Wednesday, September 19, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
त्रिवेणी लगाकर व पौधारोपण करके मनाया बेटे का जन्मदिनताऊ देवीलाल के 105वें जन्मदिवस को लेकर इनेलो-बसपा कार्यकर्ताओं ने किया बैठक का आयोजनसरस्वती शिक्षा समिति सतनाली द्वारा शिक्षा मंत्री की माता के निधन पर किया शोक सभा का आयोजनहरियाणा में सता का फाईनल बेशक दूर लेकिन सेमीफाईनल करीब,निगाहें अरविन्द केजरीवाल के इस दौरे पर टिकीगैंगरेप की घटना को लेकर इनसो के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने किया विरोध-प्रदर्शन, जताया रोषPartapgarh- खुुुलेे में शौच मुक्ति दिवस के रुप में मनाया गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिनश्यामपुरा में दो दिवसीय खंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता संपन्नसब जूनियर नेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में सतनाली के खिलाडिय़ों ने जीते 2 सिल्वर, 1 ब्रॉन्ज
Uttar Pradesh

डॉन को सता रहा है एनकाउंटर डर, सुल्तानपुर में मीडिया से हुआ मुखातिब,

अटल हिन्द ब्यूरो | June 22, 2018 07:40 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

डॉन को सता रहा है एनकाउंटर डर, सुल्तानपुर में मीडिया से हुआ मुखातिब, बुलेट प्रूफ जैकेट का कर रहा मांग 

डॉन छोटा राजन के बेहद करीबी शूटर खान मुबारक को आज सुल्तानपुर कोर्ट में पेशी पर गया जहॉ वकीलों साथ मीडिया से मुखातिब हुआ। डॉन मुबारक खॉन ने बताया की नेता विधायक पुलिस से मिल कर उसकी हत्या करवा सकते हैं जिसके लिए उसने प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है । उसने बताया की मेरी सुरक्षा में पुलिस के जवान तैनात है। और अपनी सुरक्षा के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट की भी मांग किया है। मुझे डर सता रहा है कि कहीं पुलिस नेताओं के मिलीभगत से मेरा एनकाउंटर न कर दें इसके लिए मैं हाईकोर्ट भी जाऊंगा। पिछअजे कुछ दिन पहले एसटीएफ ने उसे पीजीआई थाना क्षेत्र में सुलतानपुर रोड के पास से पकड़ा है। वह लखनऊ में कोई बड़ी वारदात करने के इरादे से आया हुआ था। उसके पास से 15 आधुनिक हथियार और 56 कारतूस बरामद हुये थें। खान मुबारक के खिलाफ इलाहाबाद और अम्बेडकर नगर में दो दर्जन मुकदमे हत्या, लूट व अपहरण के दर्ज हैं। बरामद असलहों में 7.62 बोर, नाइन एमएम और 0.32 बोर की पिस्टल थें।

कौन हैं डॉन खॉन मुबारक
डॉन खान मुबारक मुम्बई में एक फिल्म डायरेक्टर की हत्या में जेल में बंद जफर खान उर्फ जफर सुपारी का भाई है। जफर ने ही उसे छोटा राजन के गिरोह में जोड़ा था। खान मुबारक मूल रूप से अम्बेडकरनगर के हसंवर, हरसंभार इलाके का रहने वाला है।

रन आउट देने पर गोली मारी थी
पहला अपराध खान मुबारक ने वर्ष 2006 में किया था। तब क्रिकेट खेलने के दौरान उसे रन आउट दे दिया गया था। इस विवाद में ही उसने एक युवक को गोली मार दी थी, इसके बाद से वह अपराध करता गया।

ये प्रमुख वारदातें
वर्ष 2007 में जेल से छूटने के बाद पोस्टआफिस में लूटपाट की, इसे भी गोली लगी थी पुलिस की।
वर्ष 2012 में छोटा राजन के दूसरे शूटर ओसामा की 50 लाख रुपये की सुपारी लेकर हत्या कर दी। इस अपराध से पहले वह पांच साल जेल में बंद रहा था।
वर्ष 2012 में ही ईंट भट्ठा मालिक अईनुद्दीन की हत्या रंगदारी न देने पर कर दी थी।
वर्ष 2014 में जमीन के विवाद में अम्बेडकर नगर में मोहन यादव को गोली से उड़ा दिया था।
वर्ष 2016 में अपने ही गिरोह के शार्प शूटर शेरू आलम की हत्या कर दी। यह वारदात उसने अपने विरोधी जुगरान को फंसाने के लिए की थी।

फेसबुक प्रोफाइल में खुद को क्राइम ब्रांच का सदस्य बताया
खान मुबारक एक डॉन की तरह अपना वर्चस्व कायम करना चाहता था। यही वजह थी कि वह अपना एक अलग गिरोह भी तैयार कर रहा था। लोगों में खुद को अच्छा व्यक्ति दिखाने के लिये फेसबुक प्रोफाइल पर ‘वर्क्ड एट क्राइम ब्रांच’ लिख रखा था। उसने कई महिला मित्र भी बना रखी थीं।

Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
भारत का चप्पा चप्पा बन्द कर देना लेकिन भारत की संपत्ति को नुकसान मत पहुंचाना,,-कबि अशोक अग्रहरी प्रतापगढ़ी
ब्राह्मण सभा में हुआ एकता का शंखनाद
क्षेत्र के सभी शिक्षण संस्थानों में बनाया गया शिक्षक दिवस
मान्धाता बाजार में धूमधाम से मनाया गया दही हांडी का कार्यक्रम
सामाजिक जागरण से ही समग्र विकास संभव ।।
कप्तान व आईजी के निर्देश पर सीओ रानीगंज ने अपराधों पर नकेल कसने हेतु मान्धाता ब्यपरियो से किया सवांद
मान्धाता-10 दिनों से जल आपूर्ति बाधित होने पर सैकड़ो महिलाओं व पुरुषों ने किया हंगामा जल विभाग के खिलाप ग्रामवासियो में गुस्सा
मान्धाता-अनियंत्रित होकर पलटी ओवरलोड टेम्पो ,कई यात्री हुए घायल
पहले तो लेखपालों की हड़ताल, अब सर्वर की सुस्ती बनी वजीफा के लिए रोड़ा
प्रतापगढ़। डीजीपी ओ पी सिंह के निर्देश पर जिले के सभी कोतवाली में मनाया गया रक्षाबन्धन का त्योहार