Saturday, April 20, 2019
BREAKING NEWS
22वर्ष पुराने सामूहिक हत्याकांड में विधायक दोषी,हुई उम्र कैदजहां सतगुरु आप आ गए वहां साध संगत भी अपने आप पहुंच जाती है : संत बाबा रामसिंह जीभाजपा से रतनलाल कटारिया, राव इंदरजीत सिंह, सुनीता दुज्गल सहित 21 प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किएयुवक की संदिग्ध हाल में मौत, शव को लेकर उलझे परिजनलवीस को बस से उतारा और उसका अपहरण कर फरार हो गए। कैथल जिले में पंचायती राज विभाग द्वारा बनाई गई व्यामशालाओं को लेकर उठे रहे सवाल !क्या कार्यवाही करेगा चुनाव आयोग , सुनीता दुग्गल के रोड शो में 15 मिनट फंसी रही गर्भवती को ले जा रही एंबुलेंस,?सतीश राज देशवाल ने आजाद उम्मीदवार के तौर पर किया नामांकन दाखिल जनता की अदालत में फैसला अभी बाकी है स्वाति यादव ने भाजपा व कांग्रेस का वोट समीकरण बिगाड़ा

Madhya Pradesh

10 के सिक्के नहीं लेने पर एफआईआर—-आरबीआई के टोल फ्री नंबर 144040

March 23, 2019 09:47 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

10 के सिक्के नहीं लेने पर एफआईआर—-आरबीआई के टोल फ्री नंबर 144040
बिजली बिल जमा करने के दाैरान सिक्के नहीं लेने का मामला, व्यापारी सिक्कों की पोटली लेकर पहुंचा थाने

होशंगाबाद——बिजली कंपनी के एक जूनियर इंजीनियर द्वारा बिल वसूली के दौरान 10 के सिक्के लेने से इंकार करने का मामला सामने आया।

सरकारी अधिकारी के इस रवैये के नाराज बिल जमा करने को तैयार पीड़ित युवक सिक्कों से भरी पोटली लेकर थाने पहुंच गया। फेफरताल पिंक एवेन्यू कॉलोनी के सामने अजय सिंह चौहान किराए पर आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स दुकान चलाते हैं।

अजय के मुताबिक बिजली बिल 5, 719 रुपए आया। सोमवार को जूनियर इंजीनियर अजय कुमार उइके और लाइन स्टाफ बिल वसूलने पहुंचे। संचालक अजय सिंह चौहान ने बिजली बिल की राशि 3500 रुपए के नोट और करीब 2500 के 10 और 5 रुपए के सिक्के दिए। लेकिन जेई अजय उइके ने सिक्के लेने से इंकार कर दिया और कनेक्शन काट दिया गया।

अजय चौहान ने बताया बिजली कनेक्शन कटने से दुकान में रखा सामान सहित आईसक्रीम खराब हो गई करीब 3 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।

देहात थाना टीआई दिनेश कुमार चौहान ने बताया बिजली बिल जमा करने के दौरान सिक्के नहीं लेने का मामला सामने आया है।

बिजली बिल दुकान मालिक दुलारी बाई के नाम पर था।

अजय सिंह चौहान ने किराए से दुकान ले रखी हैं। दुलारी बाई का दो महीने पहले निधन हो गया है। दो महीने से बिल जमा नहीं हुआ था। सोमवार को जेई अजय उइके वसूली करने पहुंचे थे।

बिल की वसूली दुकान मालिक से होनी चाहिए थी, लेकिन वे दुकानदार के पास पहुंच गए।

दुकान संचालक से बिल की राशि में सिक्के दिए तो सिक्के नहीं लेने पर स्थिति बिगड़ गई। 5 हजार का बिजली बिल था। पहले उन्होंने जमा करने से मना कर दिया। बाद में 10 रुपए के सिक्के देने लगे। हम तो बिल वसूली का काम ही कर रहे थे। फिर दुकानदार ने इंकार कर दिया। अजय कुमार उइके, जेई

दो महीने का था बिल

जेई को बिल वसूलने के अधिकार नहीं होते, कंपनी ने बिल वसूली के लिए एमआर कट्टे की व्यवस्था की है। इससे स्पॉट पर बिजली बिल की वसूली की जाती है। वह लाइन स्टॉफ को दिए गए हैं।

हाकम सिंह बाथम, एई, जोन-1

Have something to say? Post your comment

More in Madhya Pradesh

जमीनी विवाद को लेकर कलयुगी पुत्र ने की पिता की हत्या

भाजपा प्रत्याशी बीडी शर्मा खजुराहो लोकसभा से आज करेंगे नामांकन दर्ज

समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी वीर सिंह पटेल आज भरेंगे नामांकन

आम चुनाव 2019 के बैनर तले हुआ मतदाता जागरूकता अभियान का शुभारम्भ

मध्यप्रदेश व उत्तरप्रदेश की महत्वपूर्ण केन बेतवा लिंक परियोजना अटकी आधार में

शहर के पाश कॉलोनी में अवैध हथियार की चल रही फेक्टरी पर पुलिस का छापा

पुस्तक दुकान संचालक बच्चों को बेचता था बाइटनेर, जिससे बच्चे हो नशे के आदि

विधायक जी ने नगर के 4 बार्डो में लगाई जन चोपाल, जनता की परेशानीयो से हुए रूबरू

खजुराहो के लोकसभा सीट से कांग्रेस से कविता राजे के खिलाफ भाजपा को ढूंढे नहीं मिल रहे प्रत्यासी

किरण अहिरवार के पक्ष में पूर्व कलेक्टर व्हीके बाथम करेंगे प्रचार