Sunday, October 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
माधोगढिय़ा सदन में किया गया माता के भव्य जागरण का आयोजनविदेशी वस्तुओं का बहिष्कार कर स्वदेशी दीपावली मनाने का दिया संदेशबाबा समताई नाथ गौशाला में धूमधाम से मनाया गया वार्षिकोत्सवडालनवास गांव के पूर्व सरंपच वीरपाल सिंह के पिता का निधनब्रेकिंग-पंजाब के अमृतसर से दशहरे के दिन बड़े हादसे की ख़बर ,शोक में बदलीं विजयदशमी की खुशियाँअहीर रेजिमेंट यादव समाज का स्वाभिमान व अधिकार, केंद्र सरकार जल्द से जल्द करे इसका गठन: कुलदीप यादवरोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में बिजली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शनखालड़ा फेन जनसेवा ग्रुप द्वारा सम्मान समारोह में उत्कृष्ट खिलाडिय़ों को किया सम्मानित
National

डिजिटल फाउन्डेशन के अन्य प्रदेशों से जुड़े तार, करोड़ों लेकर फरार

सुरजीत यादव | October 07, 2018 12:43 PM
सुरजीत यादव

डिजिटल फाउन्डेशन के अन्य प्रदेशों से जुड़े तार, करोड़ों लेकर फरार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, सहित कई शहरों में ठगों ने डिजीटल इंडिया के सपने को हिलाकर रख दिया है। इन ठगों का जाल इतना बड़ा है कि लखनऊ पुलिस भी कार्यवाही से कतराती नजर आ रही है। दिल्ली, मुंबई, बिहार, मध्य प्रदेश तक इनका जाल बिछा हुआ है।

 

तस्वीर में दिख रही महिला डिजिटल फाउन्डेशन की मैनेजर बतायी जा रही है। खबर है कि डिजिटल फाउन्डेशन मैनेजन अंशिका लड़कों से बड़े मीठी बोली पहले फंसाती थी बाद में जब इसे बेरोजगार युवाओं ग्राहक सेवा के खोलने के इस 25000 हजार का चेक दे देते थे तो यह महिला फोन नहीं उठाती थी। और युवाओं को बड़े गर्म मिजाज में धमकी थी। इस महिला की तार वहॉ की स्थानीय पुलिस से जुड़े होने की खबर है पुलिस शिकायतकर्ताओं को अश्वासन देती थी तुम्हारा पैसा वापस कर दिया जायेगा ठीक उससे पहले अंशिका नाम की महिला हजारों युवाओं से करोड़ों रूपये लेकर फरार है।


डिजिटल फाउन्डेशन नाम की यह कम्पनी अब हजारों लोगों को ठगी का शिकार बना चुकी है लेकिन लखनऊ पुलिस शिकायत के बाद भी कार्यवाही से कतरा रही है। आपकों बता दें कि डिजिटल फाउन्डेशन नाम की कम्पनी के मालिक गजेन्द्र सिंह और नीतू सिंह है।

 

इस तरह शुरू की संगठित ठगी
आपको बता दें कि डिजिटल फाउन्डेशन कम्पनी का एक बकाया बेबसाइट, मोबाइल अप्लीकेशन टोलफ्री नम्बर कम्पनी का टेड मार्क आई एसओ का प्रमाण पत्र संख्या जिससे देश के बेरोजगार विश्वास में आ जाते थे। और ग्राहक सेवा केन्द्र डिजिटल सेवा लेने के बैंक मित्र के साइट पर आवेदन करते थे। महिला कर्मचारी द्वारा आवेदक को लखनऊ के गाजीपु थाना क्षेत्र इन्द्रा नगर प्राइम प्लाजा के ऑफिस नम्बर 410 में जाते थे जहॉ चेक द्वारा कम्पनी के नाम डिजिटल सेवा देने के लिए 25000 रूपये वसूल किए जाते थे। आपको बता दें कि डिजिटल फाउन्डेशन नाम की कम्पनी युवाओं को ठगी शिकार बनाती रही है और सब सब इन्द्रानगर पुलिस के नाक नीचे होती रही है ।

Have something to say? Post your comment
More National News
ब्रेकिंग-पंजाब के अमृतसर से दशहरे के दिन बड़े हादसे की ख़बर ,शोक में बदलीं विजयदशमी की खुशियाँ
नवरात्रि के सुअवसर पर हुआ नवाचार, किया गया फलाहार का आयोजन
मुम्बई-ईसाई मशीनरी द्वारा धर्म परिवर्तन का घिनौना खेल जोरो पर
डिजिटल फाउन्डेशन ने अमेठी मुसाफिरखाना के युवक को बनाया ठगी का शिकार आखिर पुलिस कब करेगी कार्यवाही
तीसरा मोर्चा मजबूत हुआ तो मायावती पीएम और इनेलो की सरकार बनने के लिए तैयार है : औमप्रकाश चौटाला
बेरोजगारों के पैसों से होती थी अय्यासी, हजारों को बनाया ठगी का शिकार, करोड़ो लेकर फरार
जीन्द-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत
श्राद्धपक्ष में ढूंढे नहीं मिलते कौवे कंक्रीट के जंगलों के कारण कौओं के अस्तित्व पर खतरा
अमेठी सांसद राहुल गांधी की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की हुयी बैठक, राज्यमंत्री सुरेश पासी भी रहे मौजूद, बैठक में कई बार नाराज हुये अमेठी सांसद, जानिए क्यों ?
परिचय सम्मेलन में लांच की रोहिल्ला ऐप 251 युवक-युवतियों को हुआ परिचय सम्मेलन