Sunday, October 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
माधोगढिय़ा सदन में किया गया माता के भव्य जागरण का आयोजनविदेशी वस्तुओं का बहिष्कार कर स्वदेशी दीपावली मनाने का दिया संदेशबाबा समताई नाथ गौशाला में धूमधाम से मनाया गया वार्षिकोत्सवडालनवास गांव के पूर्व सरंपच वीरपाल सिंह के पिता का निधनब्रेकिंग-पंजाब के अमृतसर से दशहरे के दिन बड़े हादसे की ख़बर ,शोक में बदलीं विजयदशमी की खुशियाँअहीर रेजिमेंट यादव समाज का स्वाभिमान व अधिकार, केंद्र सरकार जल्द से जल्द करे इसका गठन: कुलदीप यादवरोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शनखालड़ा फेन जनसेवा ग्रुप द्वारा सम्मान समारोह में उत्कृष्ट खिलाडिय़ों को किया सम्मानित
National

सोनीपत-राजकीय सम्मान के साथ हुए शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार

रणबीर रोहिल्ला | September 20, 2018 05:56 PM
रणबीर रोहिल्ला

सोनीपत-राजकीय सम्मान के साथ हुए शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार


जम्मू के जिला सांबा के रामगढ़ सेक्टर में शहीद हुआ था नरेंद्र सिंह


वीरवार सुबह पैतृक गांव थाना कलां पहुंचा पार्थिव शरीर


कंवाली मोड से गांव तक हजारों लोगों का हुजुम शहीद के पार्थिव शरीर को भारत माता की जय के नारों के साथ गांव तक लेकर गया

रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत।

जम्मू के सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर में शहीद हुए थाना कलां गांव के नरेंद्र सिंह का वीवार को उनके पैतृक गांव थाना कलां में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के पार्थिक शरीर को सेना के जवान वीरवार सुबह लेकर जैसे ही कंवाली मोड़ पर पहुंचे तो वहां से हजारों की संख्या में गांव व आस-पास के लोग खुले वाहन में लेकर उनके घर तक पहुंचे। इस दौरान भारत माता की जय, शहीद नरेंद्र सिंह अमर रहे, जब तक सूरज चांद रहेगा शहीद नरेंद्र सिंह तेरा नाम रहेगा के गगनभेदी नारों के बीच पूरा माहौल गमगीन बना रहा और लोगों की आंखें नम रही।

 

  
शहीद नरेंद्र सिंह बीएसएफ की 176वीं बटालियन में हवलदार के पद पर तैनात था। 52 वर्षीय नरेंद्र सिंह मौजूदा समय में इंद्रेश्वर नगर जम्मू में तैनात था। जम्मू के सांबा जिला के रामगढ़ सेक्टर में पैट्रोलिंग करते समय पाकिस्तान की तरफ से हुई फायरिंग में घायल होने के बाद वह लापता हो गए थे। इसके बाद उनका पार्थिव शरीर एलओसी के पास क्षत-विक्षत हालत में पाया गया। शहीद नरेंद्र सिंह को तीन गोलियां लगी थी। गुरुवार सुबह करीब छह बजे उनका पार्थिव शरीर बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट आरएन कौशिक लेकर पहुंचे। वहीं बीएसएफ के डीआईजी महेंद्र सिंह देव, सहायक कमांडेंट नरेंद्र कुमार यादव भी दिल्ली से शहीद के पार्थिव शरीर के साथ पहुंचे थे।

  
जब तक सूरज चांद रहेगा शहीद नरेंद्र तेरा नाम रहेगा
सोनीपत-खरखौदा रोड पर कंवाली गांव के पास हजारों की संख्या में लोग शहीद के पार्थिव शरीर के इंतजार में पहले से ही मौजूद थे। जैसे ही शहीद का पार्थिव शरीर यहां पहुंचा तो प्रत्येक व्यक्ति गमगीन नजर आया। इस दौरान सभी ने जब तक सूरज चांद रहेगा शहीद नरेंद्र सिंह तेरा नाम रहेगा के नारे भी लगाए। इसके बाद थाना कलां गांव में शहीद के घर तक का लगभग छह किलोमीटर का सफर दो घंटे में पूरा हुआ। यहां उनके पार्थिव शरीर को उनके घर पर रखा गया। यहां उनके दोनों बेटे मोहित, अंकित, पत्नी संतोष व परिवार के अन्य सदस्यों सहित ग्रामीणों व प्रशासनिक ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

  

इसके बाद शहीद की अंतिम यात्रा शुरू हुई तो उसमें प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण बेदी, स्थानीय विधायक जयवीर बाल्मीकि, भाजपा जिलाध्यक्ष डा. धर्मवीर नांदल, उपायुक्त विनय सिंह, एएसपी राजीव देशवाल, एसडीएम श्वेता सुहाग सहित हजारों लोग इस अंतिम यात्रा में शामिल हुए। इसके बाद गांव के शमशान घाट में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की तरफ से सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी व जिला प्रशासन की तरफ से उपायुक्त विनय सिंह ने पुष्प चक्र अर्पित कर अपनी श्रद्धांजली दी। अंतिम संस्कार के समय बीएसएफ व हरियाणा पुलिस के जवानों ने सलामी दी। इसके पश्चात शहीद के बेटे मोहित ने अपने पिता की चिता को मुखाग्नि दी। इस अवसर पर शहीद के भाई राजसिंह, बहन रामरति, भाजपा जिला महामंत्री गुलशन ठेकेदार, प्रीतम खोखर, अनिल झरौठी, सुनील पांचाल, सुनील सरोहा, रविंद्र दिलावर, तीर्थ राणा, जोगेंद्र सिंह तहसीलदार दिल्ली, सुरेंद्र सिंह सहित काफी संख्या में लोग मौजूद थे।
शहीद नरेंद्र सिंह की शहादत को कभी नहीं भुलाया जा सकता : बेदी
प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने कहा कि शहीद नरेंद्र सिंह की शहादत को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने अपने प्राणों की आहूति देकर देश की सीमा की रक्षा की है। यह शहादत वर्षों तक बुजुर्गों को सहारा व युवाओं को प्रेरणा देती रहेगी। बेदी वीरवार सुबह थाना कलां गांव में शहीद नरेंद्र सिंह के अंतिम संस्कार के बाद उपायुक्त विनय सिंह के साथ उनके घर पहुंचकर परिवार को सांत्वना दे रहे थे। बेदी ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार शहीद की परिवार की आर्थिक व अन्य हर तरह से मदद करेगी। उन्होंने कहा कि शहीद सभी के लिए प्रेरणास्रोत होते हैंं और आज पूरा गांव थाना कलां ही नहीं बल्कि पूरा हरियाणा व पूरा देश उनकी शहादत पर उन्हें नमन कर रहा है।

Have something to say? Post your comment
More National News
ब्रेकिंग-पंजाब के अमृतसर से दशहरे के दिन बड़े हादसे की ख़बर ,शोक में बदलीं विजयदशमी की खुशियाँ
नवरात्रि के सुअवसर पर हुआ नवाचार, किया गया फलाहार का आयोजन
मुम्बई-ईसाई मशीनरी द्वारा धर्म परिवर्तन का घिनौना खेल जोरो पर
डिजिटल फाउन्डेशन ने अमेठी मुसाफिरखाना के युवक को बनाया ठगी का शिकार आखिर पुलिस कब करेगी कार्यवाही
तीसरा मोर्चा मजबूत हुआ तो मायावती पीएम और इनेलो की सरकार बनने के लिए तैयार है : औमप्रकाश चौटाला
डिजिटल फाउन्डेशन के अन्य प्रदेशों से जुड़े तार, करोड़ों लेकर फरार
बेरोजगारों के पैसों से होती थी अय्यासी, हजारों को बनाया ठगी का शिकार, करोड़ो लेकर फरार
जीन्द-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत
श्राद्धपक्ष में ढूंढे नहीं मिलते कौवे कंक्रीट के जंगलों के कारण कौओं के अस्तित्व पर खतरा
अमेठी सांसद राहुल गांधी की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की हुयी बैठक, राज्यमंत्री सुरेश पासी भी रहे मौजूद, बैठक में कई बार नाराज हुये अमेठी सांसद, जानिए क्यों ?