Tuesday, December 11, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सैंकडो लोगों ने एकसुर में गुस्सा न करने की शपथ लीचुनाव परिणामों से कांग्रेस कार्यकर्ता गद्गद् ,भाजपा में निराशाबीजेपी को बनियों सहित सभी वर्गों ने सिखाया सबक- कैलाश सिंगलाकार्यकर्ताओं ने पांच राज्यों मे आए विधानसभा चुनावों के नतीजों पर मनाया जश्नअंकुश हत्या कांड का 7वां आरोपी गिरफ्तार, पुलिस को मिली बड़ी कामयाबीसड़क के किनारे पर सूखे पेड़ दे रहे हादसों को अंजाम, विभाग की ओर से नही दिया जा रहा ध्यान 30 साल का लड़का प्रदेश की राजनीति में बहुत धमाकेदार एंट्री मार गया ,दुष्यंत ने चाचा अभय को जींद में दी मात कांग्रेस की सरकार आने पर नही रहेगी हल्के मे कोई भी समस्या बाकी : संदीप गर्ग
Haryana

कैथल-फल्गु मेले में श्रद्धालुओं पर पार्किंग फीस के बोझ की पड़ेगी मार,तानाशाही रवैये से पेश आते हैं पार्किंग वाले !

कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट | October 05, 2018 10:36 PM
कृष्ण प्रजापति की रिपोर्ट

कैथल-फल्गु मेले में श्रद्धालुओं पर पार्किंग फीस के बोझ की पड़ेगी मार

फल्गु मेले में आने वाले श्रद्धालुओं से 4 दिनों में ली जाएगी भारी-भरकम एंट्री फीस

अभी भी हालातो में नहीं हो रहा है सुधार, तानाशाही रवैये से पेश आते हैं पार्किंग वाले !

कैथल, 05 अक्टूबर (कृष्ण प्रजापति): फल्गु मेले में श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं देने के लाख दावे जिला प्रशासन कर रहा हो लेकिन श्रद्धालुओं को तंग करने में यहां का मेला प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण पिछले काफी दिनों से मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए असुविधाओं का बोलबाला है और काफी समस्याओं से श्रद्धालुओं को दो चार होना पड़ रहा है। इसके साथ साथ आज से आगामी 4 दिन तक फल्गु मेले में आने श्रद्धालुओं से भारी भरकम एंट्री फीस ली जाएगी। श्रद्धालुओं में इस बात का पूरा रोष है कि मेले में वैसे तो जिला प्रशासन आने के लिए बड़े-बड़े स्वागत द्वारा लगा रहा है, इसके साथ ही श्रद्धालुओं को मेले में एंट्री करने के लिए भारी-भरकम एंट्री फीस देने का जो तानाशाही फरमान जिला प्रशासन द्वारा दिया गया है उससे श्रद्धालुओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। मेले में आने वाले अनेक श्रद्धालुओं ने बताया कि पहले तो तीन-चार दिन किलोमीटर दूर श्रद्धालुओं के वाहनों को रोककर श्रद्धालुओं को पैदल चलने पर मजबूर किया जाएगा और वाहनों को वहां खड़ा करने के लिए उनसे मोटी पार्किंग फीस वसूली जाएगी जो फल्गु मेले के श्रद्धालुओं के साथ सरासर अन्याय है। श्रद्धालुओं ने रोष जाहिर करते हुए कहा कि एंट्री फीस के नाम पर श्रद्धालुओं से यह लूट बंद नहीं हुई तो कोई भी श्रद्धालु मेले में नहीं आएगा और सीएम मनोहर लाल खट्टर के सामने भी इस बात को रखा जाएगा क्योंकि जिला प्रशासन द्वारा मेले में आने वाले श्रद्धालुओं से किसी प्रकार का न तो सुझाव लिया जा रहा है और ना ही उनकी समस्याओं पर ध्यान दिया जा रहा है।

बॉक्स--- यह निर्धारित की गई है पार्किंग फीस

मेले में आने वाले वाहनों को पार्किंग एरिया में लगाने के बाद जो पार्किंग फीस ठेकेदार द्वारा निर्धारित की गई है उसके अनुसार बाइक के लिए 20 रुपये, कार जीप, बिना ट्रॉली के ट्रैक्टर के लिए 50 रुपए, मिनी बस, टाटा 407, ट्रैक्टर ट्रॉली के लिए 100 रूपए और बसों व ट्रको के लिए 200 रुपए पार्किंग फीस रखी गई है जोकि बहुत अधिक है। अगर श्रद्धालुओ की समस्याओं को देखते हुए जिला प्रशासन द्वारा इनके दाम कम नहीं किए गए तो वे इस मामले को सीएम के सामने रखेंगे क्योंकि कई श्रद्धलुओं ने सीधे तौर पर पार्किंग ठेकेदार को लाभ पहुंचाने व श्रद्धालुओं को तंग करने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने बताया कि अगर मेला प्रशासन मेले में आने वाले श्रद्धालुओ से इस प्रकार का व्यवहार करेगा तो कौन श्रद्धालु मेला देखने आएंगे। ग्रामीण रणदीप आर्य फरल ने बताया कि जिले के अधिकारी विश्व प्रसिद्ध मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को तंग करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। न तो मेले के लिए कोई समुचित व्यापक प्रबन्ध है और न कोई रूपरेखा। पिछली बार तो फरल गांव के ग्रामीणों को भी गांव में घुसने से रोका गया था जोकि जिला प्रशासन की सरेआम धक्काशाही को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मेले की निष्पक्ष जांच न करवाकर व श्रद्धालुओं को सुविधाओं देने के नाम पर बेवकूफ बनाकर झूठी वाहवाही प्रशासन द्वारा लूटी जा रही है।

बॉक्स-- वीआईपी घाट टूटे हुए, टूंटीयां लीक, सड़को की पुलिया आज भी टूटी पड़ी हैं

उधर मेले में जब हमने दौरा किया तो तीर्थ के वीआईपी घाट के कई पत्थर टूटे पड़े मिले, पानी बिल्कुल गन्दा हो चुका है। प्रशासन द्वारा श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए लगाई गई अधिकतर टूंटीयाँ लीक हैं जिनसे पानी बहता रहता है और पानी को बचाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा कोई प्रबंध नहीं किए गए हैं। इसके अलावा मेले स्थल को जोड़ने वाली अधिकतर गांवो की सड़कों की पुलियां आज तक टूटी पड़ी है जिससे गिरकर श्रद्धालु रात में व दिन में भी घायल हो रहे हैं। श्रद्धालुओं की समस्या की तरफ जिला प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा है, ये सभी आरोप मेले में आए हुए श्रद्धालुओं ने लगाए हैं।

वर्जन --- मेला प्रशासक जगदीप सिंह

उधर जब इस बारे में मेला प्रशासक एसडीएम जगदीप सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मेले में जो पार्किंग की गई है उसके लिए 15 दिन पहले टेंडर किया गया था पिछले 11 दिनों में किसी भी श्रद्धालु को रोका नहीं गया और 4 दिनों में मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ ना हो इसलिए श्रद्धालुओं के वाहनों को रोका जाएगा। फीस कम करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि एंट्री फीस को किसी भी प्रकार से कम नहीं किया जा सकता। मेले की सभी कमियों को प्रतिदिन निरीक्षण करके दूर किया जा रहा है ताकि श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत न आए

Have something to say? Post your comment
More Haryana News
सैंकडो लोगों ने एकसुर में गुस्सा न करने की शपथ ली
चुनाव परिणामों से कांग्रेस कार्यकर्ता गद्गद् ,भाजपा में निराशा
मोदी के अहंकार की हुई है हार:-सतविन्द्र टिम्मी राजस्थान,मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत पर कार्यकत्र्ताओं ने मनाई खुशी
बीजेपी को बनियों सहित सभी वर्गों ने सिखाया सबक- कैलाश सिंगला
कांग्रेस की जीत से पूरे देश में खुशी की लहर आगामी चुनावों में राहूल गांधी होंगे देश के प्रधानमंत्री:- हरमोहिन्द्र सिंह च_ा
कांग्रेस की जीत से पूरे देश में खुशी की लहर आगामी चुनावों में राहूल गांधी होंगे देश के प्रधानमंत्री:- हरमोहिन्द्र सिंह च_ा
सरस्वती तीर्थ पर तीसरे दिन भी कार सेवा जारी मां अन्नपूर्णा सेवा समिति की ओर सेवा में दिया गया सहयोग
सड़क के किनारे पर सूखे पेड़ दे रहे हादसों को अंजाम, विभाग की ओर से नही दिया जा रहा ध्यान
30 साल का लड़का प्रदेश की राजनीति में बहुत धमाकेदार एंट्री मार गया ,दुष्यंत ने चाचा अभय को जींद में दी मात
गांव मांगना स्थित मां बाला सुंदरी मंदिर में हुई मूर्ति स्थापना मुख्यातिथी की तौर पर संदीप ओंकार ने की शिरकत