Sunday, February 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
संगठन सर्वोपरी होता है और इससे बडी ताकत नहीं-डा. श्रीकांतएक्शन मूढ में कांग्रेस,नए प्रभारी लोकसभा के उम्मीदवारों की सूचि तैयार करनें में जूटे,पार्टी पदाधिकारियों से ले रहे है प्रदेश अध्यक्ष की रायडॉक्टरों का एनपीए 20 प्रतिशत बढ़ामेले के अंतिम दिन रही भारी भीड़, रामकुमार के बैगपाईपर की धुन पर युवाओं की खूब मस्ती।रा.व.मा. विद्यालय बुडीन की दो छात्राओं का NMMS में हुआ चयनएग्री समिट-2019:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 किसानों को 1 लाख रुपए राशि के साथ दिया कृषि रत्न पुरस्कारराज्य सरकार पर्यटन को बढावा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है-राम बिलास शर्मारातभर अंधेरे में डूबा रहता है सतनाली का मुख्य बाजार, स्ट्रीट लाइटें खराब होने से कस्बे की गलियां व मुख्य चौक रहते है अंधकारमय
 
 
National

अमेठी में जब मॉ अपने बच्चे को नहीं लगवा रही थी टीका, तो उसके घर पहुॅच गये ऑफिसर

सुरजीत यादव | May 23, 2018 04:32 PM
सुरजीत यादव

स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी के समझाने के बाद दस माह के बच्चे को लगा टीका
अमेठी- उत्तर प्रदेश अमेठी जनपद में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बाज़ार शुकुल के अंतर्गत एक मॉ अपने बच्चे को टीका नहीं लगवा रही थी तो उसके घर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का अमला पहुॅच गया और ये सरकारी अमला तभी वापस आया जब उसे अपने कर्तव्य का निर्वहन पूर्ण किया ।
क्या है मामला
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बाजार शुकुल अर्न्तगत उपकेन्द्र दारा नगर, देवी तिवारी का पुरवा के मनोज पासी द्वारा अपने 10 माह के बच्चें अनुराग को टीका लगाने से लगातार प्रतिरोध किया जाता रहा है। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को हमेशा बैरंग वापस कर दिया जाता रहा है। आज भी वी.एच.एन.डी. सत्र संचालन पर आशा नीरज श्रीवास्तव द्वारा बच्चे को बुलाने हेतु मनोज के घर गयी परन्तु आने से आज भी इंकार कर दिया गया। जिसके बाद ए.एन.एम. सुषमा चौहान द्वारा स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अनुज कुमार को सूचित किया गया। जिस पर स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी तुरन्त मामले को संज्ञान में लेते हुये लेते हुए मय टीम के पूरे देवी तिवारी गॉव में पहुँच कर, मनोज पासी को समझाने का प्रयास किया गया और टीका से होने वाले लाभ भी बताया गया । लेकिन मनोज कुमार पासी अपने 10 माह के बच्चे को टीका लगवाने के लिए तैयार नहीं हुआ। जबकि उसकी पत्नी संजू काफी जागरूक महिला थी वह टीका के लाभ समझने के बाद अपने बच्चे को टीका लगवाले के लिए तैयार हुयी परन्तु पति के ख़ौफ़ से वह आधे रास्ते से वापस हो गई।


कब लगवाया टीका
स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अनुज कुमार, हेल्थ सुपरवाइजर बी.डी.यादव, ए.एन.एम. आशा, ऑगनवाडी के सम्मिलित प्रयास एवं काफी समझाने एवं टीका का सफल लाभ बताने के बाद अंततः टीम को सफलता मिली और बच्चे को बी.सी.जी.,आई.पी.वी., पेंटा, मिजिल्स का टीका बच्चे को लगाकर प्रतिरक्षित किया गया।

 
Have something to say? Post your comment
 
More National News
डॉक्टरों का एनपीए 20 प्रतिशत बढ़ा
रा.व.मा. विद्यालय बुडीन की दो छात्राओं का NMMS में हुआ चयन
एग्री समिट-2019:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 किसानों को 1 लाख रुपए राशि के साथ दिया कृषि रत्न पुरस्कार
देश को कृषि नेतृत्व प्रदान कर सकता है हरियाणा : राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द
पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे सरकार:केजरीवाल
राजकीय स्कूल में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन
जजपा कार्यकर्ताओं ने लगाए पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे
मजदूरों का पंजीकरण रद्द करने के खिलाफ प्रदर्शन 20 को
शहीदों को समर्पित किया संकल्प दिवस
एनएचएम कर्मचारियों ने धरना स्थल पर हवन यज्ञ कर दी शहीदों को श्रद्धांजलि