Friday, November 16, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सीआईए 30 इंचार्ज इंस्पेक्टर संदीप मोर सिंघम ने आरोपी विकास दलाल को भगाने वाले 3 और बदमाशो को अवैध असले सहित किया गिरफ्तार।घरौंडा,-साँपों के साये में पढ़ने को मजबूर छात्र प्रशासन ने मुंदी आँखे, किसी हादसे की इंतजार में प्रशासनIPS अधिकारियों के तबादले किये हरियाणा सरकार ने बड़े स्तर पर लिस्ट जारी नैना चौटाला का बड़ा ऐलान, कल एक नया झंडा और डंडा गाड़ने का काम करेंगेइंकलाब मंदिर में मनाया गया शहीद करतार सिंह सराभा का बलिदान दिवसयुवक ने किया टै्रक्टर चालक पर ईंटों से हमलागौहत्या करने पर होगी 10 साल तक की सजा:बेदीहरियाणा व देशभर के कलाकारों के लिए प्रेरणादायक रहा केएमपी मूर्तिकला शिविर : श्वेता सुहाग
National

भारत के जींद में मांगें पूरी न होने से गुस्साए 320 दलितों ने किया धर्म परिवर्तन

सन्नी मग्गू | August 16, 2018 04:03 PM
सन्नी मग्गू

भारत के  जींद में मांगें पूरी न होने से गुस्साए 320 दलितों ने किया धर्म परिवर्तन
सन्नी मग्गू
जींद, 16 अगस्त
छह माह से धरने पर बैठे दलित समाज के लगभग 320 लोगों ने हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया। बौद्ध भिक्षुओं ने सामूहिक रूप से यह धर्म परिवर्तन कराया। दलित नेता दिनेश खापड़ का कहना है कि विभिन्न मांगों को लेकर दलित समाज के लोग पिछले लगभग 6 महीने से धरने पर बैठे हैं, लेकिन सरकार उनकी कोई सुनवाई नहीं कर रही। खापड़ ने कहा कि वे सरकार से कोई नई मांग नहीं मांग रहे बल्कि उन मांगों को पूरा करने की मांग कर रहे हैं जिनके बारे में सरकार खुद पहले ही पूरा करने की घोषणा कर चुकी है। दिनेश खापड़ ने बताया कि 2 साल पहले कॉन्फेड में कार्यरत ईश्वर सिंह ने अपने अधिकारियों की प्रताडऩा से तंग आकर आत्महत्या कर ली थी जिसके बाद उनके शव के साथ जीन्द के सिविल अस्पताल में 6 दिन तक प्रदर्शन हुआ था । प्रदर्शन के आखरी दिन हरियाणा सरकार के मंत्री कृष्ण पंवार मौके पर आए थे तथा उन्होंने सभी मांगें मानने का आश्वासन दिया था परंतु आज तक इस मामले में सीबीआई जांच व पीडि़त के परिवार को सरकारी नौकरी नहीं दी गई है। इसके अतिरिक्त झांसा गांव में दलित छात्रा के साथ सामुहिक रेप व मर्डर के मामले में भी आज तक सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए गए हैं। सरकार करीबन 30 फीसद छोटी-छोटी मांगों को तो मान चुकी लेकिन जो बड़ी-बड़ी मांगें हैं वे अभी भी अधर में लटकी हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हुए कई दलित सामूहिक दुष्कर्म के मामलों में सीबीआइ जांच करवाई जानी बाकी है, उनके परिवारों को नौकरी दी जानी बाकी हैं, उनके परिवारों को सुरक्षा दी जानी बाकी है। कई दलित शहीदों के मामले में स्मारक बनाने, नौकरी देने की मांग बाकी है। खापड़ का कहना है कि इन सब मांगों को लेकर कई बार प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिया जा चुका है, लेकिन सरकार इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही। उन्होंने कहा कि दो माह पूर्व भी जब सरकार ने मांगे नहीं मानी तो 120 दलितों को मजबूर होकर दिल्ली के लदाख बुद्ध भवन में जाकर बौद्ध धर्म अपनाना पड़ा था। अब एक बार फिर दलित बौद्ध धर्म अपनाने पर मजबूर हैं। खापड़ का कहना है कि सरकार को कई दिन पहले ही यह चेतावनी दे दी गई कि यदि 15 अगस्त से पहले उनकी मांगे नहीं मानी तो एक हजार से ज्यादा दलित 15 अगस्त को आजादी के दिन हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाने पर मजबूर होंगे। खापड़ का कहना है कि अभी तक सरकार की तरफ से कोईं संदेश उन्हें नहीं मिला है ऐेसे में धर्म परिवर्तन किया गया है। धर्म परिवर्तन करने वालों में शामिल छातर गांव के 2015 में जम्मू कश्मीर के कठुआ में शहीद हुए जवान सतीश के परिजनों ने कहा कि उनके परिवार के सदस्य को आज तक नौकरी नहीं मिली है। यही नहीं, गांव में शहीद सतीश के नाम का कोई स्मारक भी नहीं मिला है।
जमीन नहीं मिली तो बदलेंगे धर्म
1985 में ड्यूटी के दौरान शहीद हुए सूबे सिंह के लड़के ने कहा कि सरकार ने वादा किया था कि 18 साल का होने के बाद उनको नौकरी दे दी जाएगी, लेकिन 2001 में 18 साल उम्र पूरी करने के बाद अब तक धक्के खाने को मजबूर है, इसलिए आज पूरे परिवार के साथ धर्म परिवर्तन किया है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह से लेकर हर जगह धक्के खा चुके है लेकिन न्याय नहीं मिला है।
दलितों की मांगें मेरे संज्ञान में नहीं: धनखड़
वहीं, प्रदेश के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने कहा कि धर्म जीवन से बड़ा होता है और मांगों के लिए कभी भी धर्म परिवर्तन नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि दलित समाज की क्या मांगें हैं उनके संज्ञान में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मांगों के लिए धर्म परिवर्तन नहीं करना चाहिए क्योंकि मांगें तो बदलती रहती है

Have something to say? Post your comment
More National News
अगर अपने क्षेत्र से “atalhind” www.atalhind.com पर न्यूज़ भेजना चाहते हैं तो आप अपनी डिटेल हमें WhatsApp 9416111503 पर भेजे।
तीन कैबिनेट सहयोगियों को खो चुके हैं पीएम मोदी
पोंजी घोटालाः दो दिन की पूछताछ के बाद खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी गिरफ्तार
उड़ीसा के राज्यपाल गणेशीलाल 18 को जीन्द में
2 करोड़ रुपये पेन्शन दे रही हरियाणा विधानसभा, सजायाफ्ता और धन्नासेठ तक ले रहे फ़ायदा
मनोज तिवारी विवादों का नाम या सुर्ख़ियों में रहने और आप को बदनाम करने का ?
मनोज तिवारी में सरे आम दिल्ली पुलिस में कर्मी को मारा थप्पड़ -दिल्ली पुलिस चुप
ब्रेकिंग जींद -इनेलो के बाद जींद में कांग्रेस को लगा भारी झटका
नरवाना में पुलिस पब्लिक सम्मेलन का आयोजन
बिग ब्रेकिंग-इनैलो नेता कृष्ण मिढ़ा ने थामा भाजपा का दामन