Tuesday, December 11, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सैंकडो लोगों ने एकसुर में गुस्सा न करने की शपथ लीचुनाव परिणामों से कांग्रेस कार्यकर्ता गद्गद् ,भाजपा में निराशाबीजेपी को बनियों सहित सभी वर्गों ने सिखाया सबक- कैलाश सिंगलाकार्यकर्ताओं ने पांच राज्यों मे आए विधानसभा चुनावों के नतीजों पर मनाया जश्नअंकुश हत्या कांड का 7वां आरोपी गिरफ्तार, पुलिस को मिली बड़ी कामयाबीसड़क के किनारे पर सूखे पेड़ दे रहे हादसों को अंजाम, विभाग की ओर से नही दिया जा रहा ध्यान 30 साल का लड़का प्रदेश की राजनीति में बहुत धमाकेदार एंट्री मार गया ,दुष्यंत ने चाचा अभय को जींद में दी मात कांग्रेस की सरकार आने पर नही रहेगी हल्के मे कोई भी समस्या बाकी : संदीप गर्ग
Uttar Pradesh

मान्धाता-10 दिनों से जल आपूर्ति बाधित होने पर सैकड़ो महिलाओं व पुरुषों ने किया हंगामा जल विभाग के खिलाप ग्रामवासियो में गुस्सा

राहुल अग्रहरि उर्फ रवि ब्यूरो चीफ pbh | August 31, 2018 11:20 PM
राहुल अग्रहरि उर्फ रवि ब्यूरो चीफ pbh

मान्धाता-10 दिनों से जल आपूर्ति बाधित होने पर सैकड़ो महिलाओं व पुरुषों ने किया हंगामा जल विभाग के खिलाप ग्रामवासियो में गुस्सा

 

अगर मामले का जल्द निस्तारण न हुआ तो करंगे बाजार बंद

 

महिलाओ में रोष,,स्थानीय विधायक को भी नही गया बख्सा,लगे मुर्दा बाद के नारे

 

बता दे कि 

मन्धाता बाजार में लगी पानी टंकी जो 100 से ज्यादा गावो में पानी सप्लाई करती है हजारो लोग उसी पानी के ऊपर निर्भर है परंतु विभाग की उदासीनता के कारण 10वे दिन मोटर जल जाती है जिसके कारण जल आपूर्ति बाधित हो जाती है मोटर लगाने में ठेकेदार अधिकारियों के लापरवाही से 15 से 20 दिन में पुनः मोटर लगती है एक साल से यही प्रक्रिया चालू है जिससे आज जनता का सब्र टूट गया इससे ऊब कर आज ग्रामवशियो सहित महिलाओं पुरषो ने जल निगम की पानी टंकी पर पहुच कर हंगामा किया चेतावनी दी अगर जल्द विभाग हमारी समस्या को हल नही करता तो हैम चक्का जाम, बजारबन्द करने को विवश होंगे अगर इससे सम्बंधित कोई घटना होती है तो उसका उत्तरदायित्व जल विभाग  होगा  इमरजेंसी में बाजार के लिए विभाग द्वारा दो दो मोटर सप्लाई हेतु दी गई है परंतु कर्मचारियों अधिकारियो की लापरवाही से 3 साल से एक मोटर बिगड़ा पड़ा है और एक मोटर 10 वे दिन जल जाती है आखिर ये चल क्या रहा है विभाग में क्या पूरा विभाग राजेश खरे की तरह भरस्ट्राचार में लिप्त है

क्या कहते। है अधिकारी*-जल विभाग के अधिकारियों से बात की गई तो सिर्फ सांत्वना मिली कि जल्द मोटर लग जायेगी सरकार से पैसा नही मिल पा रहा है इस वजह से मोटर लगने में देरी होती है 

*कौन है जिम्मेदार* -आखिर बार मोटर जल क्यों जाती है जब बाबत कर्मचारियों से पूछा गया तो इसका जवाब नही दिया गया 

जल विभाग में घोटाले की प्रमुख वजह हो सकती है 

*20 साल से जमे है कर्मचारी* -चिपको आंदोलन की तरह एक ही जगह चिपके है कर्मचारीयो का नही होता ट्रांसफर जिसकी वजह से मनमानी पर उतरते है जल विभाग के कर्मचारी ,

क्या भष्ट्र व कामचोर कर्मचारियों को शरण दे रहे है सफेद पोश नेता 

Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
सपा कार्यालय पर जिला उपाध्यक्ष का कार्यकताओं ने किया स्वागत
विकास कार्यों की गई समीक्षा बैठक, एक्काताजपुर भी रहा फिसड्डी, सचिवों के वेतन रोकने के दिए निर्देश
मान्धाता-कमल सन्देश पद यात्रा में शामिल हुए कई भाजपा नेता व कार्यकर्ता
मान्धाता पुलिस के सूझ बूझ से बची ब्यापारी की जान ब्रेकिंगप्रतापगढ़-भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश त्रिपाठी हटाये गए
रायबरेली किसानो के भारी समूह ने किया नेशनल हाइवे 24-बी को जाम किया
बीजेपी विधायक के पति ने कहा मुझे सी एम योगी से जान का खतरा
गोंडा-शनिवार को डीएम ने स्कूल अस्पताल, धन क्रय केन्द्रों सहित कई जगहों की ताबड़तोड़ छापेमारी
सुल्तानपुर जिलाधिकारी महोदय खनन पर कर रहें नजर अंदाज भूमाफियाओं कें आगे प्रदेश सरकार की बोलती हुयी बंद
प्रतापगढ़-[आर०डी०आर०पी०एस० महाविद्यालय मान्धाता में महादंगल ,महायुद्ध 18 नवम्बर को]