Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

National

तीसरा मोर्चा मजबूत हुआ तो मायावती पीएम और इनेलो की सरकार बनने के लिए तैयार है : औमप्रकाश चौटाला

October 08, 2018 03:25 AM
रणबीर रोहिल्ला

पार्टी में अनुशासनहीनता बर्दाशत नहीं : ओमप्रकाश चौटाला
देवीलाल ने सदैव कमेरे वर्ग के पक्ष में नीतियां बनाई
तीसरा मोर्चा मजबूत हुआ तो मायावती पीएम और इनेलो की सरकार बनने के लिए तैयार है : औमप्रकाश चौटाला


रणबीर रोहिल्ला, सोनीपत।

चौ. देवीलाल के 105वें जन्मदिवस पर गोहाना में आयोजित सम्मान दिवस को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री औमप्रकाश चौटाला ने कहा कि देश में आज तक जितनी भी सरकारें बनी उन्होंने जिस तरह से साम्प्रादायिकता का माहौल बनाकर किसानों और गरीब वर्ग को खत्म करने का काम किया है, आज पूरे देश में भाजपा के खिलाफ माहौल तैयार हो गया है। एक तीसरा मोर्चा मजबूत हो रहा है, जिसमें बसपा की अध्यक्ष मायावती देश की प्रधानमंत्री और हरियाणा में इनेलो पार्टी की सरकार बनने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि बसपा और इनेलो का गठबंधन चट्टान की तरह है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में इनेलो को खत्म करने की साजिश रची थी। मगर पार्टी के एक-एक कार्यकर्ता चौटाला बनकर पार्टी को मजबूत बनाते रहे।
इस मौके पर पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोड़ा, विधायक अभय चौटाला, पूर्व मंत्री रामपाल माजरा, पूर्व सांसद कैप्टन इन्द्र सिंह, देवेन्द्र कादयान, पूर्व विधायक रामबीर पटौदी, पूर्व मंत्री और विधायक जसवीन्द्र संधू, विधायक परमेन्द्र ढुल, सांसद दुष्यंत चौटाला, दिग्विजय सिंह चौटाला, बसपा के प्रदेश संयोजक प्रकाश भारती तथा पंजाब और हरियाणा के प्रभारी डा मेघराज सिंह आदि ने रैली को संबोधित किया। जबकि मंच का संचालन डा केसी बांगड़ ने किया। इस दौरान रणबीर गंगवा, सतबीर वर्मा, सुरेन्द्र छिक्कारा, सुरेन्द्र पंवार, ललित पंवार, संदीप गहलावत सहित हजारों की संख्या में इनेलो-बसपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।
हूटिंग करने वालों को दी नसीहत
चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने अभय के खिलाफ हूंटिग करने वालों पर तंज कसते हुए कहा कि नेता हो या कार्यकर्ता पार्टी में अनुशासनहीनता की तो बाहर का रास्ता दिखाने में देर नहीं लगेगी। चौटाला ने कहा कि इनेलो एक अनुशासित पार्टी है और हमेशा से इनेलो कार्यकर्ता अनुशासन में रहा है। आज जिन लोगो ने अनुशासनहीनता दिखाई है वो किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि चार साल पहले किसानों के नाम और बेरोजगारी के मुद्दे तथा हर व्यक्ति के बैंक खाते में 15-15 लाख रुपये डालने जैसे जुमले देकर सता में आई भाजपा से आज पूरे देश की जनता का मोहभंग हो गया है तथा हर कोई इंतजार में है कि कब चुनाव आये और भाजपा को सबक सिखाया जाये।
कांग्रेस ने आज तक किसान का भला नहीं किया
ओमप्रकाश चौटाला ने कांग्रेस पार्टी की नीतियों को किसान विरोधी बताते हुए तंज कसते हुए कहा कि देश और प्रदेश में जब भी कांग्रेस या भाजपा की सरकार बनी तो इस देश का किसान, दलित और गरीब को और गरीब बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने वर्षो इस देश पर राज किया, लेकिन किसान और मजदूर का आज तक कोई भला नहीं किया। आज समय की मांग है कि बसपा के साथ गठबंधन का धर्म निभाना सब कार्यकर्ताओं को संगठित होकर प्रदेश में गठबंधन की सरकार बनाने के लिए वे केवल इनेलो के सच्चे सिपाही बनकर काम करें। चौ. देवीलाल ने सदा कमेरे वर्ग के हित में नीतियां बनाई और वे सदा गरीबों की आवाज को बुलंद करते रहे। उन्होंने दावा किया कि वे सता में आते ही सबसे पहले किसानों और गरीब लोगों के हित में नीतियां बनाकर प्रदेश को विकास की पटरी पर दौड़ाएगें।
इनेलो सुप्रीमो नेे बसपा की पगड़ी पहनने से किया इंकार
्रइनेलो-बसपा से गठबंधन करके इस उम्मीद के साथ मैदान में उतरी है कि अब उन्हें सता में आने से कोई नहीं रोक सकता। रविवार को गोहाना में इनेलो के सम्मान दिवस पर बसपा के प्रभारी प्रकाश भारती तथा डा. मेघराज ने जमकर ओमप्रकाश चौटाला तथा चौ. देवीलाल की तारीफ करते हुए गठबंधन को चट्टान की तरह मजबूत बताया। दोनों बसपा नेताओं को इनेलो पार्टी के जिला अध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने हरी पगड़ी बांधकर देवीलाल की फोटो का स्मृति चिन्ह भेंट किये। जब बसपा नेताओं की औमप्रकाश चौटाला का सम्मान करने की बारी आई तथा उन्हें बसपा के रंग की नीली पगड़ी पहनानी चाही तो इनेलो सुप्रीमो ने इंकार कर दिया तथा कहा कि वे पहले से ही हरी पगड़ी पहने हुए हैं, इसकी जरुरत नहीं है। इस नजारे से बसपा के कार्यकर्ता सन्न रह गये।
अभय के भाषण में की हुटिंग
इनेसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह, सांसद दुष्यंत चौटाला के बाद अजय चौटाला ने जैसे ही अपना संबोधन शुरु किया तो रैली में बैठे वर्करों ने जमकर हूंटिग शुरु कर दी। इस दौरान अभय ने भाषण बीच में ही रोक दिया। इसके बाद बसपा के प्रभारी और संयोजक ने अपना भाषण शुरू कर दिया। इसके बाद फिर अभय ने भाषण शुरु किया तो फिर हूंटिग शुरु कर दी। हालांकि उन्होंने अपना संबोधन जारी रखा। इससे साफ जाहिर हो गया कि कहीं ने कहीं सीएम की कुर्सी को लेकर कुनबे के भीतर कुछ तो खींचतान चल रही है। जिसके बारे में ओमप्रकाश चौटाला को आभास है। मगर इस फूट से वे कैसे निपटेगें। प्रदेश में इसका आगामी दिनों में किस तरह का प्रभाव रहेगा। इसके बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

Have something to say? Post your comment

More in National

मेरी इच्छा हिसार से लोकसभा चुनाव लङने की है-दुष्यंत चौटाला

आज बंद रहेगें सभी नीजि स्कूल 15 बसो में अंबाला रैली में भाग लेने के लिए रादौर से रवाना होगे

खैरी के विजेंदर ने जीता कुश्ती में सोना

हरियाणा पुलिस कांस्टेबल के 500 पद अब सामान्य श्रेणी से भरे जाएंगे

चमत्कारी उम्मीदवारों के सहारे लोकसभा चुनाव की नैया पार करने की तैयारी में भाजपा

हरियाणा में एक साथ नहीं होंगे लोकसभा-विधानसभा चुनाव- सीएम

युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या

एसएमसी सदस्यों के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया

डिपो धारकों का कमीशन 100 रूपए प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 150 रूपए प्रति क्विंटल

मनोज यादव ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) का पदभार ग्रहण किया