमे बनाकर जेलों में बंद कर दिया। उन्होंने फसल भाव को लेकर कांग्रेस के शासन और वर्तमान सरकार की तुलना की। कहा कि कांग्रेस शासन में फसलों के किसान को वाजिब दाम दिए जाते थे। आज जब भी मंडी में कोई फसल आने का समय होता है तो केंद्र की मोदी सरकार उसी फसल का विदेशों से निर्यात खोल देती है, ताकि किसान की फसल औने-पौने दामें में बिके। इस जरिए यह सरकार शरमाएदारों को किसान को लूटने और धन कमाने का मौका देती है। उन्होंने बिजली सप्लाई के संंबंध में सरकार के उस नए फरमान को लेकर आलोचना भी कि जिसमें कहा गया है कि पांच घंटे मुश्किल से बिजली दी जाएगी। फसल बीमा योजना को लेकर उन्होंने सरकार को घेरा और कहा कि इसके माध्यम से 20 हजार करोड़ रुपए एकत्रित किया गया, जबकि किसान को 6000 करोड़ रुपए ही मिले।14 हजार करोड़ रुपए सरकार के कर्ताधर्ताओं ने अपनी चहेती बीमा कंपनियों को कमवा दिया।
प्रदेश सरकार पर हमले बोलते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरजेवाला ने कहा कि सीएम मनोहरलाल अब तक के सबसे कमजोर सीएम साबित हुए हैं। व्यापारी और उद्योगपति आज हताश है। छोटे दुकानदार-मजदूर की हालत आज पतली है। कर्मचारी वर्ग अपने हकों के लिए आज सड़कों पर है। युवाओं के लिए एक उम्मीद की किरण समझी जाने वाले संस्था हरियाणा कर्मचारी आयोग भ्रष्टाचार का अड्डा बन गई है। इस संस्था के माध्यम से नौकरियां बेचने का कार्य किया जा रहा है।
सभा को पूर्व मंत्री बचन सिंह आर्य, महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सुमित्रा चौहान, किसान खेत मजदूर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह फोगाट, हरियाणा कृ षक समाज के प्रदेशाध्यक्ष ईश्वर नैन दनौदा, पूर्व विधायक फूलसिंह खेड़ी, सुधीर गौत्तम, टेकराम कंडेला, प्रदेश प्रवक्ता भूपेंद्र सिंह बूरा, संजीव भारद्वाज, सुधा भारद्वाज, संदीप सांगवान, प्रो. महेंद्र नैन, विरेंद्र जागलान, शालू गर्ग, वजीर ढांडा, दिनेश मिन्नी, मुकेश चहल, रणदीप सहारण, वजीर ढांडा, युवक कांग्रेस के जिला प्रधान सुमेर पहलवान, नरेश भनवाला, प्रवीण ढिल्लो, प्रकाश रेढू, पंडित सूरजभान, राजसिंह रेढू, सतीश रेढू, पंडित गोपी राम शर्मा, आजाद रेढू, रमेश वाल्मीकि, सुनहरा धीमान, दिनेश आदि ने भी संबोधित किया।
कांग्रेस के सत्ता में आने पर करेंगे कर्जे माफ
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने ग्रामीणों की नब्ज पर हाथ रखते हुए ठेठ बांगरू अंदाज में कांग्रेस के लिए समर्थन मांगा। उन्होंने कहा कि बांगर का ये इलाका कैथल, जींद, बरवाला, पानीपत, करनाल, अंबाला, असंध आगामी चुनाव में कांग्रेस की झोली भर दे तो वे क्षेत्र के लोगों का सत्ता में भागीदारी कराएंगे। विकास के द्वार खोलेंगे और युवाओं के लिए रोजगार की व्यवस्था की जाएगी। प्रदेश के किसी इलाके के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा। दो से अढ़ाई एकड़ तक के किसानों के 50 हजार से एक लाख रुपए तक के कर्ज को वे माफ कराएंगे। प्रत्येक हरिजन परिवार को हर महीने 25 किलो राशन देने की व्यवस्था की जाएगी।
पगड़ी पहना किया स्वागत
सभा से पूर्व कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला का कंडेला वासियों ने उत्साहपूर्वक स्वागत किया। गांव के बस अड्डे से उन्होंने फूलों की माला से सजे ट्रैक्टर पर नारेबाजी के बीच सभा स्थल तक लाया गया। यहां गांव की ओर से पूर्व सरपंच टेकराम कंडेला एवं आयोजक समिति के सदस्यों ने पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। सुरजेवाला ने ग्रामीणों को पगड़ी लाज रखने का वचन दिया।

Have something to say? Post your comment
More Political News
जींद में कांग्रेस ने मारी बाजी, अंशुल सिंगला का नामांकन वापस
जेजीपी सरकार दिल्ली-चंडीगढ़ से नहीं, जींद से चला करेगी-दिग्विजय चौटाला
राहुल गांधी प्रदेश संगठन में करेंगे बड़ा बदलाव जीन्द उपचुनाव के बाद: कुलदीप बिश्नोई
जींद व कैथल की जनता जानना चाहती है, रणदीप सुरजेवाला अगला चुनाव जींद से लड़ेंगे या कैथल से- दिग्विजय चौटाला
जींद उप चुनाव : सभी राजनैतिक दल जातिय आधार पर सैमीकरण बनाने में लगे
मै तो परसो चला जाऊंगा जेल, आप ही संभालना--अजय चौटाला
जींद चुनाव के बाद भाजपा की उल्टी गिनती शुरू:किरण
जींद से बड़ी खबर सांसद सैनी ने अंशुल सिंगला से की मुलाकात
जींद उपचुनाव अपडेट --किन किन पार्टियों में होगी कांटे की टक्कर
जींद उपचुनाव: बीजेपी की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, सुरेंद्र बरवाला हुए नाराज़ टिकट ना मिलने से