Saturday, October 20, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
ब्रेकिंग-पंजाब के अमृतसर से दशहरे के दिन बड़े हादसे की ख़बर ,शोक में बदलीं विजयदशमी की खुशियाँअहीर रेजिमेंट यादव समाज का स्वाभिमान व अधिकार, केंद्र सरकार जल्द से जल्द करे इसका गठन: कुलदीप यादवरोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शनखालड़ा फेन जनसेवा ग्रुप द्वारा सम्मान समारोह में उत्कृष्ट खिलाडिय़ों को किया सम्मानितदुर्गा अष्टमी पर कन्या पूजा व भोजन ग्रहण करने के लिए श्रद्धालु ढूंढ़ते रहे कन्याएं!जयकरण शास्त्री नांगलमाला को मिलेगा बुलंद आवाज अवार्ड, 2018पहाड़ी माता का विशाल जागरण आजसमाजसेवी ओमशिव कौशिक को पितृशोक
Haryana

छात्रों की पहली पसंद बनी मुरथल यूनिवर्सिटी

रणबीर रोहिल्ला | June 11, 2018 07:43 PM
रणबीर रोहिल्ला

दूसरे राज्यों के छात्रों की पहली पसंद बनी मुरथल यूनिवर्सिटी
इस बार हरियाणा समेत 13 राज्यों के छात्रों ने किया आवेदन
विश्वविद्यालय में लडक़ों की अपेक्षा ज्यादा लड़कियों ने किया आवेदन
कुलपति प्रो. अनायत बोले यह अच्छे नतीजों और सुविधाओं का परिणाम

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत।

नैक से ए ग्रेड प्राप्त मुरथल स्थित दीनबंधु छोटूराम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के प्रति छात्रों का नजरिया अब बदल रहा है। अब तक हरियाणा समेत 13 राज्यों के छात्रों ने आवेदन किए हैं। इनमें भी छात्राओं की संख्या अधिक है। इसका एक मूल कारण यह है कि यह विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में रोजाना नये प्रयोग कर रही है। विश्वविद्यालय में लडक़ों की अपेक्षा ज्यादा लड़कियों ने आवेदन किया है।
हालांकि अब तक हाल यह रहा है कि दिल्ली, यूपी, पंजाब व हिमाचल के अलावा यहां किसी राज्य से बच्चे अधिक रूचि दाखिले में नहीं लेते थे। गौरतलब है कि विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। ऑनलाइन आवेदन किए जा रहे हैं। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जून है। इसमें सामने आया है कि इस बार यूनिवर्सिटी में हरियाणा समेत 13 राज्यों से छात्रों ने दाखिले में रूचि दिखाई है। इनकी संख्या भी काफी अधिक है। इससे विश्वविद्यालय प्रशासन गदगद है, तो तेजी से विश्वविद्यालय की साख भी बढ़ रही है।
इन राज्यों के छात्रों ने दिखाई रूचि
जिन राज्यों के छात्रों ने यहां दाखिले के लिए रूचि ली है। इनमें केरल, पश्चिमी बंगाल, असम, मध्यप्रदेश, तमिलनाडू, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, बिहार, उत्तर प्रदेश, दिल्ली व हरियाणा शामिल है। इन राज्यों से दाखिले के लिए आवेदन करने वालों में लड़कियों की संख्या काफी अधिक है। इससे साफ है कि यूनिवर्सिटी के प्रति अन्य राज्यों के छात्रों का नजरिया बदल रहा है।
लडक़ों की अपेक्षा लड़कियों ने किए ज्यादा आवेदन
विश्वविद्यालय में स्नातक व स्नातकोत्तर स्तर के विभिन्न पाठ्यक्रमों में आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 जून है। अब तक विश्वविद्यालय में प्राप्त आवेदनों में देखने को मिला है कि लडक़ों की अपेक्षा लड़कियों ने ज्यादा आवेदन किए हैं। विश्वविद्यालय में विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए अब तक 1201 लड़कियों ने आवेदन किए हैं, वहीं लडक़ों की आवेदन करने की संख्या 813 है। गत वर्ष विश्वविद्यालय ने बेटी बचाओं, बेटी पढाओं के प्रदेश सरकार के नारे को अमली जामा पहनाते हुए यूजीसी प्रोग्राम में सिंग्ल चाइल्ड गलर्स के लिए सीट आरक्षित की गई थी। इसमें भी अच्छा रिसपांस देखने को मिल रहा है। अब तक सिंग्ल चाइल्ड गलर्स के लिए 116 आवेदन प्राप्त हो चुके हैं।
यह कहना है कुलपति का
इस बारे में कुलपति प्रो. राजेंद्र कुमार अनायत का कहना है कि यह अच्छे संकते हैं कि अपने राज्य के अलावा पास-पड़ोस के साथ-साथ दूर-दराज के राज्यों से छात्र दाखिले के लिए आवेदन कर रहे हैं। इसका सीधा अर्थ यह है कि विश्वविद्यालय की शैक्षणिक व अन्य गतिविधियों के प्रति छात्रों का दृष्टिकोण बदल रहा है। उन्होंने कहा कि उनका लगातार प्रयास रहेगा कि वे छात्रों के लिए बेहतर माहौल दें और शिक्षण पद्धति भी आधुनिक हो

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
अहीर रेजिमेंट यादव समाज का स्वाभिमान व अधिकार, केंद्र सरकार जल्द से जल्द करे इसका गठन: कुलदीप यादव
रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शन
खालड़ा फेन जनसेवा ग्रुप द्वारा सम्मान समारोह में उत्कृष्ट खिलाडिय़ों को किया सम्मानित
दुर्गा अष्टमी पर कन्या पूजा व भोजन ग्रहण करने के लिए श्रद्धालु ढूंढ़ते रहे कन्याएं!
जयकरण शास्त्री नांगलमाला को मिलेगा बुलंद आवाज अवार्ड, 2018
पहाड़ी माता का विशाल जागरण आज
समाजसेवी ओमशिव कौशिक को पितृशोक
क्षेत्र के गांव ढाणा में ग्रामीणों द्वारा चलाया गया सफाई अभियान
भगवान रामचंद्र की तरह प्रत्येक युवा को रहना चाहिए सत्य व नेकी के पथ पर अडिग: कुलदीप यादव
उद्योगपति बोले :- जागरूक होकर हमें भी बनना होगा बेटी बचाओ मुहिम का हिस्सा