Monday, February 18, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
संगठन सर्वोपरी होता है और इससे बडी ताकत नहीं-डा. श्रीकांतएक्शन मूढ में कांग्रेस,नए प्रभारी लोकसभा के उम्मीदवारों की सूचि तैयार करनें में जूटे,पार्टी पदाधिकारियों से ले रहे है प्रदेश अध्यक्ष की रायडॉक्टरों का एनपीए 20 प्रतिशत बढ़ामेले के अंतिम दिन रही भारी भीड़, रामकुमार के बैगपाईपर की धुन पर युवाओं की खूब मस्ती।रा.व.मा. विद्यालय बुडीन की दो छात्राओं का NMMS में हुआ चयनएग्री समिट-2019:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 किसानों को 1 लाख रुपए राशि के साथ दिया कृषि रत्न पुरस्कारराज्य सरकार पर्यटन को बढावा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है-राम बिलास शर्मारातभर अंधेरे में डूबा रहता है सतनाली का मुख्य बाजार, स्ट्रीट लाइटें खराब होने से कस्बे की गलियां व मुख्य चौक रहते है अंधकारमय
 
 
Uttar Pradesh

ब्राह्मण सभा में हुआ एकता का शंखनाद

सुरजीत यादव | September 09, 2018 04:46 PM
सुरजीत यादव

ब्राह्मण सभा में हुआ एकता का शंखनाद

अमेठी । ब्राह्मण सभा को एक होने और समाज का अस्तित्व बचाए रखने के उद्देश्य से ब्राह्मण समाज की एक बैठक आज शुकुल बाजार में संपन्न हुई । भगवान परशुराम की प्रतिमा के समक्ष क्षेत्र के ब्राह्मणों ने समाज की एकता और अस्तित्व पर विशेष चर्चा की, जिसमें निज समाज के उत्थान से राष्ट्रोत्थान तक की बात पर मंथन किया गया। एससीएसटी एक्ट पर केंद्र सरकार के प्रावधानों पर काफी आक्रोश भी दिखाई दिया।

बाजार शुक्ल कस्बा स्थित शिव श्यामा चिकित्सालय के एक हाल में क्षेत्र के ब्राह्मणों ने अस्तित्व क्षीण हो रहे, ब्राह्मण समाज के उत्थान की बात पर चर्चा की। सर्वप्रथम भगवान परशुराम की आरती उपरांत के.डी. मिश्रा द्वारा सभा का संचालन किया गया। जिसमें ब्राह्मण समाज को सर्व समाज का अग्रणी बताते हुए उसे अपने अस्तित्व पर चिंतन करना आवश्यक माना जा रहा है । कृष्णा नर्सिंग होम के चिकित्सक पवन तिवारी ने कहा की राजनीति के माध्यम से उत्थान की उम्मीद करना सार्थक नहीं होगा। ब्राह्मण समाज का उत्थान उसके अपने अस्तित्व पर चिंतन करने से होगा । अन्यथा ब्राह्मण अस्तित्व खोता जा रहा है। बाबा कल्याण दास ने शंखनाद करते हुए सब को एक मंच पर आने का आवाहन किया है। इस मौके पर संघठन के साथ सभी ब्राह्मणों ने एक मंच पर आने का संकल्प लिया। इसके अतिरिक्त क्षेत्र के रमेश तिवारी, राधिका प्रसाद शुक्ला, करुणा शंकर पांडे, कुलदीप शुक्ला, सुशील तिवारी, संतराम शुक्ला, शिव शंकर त्रिपाठी, रवि तिवारी, राम प्रताप तिवारी, परिक्रमा तिवारी आदि सैकड़ों ब्राह्मणों ने निश्चित एवं संगठन एकता पर बल दिया, साथ ही आगामी वर्ष में वैशाख माह की अक्षय तृतीया को परशुराम जयंती का भव्य आयोजन का भी संदर्भ ग्रहण किया।

 
Have something to say? Post your comment
 
More Uttar Pradesh News
फ़ेसबुक पर देश विरोधी नारे वाली पोस्ट करने वाले युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोकने के विरोध में सड़कों पर उतरे सपा समर्थक, अमेठी में फूंका गया सीएम योगी का पुतला
उत्तरप्रदेश की राजनीति में प्रियंका गांधी का धमाकेदार दस्तक
जेल में कैदियों की बुध्दि शुध्दि के लिये किया गया हवन
कुशीनगर और सहारनपुर में पचासों मौतों के बाद जागा शाहजहांपुर का अबकारी महकमा
तकनीकी और प्रौद्योगिकी परक शिक्षा से हमारा देश होगा विकसित राष्ट्र : पूर्व विधायक राधेश्याम कनौजिया
HC की फटकार, सांसदों-विधायकों पर क्यों नहीं लागू करते नई पेंशन स्कीम अच्छी है तो
बीमा के 24 लाख हडपने के लालच में भाई ने ही कर दी भाई की हत्या -- सुभाष शाक्य
डीएम ने भूख हड़ताल पर बैठे बाबाजी को जूस पिलाकर खत्म कराई हड़ताल
जगदीशपुर में सपा की मासिक बैठक, लोकसभा चुनाव को लेकर हुयी चर्चा