Saturday, December 15, 2018
Follow us on
National

चर्म रोग दूर करता है इस कुएं का पानी

सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट | June 13, 2018 08:28 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

चर्म रोग दूर करता है इस कुएं का पानी
अरावली पर्वत श्रृंखला की पहाडिय़ों से घिरे इस क्षेत्र में प्रकृति द्वारा दिए गए हैं अनेकों चमत्कार
सतनाली मंडी। शूरवीरों और मेहनतकश लोगों की धरती दक्षिण हरियाणा के महेंद्रगढ़-भिवानी-दादरी क्षेत्र में प्रकृति द्वारा प्रदत्त उपहारों की कोई कमी नहीं है। अरावली पर्वत श्रृंखला की पहाडिय़ों से घिरे इस क्षेत्र में प्रकृति द्वारा कई चमत्कार लोगों को दिए हुए हैं। ऐसा ही एक चमत्कार है प्रहलाद पुत्र श्योकरण के खेत में बने कुएं का पानी।

क्षेत्र के साथ लगते दादरी जिले के गांव उण-कादमा सडक़ मार्ग पर पहाडिय़ों के समीप स्थित इस कुएं से निकलने वाले उबलते पानी से चर्मरोग ठीक होते हैं। लगभग 60 वर्ष पूर्व बने इस कुएं से निकलने वाला पानी उबले पानी की तरह गर्म है। अगर सिंचाई करते समय कहीं पाईप खुला रह जाता है तो उस जगह की फसल खराब हो जाती है। इस पानी का ठंडा कर या फव्वारों के माध्यम से फसल की सिंचाई के काम लिया जाता है।

कुएं के मालिक सत्यवीर पुत्र प्रहलाद ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस कुएं का तापमान इतना अत्यधिक है कि इसको बनाते समय कुआं खोदने वाले मजदूरों को हर 10-15 मिनट में बाहर आना पड़ता था तथा इस कुएं का बनाने में लगभग 8 महीने का समय लगा था। उन्होंने बताया कि इस कुएं की खुदाई कर रहे मजदूर सुदन हरिजन के बहुत पुराना दाद था, कुएं की खुदाई के समय जब वहां का पानी उसपर लगा तो वह दाद ठीक हो गया।

सत्यवीर ने बताया कि लगभग 60 वर्ष पहले बनवाए गए इस कुएं से निकलने वाले पानी का तापमान 58 डिग्री सेल्सियस है जोकि अन्य कुओं से निकलने वाले पानी के तापमान से बहुत ज्यादा है। इससे आप सोच ही सकते हैं कि इतने उबलते पानी में हाथ देना भी कितना मुश्किल है? उन्होंने बताया कि इस पानी से कुएं की खुदाई कर रहे मजदूर सुदन हरिजन के दाद के ठीक होने के उपरांत आसपास के क्षेत्र में पता चला तो यहां कुएं के पानी से नहाने वालों का तांता लग गया तथा लोगों के चर्म रोग ठीक होते गए। इसके बाद धीरे-धीरे कुएं के बारे में लोगों पता लगता गया और नहाने वालों की भीड़ बढ़ती गई।

कुएं के मालिक सत्यवीर ने बताया कि फिलहाल सिर्फ हरियाणा प्रदेश ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों से भी हर रोज सैकड़ों की संख्या में गंभीर चर्म रोगी इस कुएं के पानी से नहाकर अपने चर्म रोग दूर करने आते हैं तथा यहां पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का चर्म रोग ठीक हुआ है। तो वहीं इस कुएं के पानी को चैक करने के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर से कई बार डॉक्टर्स की टीमें भी आ चुकी हैं। इस बारे में कुएं पर नहाने वाले कुछ लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि डॉक्टरों द्वारा उपचार कराए जाने के बाद भी चर्म रोग ठीक नहीं हो रहे थे परंतु इस कुएं के पानी से 3-4 बार नहाने से ही चर्म रोग ठीक हो गए तथा यहां प्रतिदिन नहाने आने वाले लोगों की सुविधा के लिए बाथरूम निर्माण के साथ-साथ बाल्टियां भी उपलब्ध करवा रखी है।

कुएं पर नहाने आने वाले लोगों के कारण होने वाली दिक्कतों के बारे में पूछने पर सत्यवीर पुत्र प्रहलाद ने बताया कि हमें यहां पर आने वाले लोगों से किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है बल्कि हमारे कुएं के पानी से नहाकर किसी का चर्म रोग दूर हो भला होता है उसे देखकर हमें बहुत खुशी होती है। इस मौके पर उन्होंने सरकार से मांग की है यह कुआं मुख्य सडक़ मार्ग से लगभग 2 किमी. दूर स्थित है तथा यहां पर आने वाले लोगों को खेतों के कच्चे रस्ते से आना पड़ता है जिससे उनके साथ कई भी हादसे भी हो चुके हैं। इसलिए इस 2 किमी. लंबे कच्चे रास्ते को पक्का करवाया जाए।

Have something to say? Post your comment
More National News
भारत में हैं सर्वाधिक रक्त कैंसर रोगी, अमेरिका व चीन के बाद
मामूली सी कहा सुनी पर रेहड़ी वाले ने युवक को चाकू मारा।
केजरीवाल की कैथल रैली से पहले कई भाजपा नेताओं ने पहनी 'आप' की टोपी
पलवल के दबंग इंस्पेक्टर विश्वगौरव को पुलिस कमिश्नर संजय कुमार और फरीदाबाद इंडस्ट्री एसोसियन ने किया सम्मानित।
कार्यकर्ताओं ने पांच राज्यों मे आए विधानसभा चुनावों के नतीजों पर मनाया जश्न
कांग्रेस की सरकार आने पर नही रहेगी हल्के मे कोई भी समस्या बाकी : संदीप गर्ग
पृथला से जननायक जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द भरद्वाज सेकड़ो गाडी और बसों को लेकर जींद रैली में पहुँचे।
भूपेश रावत (पूर्व युवा महासचिव कांग्रेस) ने सुरेन्द्र तेवतिया की अगुवाई में सीएम खट्टर को गुलदस्ता देकर बीजेपी का दामन थामा।
आतंकवाद पर अंकुश लगाने में विफल रही भाजपा : शिल्पी गर्ग
सुरेन्द्र तेवतिया (चैयरमैन हरियाणा सरकार) 23 दिसम्बर को होने वाली मोहना रैली का गाँव गाँव जाकर निमंत्रण देते हुए।