Saturday, August 18, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
ढांड के बीपीआर स्कूल में राजकीय अवकाश के बावजूद लहराता रहा राष्ट्रीय ध्वजजब नए सांसदों को राजनीतिक शुचिता का पाठ पढाने हरियाणा आए वाजपेयीकन्या जन्म पर कुआं पूजन का आयोजन कर लोगों को किया प्रेरित18 अगस्त को हरियाणा बंद को लेकर किसानों व व्यापारियों से साधा संपर्कभारत में कोई नहीं है छोटा या बड़ा, सबको मिलकर करना चाहिए देशहित में कार्य: अमित यादववीर शहीदों की याद में तिरंगा यात्रा निकाल हर्षोल्लास व जोश के साथ मनाया गया स्वतंत्रता दिवससावधान, क्षेत्र में एक बार फिर पशु चोर गिरोह सक्रिय, गांव बारड़ा से चुराई दो भैंसगुरूकुल में मिलती है संस्कारवान शिक्षा: दुष्यंत चौटाला
National

पूर्वांचल सेना ने दी फूलनदेवी को श्रद्धांजलि, कहा महिला सुरक्षा के मामले में पीछे मेरा देश

सुरजीत यादव | July 25, 2018 07:07 PM
सुरजीत यादव

पूर्वांचल सेना ने दी फूलनदेवी को श्रद्धांजलि, कहा महिला सुरक्षा के मामले में पीछे मेरा देश

गोरखपुरः 25 जुलाई, वीरांगना फूलन देवी के शहादत दिवस पर पूर्वांचल ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर “अत्याचार के प्रतिरोध की प्रतीक वीरांगना फूलन देवी“ की प्रतिमा प्रदेश के प्रत्येक जिले में स्थापित करने, वीरांगना फूलन देवी के जीवन संघर्ष को पाठ्यक्रमो में शामिल किये जाने और देश की वीर , साहसी महिलाओं के लिए वीरांगना फूलन देवी सम्मान व पुरस्कार शुरू किये जाने की माँगो का ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को भेजा ।
वीरांगना फूलन देवी का जीवन संघर्ष पाठ्यक्रमों में हो सामिल
इसके पूर्व फूलन देवी अमर रहे, फूलन देवी को सम्मान दो आदि नारो के बीच पूर्वाचल सेंना के कार्यकर्ताओं ने फूलन देवी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी । इस अवसर पर पूर्वांचल सेंना के अध्यक्ष धीरेन्द्र प्रताप ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व सांसद वीरांगना फूलन देवी का जीवन संघर्ष पूरी दुनियां के लोगो के लिए मिसाल है, कठिन से कठिन यातनाओ, उत्पीड़न को झेलते हुए अपने को मजबूती से खड़ा कर हर अत्याचार का मुँहतोड़ जवाब देना उन्हें एक लौह महिला के रूप में स्थापित करता है । उन्होंने कहा कि वर्तमान भारत मे महिलाओं पर लगातार बढ़ती हिंसा के पीछे “अपने साथ हो रहे हिंसा, अत्यचार का प्रतिरोध न करना भी एक बड़ी वजह है“ देश की महिलाओं में अत्याचार के प्रतिरोध हेतु क्रांतिधर्मीता जगाने के लिए वीरांगना फूलनदेवी जैसी लौह महिला को देश-समाज में समुचित सम्माम मिलना चाहिए ।


फूलन देवी के नाम से बहादुर बेटियों को किया जाय सम्मानित
उन्होंने कहा कि यह पूरे देश के लिए चिंतन और आत्ममंथन का समय है कि हमारा देश महिला सुरक्षा के मामले में पूरी दुनिया में सबसे निचले पायदान पर पहुँच गया हैं, आज स्थिति इतनी बदतर हो गई है कि विदेशों से महिलाएं भारत देश में आने से कतराने  लगी हैं । उन्होंने कहा देशभर के पाठ्यक्रमों में वीरांगना फूलन देवी के जीवन संघर्ष को पढ़ाते हुए प्रत्येक जिले में उनकी प्रतिमा स्थापित करते हुए वीरांगना फूलन देवी के नाम पर वीर महिलाओं को पुरस्कृत करने का कार्यक्रम सरकार द्वारा चलाए जाना चाहिए ऐसे उपक्रमों से हमारे देश की महिलाएं निर्भीक होंगी  उनके अंदर अपने ऊपर हो रहे अत्याचार का प्रतिरोध करने की क्षमता बढ़ेगी  और तब जाकर के हमारे देश की महिलाएं देश में बराबरी का प्रतिनिधित्व कर पाएंगी ।
रहे सामिल
कार्यक्रम का नेतृत्व पूर्वांचल सेना के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र वाल्मीकि ने किया इस अवसर पर महासचिव प्रणय श्रीवास्तव, चंद्रेश आजमगढ़ी, इंद्रेश यादव, राजकुमार साहनी, सनी निषाद, अमित सिंघानिया, राधेश्याम निषाद, सुधीराम रावत, सचिन कुमार, सुधीर कुमार मोदनवाल, सोनू सिद्धार्थ, सत्येंद्र प्रताप, सोनू निषाद, अमलेश कनौजिया व बालमुकुंद वर्मा समेत तमाम कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।

Have something to say? Post your comment
More National News
भारत के जींद में मांगें पूरी न होने से गुस्साए 320 दलितों ने किया धर्म परिवर्तन
राज्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र जगदीशपुर की गड्ढा युक्त सड़कों पर सपाईयों ने धान लगाकर किया प्रदर्शन, समाजसेवी ने पहले ही की थी शिकायत
आज भाजपा सरकार द्वारा चुनाव के समय जनता से किए गए प्रत्येक वायदे को किया पूरा: रामबिलास शर्मा
झूठी शान के लिए बेटियों की हत्या करना शर्मनाक-प्रतिभा सुमन
अमेठीः माननीय मंत्री जी कहते है गॉवों का होगा विकास, प्रशासन कह रहा है मेरे पास नहीं बजट, देखिए विशेष रिपोर्ट
मेरा महेंद्रगढ़, मेरा स्वाभीमान बैनर के नीचे की स्मारक स्थल की साफ-सफाई
जन्मदिन को यादगार बनाने के लिए इनेलो के वरिष्ठ नेता व एकेडमी संचालक ने 2100 पौधे किए वितरित
राममंदिर निर्माण में देरी किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं: तोगडिय़ा
कल तक सोनीपत पहुंचेगी सुरभि गुप्ता की डेडबॉडी
मोबाइल फोन ने उड़ाया अंतर्राष्ट्रीय योग का मखौल