Thursday, January 24, 2019
Follow us on
Haryana

गांव उंटसाल के सरपंच व एबीपीओ को दिए कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश

राकेश शर्मा | June 14, 2018 06:54 PM
राकेश शर्मा

उपायुक्त ने गांव उंटसाल के सरपंच व एबीपीओ को दिए कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश
कुरुक्षेत्र 14 जून राकेश शर्मा
उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने गांव उंटसाल में मनरेगा के तहत तलाब खुदाई के कार्य मे मस्ट्रोल रजिस्टर के अनुसार साईट पर कम मजदूर पाए जाने पर गांव के सरपंच व एबीपीओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश दिए है। इतना ही नहीं उपायुक्त ने गांव अढोन में 3 पोंड सिस्टम के निर्माण कार्य में ईंटों की गुणवत्ता को चैक करने के लिए मौके से स्वयं सैम्पल चैक किया और इस सैम्पल को जांच के लिए एनआईटी में भेजने के आदेश दिए। अहम पहलू यह है कि उपायुक्त ने सैम्पल की रिपोर्ट आने तक निर्माण कार्य में सम्बन्धित मार्का की ईंटों का प्रयोग करने पर रोक लगाने के भी आदेश दिए है।
उपायुक्त डा. एसएस फुलिया व अतिरिक्त उपायुक्त अनीस यादव ने वीरवार को देर सायं मनरेगा के तहत किए जा रहे कार्यो और गांव में चल रहे विकास कार्यो का जायजा लेने के लिए गांव अढोन, उंटसाल और सुनहेडी खालसा का औचक निरीक्षण किया। उपायुक्त ने सबसे पहले गांव अढोन में मनरेगा के तहत तालाब की खुदाई कर रहे मजदूरों की हाजरी को चैक किया और अधिकतर मजदूरों से मनरेगा के तहत दी जा रही मजदूरी व तमाम पहलुओं के बारे में पूछताछ भी की। उपायुक्त ने बताया कि गांव अढोन के तालाब की खुदाई के कार्य पर मनरेगा के तहत 9 लाख 80 हजार रुपए की राशि का भुगतान मजदूरी के रूप में किया जाएगा, प्रत्येक मजदूर को नियमानुसार 281 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान किया जा रहा है और इस तालाब की खुदाई का कार्य जनवरी 2018 से शुरू किया गया था। इस साईट पर काम कर रहे 81 मजदूरों को नियमानुसार तमाम सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जा रही है।
उपायुक्त ने गांव अढोन में ही 3 पौंड सिस्टम के निर्माण कार्यो का भी औचक निरीक्षण किया। यहां पर उपायुक्त ने निर्माण कार्यो में उपयोग की जा रही ईंटों की गुणवत्ता पर कमी पाई जाने की संभावना व्यक्त की। इसलिए इन ईंटों के सैम्पल को एनआईटी की लैब में चैक करवाने के आदेश दिए और यह भी कहा कि जबतक रिपोर्ट नहीं आती तब तक निर्माण कार्यो में ईंटों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। इस गांव के सरपंच रमेश ने उपायुक्त के समक्ष रिपोर्ट प्रस्तुत की थी कि गांव में कई एकड़ जमीन से अवैध कब्जों को छुडवाकर तालाब, पार्क व हर्बल गार्डन बनाने का काम किया जा रहा है। इससे गा्रमीणों को सुविधाएं मिलेंगी।
उपायुक्त ने गांव उंटसाल में मनरेगा के तहत चल रही तालाब की खुदाई के कार्य का औचक निरीक्षण किया और यहां पर मस्ट्रोल रजिस्टर के अनुसार 81 में से 62 मजदूर ही मौके पर पाए गए। इस दौरान उपायुक्त ने एक-एक मजदूर को नाम से बुलाकार रिकार्ड को चैक किया और मौके पर जगह की पमाईश भी करवाई। उपायुक्त ने हाजरी रजिस्टर के अनुसार मजदूरों की संख्या कम पाए जाने पर गांव के सरपंच सुखविन्द्र वालिया, एबीपीओ देवेन्द्र सहित अन्य अधिकारियों को फटकार लगाते हुए आदेश दिए कि गांव के सरपंच और एबीपीओ को हाजरी रजिस्टर के अनुसार मजदूरों की संख्या कम पाए जाने पर कारण बताओं नोटिस जारी किया जाए। उन्होंने बताया कि इस साईट पर 5 लाख 76 हजार रुपए का खर्च आएगा और 2 जून 2018 से अबतक 905 मैनडेज का कार्य किया जा चुका है। हालंाकि गांव के सरपंच सुखविन्द्र वालिया ने उपायुक्त के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि गर्मी के वजह से मजदूर सुबह-सुबह ही अपना कार्य पूरा कर लेते है। इन तमाम पहलुओं को देखते हुए उपायुक्त ने एडीसी अनीस यादव को गांव उंटसाल में मनरेगा के तहत चल रहे कार्य के पुराने मस्ट्रोल रजिस्टर को भी चैक करने के आदेश दिए है। उन्होंंने कहा कि मनरेगा के तहत चल रहे कार्यो में जरा सी भी लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। सभी अधिकारियों को नियमानुसार काम करना होगा। इस मौके पर पंचायती राज के एसडीओ सतपाल, मनोज कुमार सहित गांव के सरपंच, अधिकारीगण मौजूद थे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
फतेहपुर बिल्लोच एम्स की शाखा को इंतज़ार अगली सरकार का???
लड़कियां किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं प्रदीप दहिया।
मांगे राम गुप्ता से समर्थन की अभी भी उम्मीद राजनीतिक दलों को
सीएम के गोद लिए गांव की तस्वीर देखकर आप रह जाएंगे हैरान !
मुख्यमंत्री ने गुरुग्राम में अचानक किया विकास कार्यों का निरीक्षण - अचानक पहुंचे द्वारका एक्सप्रैस-वे के निर्माण की प्रगति को देखने,
जनस्वास्थय विभाग मौन, समस्या सुलझाए कौन
प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर किए जाऐगें किसानों के कर्ज माफ : चीमा
विकास के पक्षधर लेकिन पहले हो दुकानदारों की व्यवस्था : संदीप
शीशे गलती से टूटते हैं और रिश्ते गलतफहमियों से-दुष्यंत
इलाके के तस्वीर व तकदीर बदलने का चुनाव है - सुरजेवाला