Monday, July 16, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
एम.बी.बी.एस. में चयनित विक्रम यादव को सरताज जनसेवा ग्रुप द्वारा किया गया सम्मानितसतनाली के राजकीय महाविद्यालय में किया दो दिवसीय अभिमुख कार्यक्रम का आयोजनडेंगू व मलेरिया को लेकर जागा स्वास्थ्य विभागनांगल सिरोही में आयोजित शिविर में तीसरे दिन लोगों को किया योग के प्रति जागरूकडीएम अमेठी ने जिला कृषि अधिकारी एवं एलडीएम को लगायी फटकार, फसल ऋण मोचन योजना में लापरवाही का मामलाहृदय गति रूकने से मालड़ा सराय के लाडले सैनिक लीलाराम का निधनआपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापनलम्बोरा एकेडमी में पौधारोपण कर बच्चों को किया पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक
Haryana

गंदे पानी की निकासी को लेकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट | June 26, 2018 10:29 PM
सतनाली से प्रिंस लांबा की रिपोर्ट

गंदे पानी की निकासी को लेकर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन
जल्द नहीं हुआ समाधान तो सतनाली-महेंद्रगढ़ मुख्य सडक़ मार्ग अवरूद्ध करने को होना पड़ेगा मजबूर
गली निर्माण के लिए 33 लाख रूपये पंचायत खाते में, अधिकारियों ने उलझाया कागजी फेर में: सरपंच
सतनाली मंडी (प्रिंस लांबा)। कस्बा स्थित दलित बस्ती में फिरनी पक्की करने तथा गंदे पानी की निकासी न होने पर ग्रामीणों में प्रशासन के प्रति भारी रोष व्याप्त है। ग्रामीणों के इस रोष के  चलते मंगलवार को पंचायत विभाग तथा प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया गया तथा जल्द से जल्द फिरनी को पक्का करने की मांग की गई।

दलित बस्ती के प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने बताया कि यह फिरनी का एक हजार फूट लंबा व मुख्य रास्ता है जहां शमशान घाट, अंबेडकर पार्क, राजकीय प्राथमिक विद्यालय, व्यायामशाला आदि स्थित हैं तथा इस मार्ग पर नाला निर्माण व इसे पक्का न किए जाने के कारण यहां बस्ती के घरों का गंदा पानी जमा हो जाता है, जिससे सुबह व्यायाम करने वाले लोगों को ही नहीं बल्कि विद्यालय के बच्चों, पार्क में आने वाले लोगों व राहगीरों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि फिरनी के इस 1000 फूट लंबे रास्ते का निर्माण तथा गंदे पानी की निकासी के लिए नाले का उचित प्रबंध न होने से इस मार्ग पर बदबू का वातावरण बना हुआ है। इससे ग्रामीणों को हमेशा बिमारी फै लने का भय तो बना ही रहता है पर साथ ही आए दिन हादसे भी होते रहते हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि पिछले 10 वर्ष से इस रास्ते व नाले के निर्माण की मांग करते आ रहे हैं लेकिन आज तक इस समस्या का कोई हल नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार के सत्ता में आते ही उनके मन में कुछ आश जगी थी कि इस गंदे पानी की समस्या का अब कोई न कोई समाधान जरूर निकलेगा, परंतु अब लगता है कि सभी सरकारें एक जैसी हैं। नेता सिर्फ वोट लेने आते हैं तथा बाद में इस और पलटकर भी नहीं देखते। ग्रामीणों ने बताया इस समस्या के समाधन के लिए संत्री से मंत्री तक गुहार लगा चुके हैं, लेकिन उनकी इस समस्या का कोई हल नहीं होने से उनमें गहरा रोष है। ग्रामीणों ने प्रशासन से इस समस्या का शीघ्र समाधान करने की मांग की है।


पंचायत के खाते में 33 लाख होने के बाद भी नहीं हो रहा गली निर्माण, अधिकारियों ने उलझाया कागजी फेर में: सरपंच
इस बारे में सतनाली सरंपच पति ढिल्लु शेखावत से बात की तो उन्होंने बताया कि पिछले 2 वर्ष से बली निर्माण के लिए 33 लाख रूपये पंचायत के खाते में पड़े हैं परंतु अधिकारियों ने इस मामले को कागजी फेर में उलझा रखा है। फिरनी के इस 1000 फूट लंबे रास्ते के साथ-साथ अन्य गलियों के निर्माण का प्रस्ताव काफी बार डाला जा चुका है लेकिन चंडीगढ़ बैठे प्रशासनिक अधिकारी कोई न कोई बहाना बनाकर सतनाली के गली निर्माण कार्यों का अटकाते आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि इन गली निर्माणों को लेकर प्रस्तावों के साथ-साथ मौखिक रूप से भी पंचायत विभाग के आला अधिकारियों को अवगत करवाया जा चुका है लेकिन आज तक इस समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ। जिससे साफ ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रशासनिक अधिकारी सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों को पलिता लगा रहे हैं।

इस अवसर पर प्रदर्शन करने वालों में लालचंद, विद्यानंद, निर्मल, सत्यनारायण, पवन, राजबीर, अमित, मुकेश, विजय, संदीप, सोनू, हरनारायण सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
एम.बी.बी.एस. में चयनित विक्रम यादव को सरताज जनसेवा ग्रुप द्वारा किया गया सम्मानित
सतनाली के राजकीय महाविद्यालय में किया दो दिवसीय अभिमुख कार्यक्रम का आयोजन
डेंगू व मलेरिया को लेकर जागा स्वास्थ्य विभाग
नांगल सिरोही में आयोजित शिविर में तीसरे दिन लोगों को किया योग के प्रति जागरूक
हृदय गति रूकने से मालड़ा सराय के लाडले सैनिक लीलाराम का निधन
लम्बोरा एकेडमी में पौधारोपण कर बच्चों को किया पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक
स्कूल व बारात की बस में जबरदस्त टक्कर, आधा दर्जन बच्चे घायल
दीप प्रज्वलित कर किया 5 दिवसीय नि:शुल्क योग शिविर का शुभारंभ
शिक्षक नहीं, कैसे हो पढ़ाई, शिक्षा मंत्री के गृहक्षेत्र के इस स्कूल को है शिक्षकों का इंतजार
मौत की सवारी बन बच्चों को ढो रही हैं जर्जर स्कूली बस