Sunday, March 24, 2019
BREAKING NEWS
राज्यपाल ने "प्राचार्य आवास" का किया उद्घाटन ।10 के सिक्के नहीं लेने पर एफआईआर—-आरबीआई के टोल फ्री नंबर 144040फरीदाबाद पहुंचे प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त -लोकसभा चुनाव को लेकर अधिकारियों के साथ की समीक्षा दो दिवसीय वॉलीवाल प्रतियोगिता के पहले दिन लडकियों की प्रतियोगिता करवाईजिला अस्पताल में पड़पते आदमी की आवाज बनी कमला यादव, लेकिन उसके बाद क्या ?कुताना--शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी कीविकास उर्फ पिंटू हत्याकांड :- आज तक भी नही थमे परिजनों के आंसू, रो-रोकर पत्नी का भी हाल बेहालहर व्यक्ति में देश के प्रति सच्चा जनून होना चाहिए :-राजेश वशिष्ठ कुलदीप बिश्रोई की गैर-मौजूदगी सेचली भाजपा में जाने की चर्चाएंलिंग जांच की सूचना दे, दो लाख का ईनाम ले

Haryana

लोहारू-डिलीवरी के बाद महिला की मौत, सरकार की चिकित्सा सुविधाओं को ठेंगा, ग्रामीणों में रोष

January 12, 2019 07:45 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

लोहारू-डिलीवरी के बाद महिला की मौत, सरकार की चिकित्सा सुविधाओं को ठेंगा, ग्रामीणों में रोष

सोहांसरा का पीएचसी स्टाफ नर्सों के हवाले

लोहारू( प्रमोद सैनी) सोहांसरा स्थित पीएचसी में डिलीवरी के बाद एक 35 वर्षीय सिंधु देवी की मौत का मामला प्रकाश में आया है। इस प्रकार की घटना ने प्रदेश सरकार के चिकित्सा सुविधाओं के दावों की पोल खुलकर सामने आई है और यह घटना सरकारी तंत्र और सरकार की चिकित्सा सुविधाओं को ठेंंगा दिखाने के समान है वहीं ग्रामीणों में भी इस बात को लेकर रोष है कि सोहांसरा स्थित पीएचसी में एक भी चिकित्सक नहीं होने के कारण यहां का पीएचसी कथित तौर पर सिर्फ स्टाफ नर्स के हवाले है। ग्रामीणों की मांग है कि पीएचसी मेें सरकार या तो चिकित्सक उपलब्ध करवाए नहीं तो इसे ताला लगा दे।  

उल्लेखनीय है कि प्रदेश की सरकार लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने का दम भर रही है परन्तु हकीकत को पैमाने पर रखा जाए तो ढाक के तीन पात हैं यही हाल सोहांसरा के पीएचसी का है जहां पर कथित तौर पर एक भी चिकित्सक नहीं है जिसका खामियाजा शनिवार को एक महिला को डिलीवरी के बाद जान देकर चुकाना पड़ा इस प्रकार की घटना से सिस्टम पर सवाल उठने लाजमी हैं। बता दें कि करीब एक माह पूर्व डिप्टी सीएमओ डा संध्या गुप्ता ने भी लोहारू सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण कर असंतोष व्यक्त किया था उस दिन भी प्रशासन हरकत में आ जाता तो आज एक महिला की जान को बचाया जा सकता था। बहरहाल इस घटना के बाद ग्रामीणों का गुस्सा सातवें आसमान पर है और उन्होंने सोहांसरा की पीएचसी में चिकित्सक भेजने की मांग की है। 

बाक्स: इस घटना के बारे में लोहारू सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की प्रभारी डा कल्पना चतुर्वेदी ने बताया कि उनको सोहांसरा स्थित पीएचसी की स्टाफ नर्स से जानकारी मिली है कि सुबह चार बजे के करीब एक सिंधु देवी नामक महिला निवासी ढाणी कुम्हारान  डिलीवरी के लिए अपने परिजनों के साथ आई थीं बताया डिलीवरी होने के बाद उसकी बेचैनी बढ़ गई जिसके बाद महिला को भिवानी के लिए रेफर कर दिया गया जहां बीच रास्ते में महिला की मौत हो गई भिवानी पहुंचने पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया गया जहां से मृतक महिला का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को दे दिया गया है। महिला की मौत के कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोट आने के बाद ही पता चल पाएगा। उन्होंने बताया कि स्टाफ नर्स ने उनको बताया कि महिला के इससे पहले तीन बेटियां थी और आज भी चौथी संतान बेटी के रूप मेेें पैदा हुई जिसके कारण वह सदमे में थी। 

बाक्स: पीएचसी सोहांसरा के चिकित्सक पंकज कुमार से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने बताया कि वे डेपुटेशन पर भिवानी अपनी सेवाऐं दे रहेे हैं इसे बारे में उनके पास कोई जानकारी नहीं हैं इसके बारे मेें सीएचसी लोहारू की इंचार्ज डा कल्पना चतुर्वेदी से बात की जाए। बता दें कि सोहांसरा के चिकित्सक कई दिनों से डेपुटेशन पर भिवानी हैं उनके यहां से डेपुटेशन होने के बाद चिकित्सक का पद खाली पड़ा है जिसे ग्रामीणों ने शीघ्र्र भरने की मांग की है।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

राज्यपाल ने "प्राचार्य आवास" का किया उद्घाटन ।

फरीदाबाद पहुंचे प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त -लोकसभा चुनाव को लेकर अधिकारियों के साथ की समीक्षा

दो दिवसीय वॉलीवाल प्रतियोगिता के पहले दिन लडकियों की प्रतियोगिता करवाई

कुताना--शवों को रखकर धरना-प्रदर्शन करते हुए रिफाइनरी अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की

विकास उर्फ पिंटू हत्याकांड :- आज तक भी नही थमे परिजनों के आंसू, रो-रोकर पत्नी का भी हाल बेहाल

हर व्यक्ति में देश के प्रति सच्चा जनून होना चाहिए :-राजेश वशिष्ठ

लिंग जांच की सूचना दे, दो लाख का ईनाम ले

करनाल पुलिस से मुठभेड़ में 05 लाख का ईनामी बदमाश ढ़ेर

गुहला के बदसूई में मंदिर-गुरुद्वारे की दीवार को लेकर खूनी संघर्ष, एक की मौत, 18 घायल

बच्चे बच्चे के दिल में तूफान होना चाहिए,,,,,, एक शाम शहीदों के नाम कार्यक्रम से गूंजा नरवाना ठंडी हवाओं में, तारों की छावं में, श्रोताओं ने देर रात तक उठाया आनन्द।