Saturday, April 20, 2019
BREAKING NEWS
22वर्ष पुराने सामूहिक हत्याकांड में विधायक दोषी,हुई उम्र कैदजहां सतगुरु आप आ गए वहां साध संगत भी अपने आप पहुंच जाती है : संत बाबा रामसिंह जीभाजपा से रतनलाल कटारिया, राव इंदरजीत सिंह, सुनीता दुज्गल सहित 21 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किएयुवक की संदिग्ध हाल में मौत, शव को लेकर उलझे परिजनलवीस को बस से उतारा और उसका अपहरण कर फरार हो गए। कैथल जिले में पंचायती राज विभाग द्वारा बनाई गई व्यामशालाओं को लेकर उठे रहे सवाल !क्या कार्यवाही करेगा चुनाव आयोग , सुनीता दुग्गल के रोड शो में 15 मिनट फंसी रही गर्भवती को ले जा रही एंबुलेंस,?सतीश राज देशवाल ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर किया नामांकन दाखिल जनता की अदालत में फैसला अभी बाकी है स्वाति यादव ने भाजपा व कांग्रेस का वोट समीकरण बिगाड़ा

Haryana

गुहला के बदसूई में मंदिर-गुरुद्वारे की दीवार को लेकर खूनी संघर्ष, एक की मौत, 18 घायल

March 23, 2019 07:51 PM
राजकुमार अग्रवाल

गुहला  के बदसूई में मंदिर-गुरुद्वारे की दीवार को लेकर खूनी संघर्ष, एक की मौत, 18 घायल
 कैथल(राजकुमार अग्रवाल ) गुहला के गांव बदसूई में गुरुद्वारे व मंदिर की दीवार बनाने को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और 18 से ज्यादा लोग घायल हैं। तनाव के मद्देनजर गांव में भारी पुलिस बल भी तैनात है। इस बीच, मंदिर पक्ष के 35 लोगों के खिलाफ हत्या व मारपीट का मामला दर्ज किया गया है। पूर्व सरपंच ओमप्रकाश व उसके दोनों बेटों को गिरफ्तार कर लिया है। कई लोगों को हिरासत में लेकर अन्य आरोपियों के लिए पुलिस छापेमारी कर रही थी।इस मंदिर व गुरुद्वारे की एकता की मिसाल आसपास के गांवों में दी जाती थी।

 

 

 

 

 

मंदिर में धर्मशाला का कमरा बनाने के लिए सांसद निधि से पांच लाख रुपये की ग्रांट मिली थी। इसके बाद अलग परिसर की बात शुरू हुई थी। तीन नंबरदार व वर्तमान सरपंच की चार सदस्यीय कमेटी गठित की गई।कमेटी ने कई पंचायतों के बाद 110 फीट जमीन गुरुद्वारे व 90 फीट मंदिर के लिए तय कर दी और कमेटी ने दीवार निकालने की निशानदेही के लिए सफेदी भी डाल दी थी, लेकिन मंदिर पक्ष के लोगों ने फैसला मानने से इनकार करते हुए रातों रात नई जगह पर खोदाई कर दीवार की नींव भर दी। इसके बाद जब गुरुद्वारा में एक पक्ष के 15 से 20 लोग बैठक कर रहे थे तो दूसरे पक्ष ने हमला कर दिया।

 

 

 

 

खूनी संघर्ष में गंभीर रूप से घायल संदीप सिंह, मनप्रीत सिंह, प्रताप सिंह, शमशेर सिंह, रणजीत सिंह, कर्मजीत सिंह, जगमेल सिंह, बलजीत सिंह, चरण सिंह, दवेंद्र सिंह, सर्वजीत सिंह, अमित, रविंद्र, शिव शंकर, जय नारायण, देव राज, अजय व महिंद्र को इलाज के लिए कैथल रेफर किया गया है। वहीं शमशेर सिंह को इलाज के लिए गुहला से पटियाला रेफर किया गया था जहां निजी अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

 

 

 


गांव में खाली पड़ी 26 मरले जमीन पर मंदिर व गुरुद्वारा बनाने की बात आई तो पूरे गांव ने मिलकर दान दिया था। दोनों का निर्माण एक साथ शुरू हुआ और एक साथ ही पूरा हुआ। गांव में सिखों की आबादी बहुत कम है, लेकिन ग्रामीणों की श्रद्धा इतनी है कि मंदिर में माथा टेकने गए लोग गुरुद्वारे में भी शीश नवां आते हैं। गुरुद्वारे गए लोग मंदिर में भी पूजा करके आते हैं।

Have something to say? Post your comment

More in Haryana

जहां सतगुरु आप आ गए वहां साध संगत भी अपने आप पहुंच जाती है : संत बाबा रामसिंह जी

युवक की संदिग्ध हाल में मौत, शव को लेकर उलझे परिजन

लवीस को बस से उतारा और उसका अपहरण कर फरार हो गए।

कैथल जिले में पंचायती राज विभाग द्वारा बनाई गई व्यामशालाओं को लेकर उठे रहे सवाल !

क्या कार्यवाही करेगा चुनाव आयोग , सुनीता दुग्गल के रोड शो में 15 मिनट फंसी रही गर्भवती को ले जा रही एंबुलेंस,?

सतीश राज देशवाल ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर किया नामांकन दाखिल

अखबार सप्लायर के साथ मारपीट व लूटपाट कर जान से मारने की धमकी

कैथल-जब सिर पर छत ही नहीं रहेगी तो कैसा मतदान, कैसा लोकतंत्र ?चुनाव बहिष्कार की चेतावनी

सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के आरोप में एक महिला नामजद व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज महिला चिकित्सक ने लगाया आरोप, आरोपियों ने झूठा मैडिकल बनाने का डाला था दबाव

भाजपा नेता ओंकार ने लोकसभा प्रत्याशी नायब सैनी के पक्ष में किया प्रचार प्रदेश सरकार द्वारा लागू ग्रामीण विकास योजनाओं से गावों में आया सकारात्मक परिवर्तन :- संदीप ओंकार