Saturday, December 15, 2018
Follow us on
Literature

शिव मंदिर में गुरुवार को हवन-यज्ञ के साथ मूर्ति प्राण-प्रतिष्ठा हुई

तोशाम विष्णु दत्त शास्त्री | May 04, 2017 05:28 PM
तोशाम विष्णु दत्त शास्त्री

शिव मंदिर में गुरुवार को हवन-यज्ञ के साथ मूर्ति प्राण-प्रतिष्ठा हुई
तोशाम ((विष्णु दत्त शास्त्री))। शिव मंदिर में गुरुवार को हवन-यज्ञ के साथ मूर्ति प्राण-प्रतिष्ठा हुई व कस्बे में ढोल-नगाडों के साथ धूमधाम से कलश-यात्रा निकाली गई।
कस्बे के सिवानी रोड पर विकास नगर में स्थित शिव मंदिर में गुरुवार को पं. रामकिशन पुजारी के सान्निध्य में राम-दरबार, मां सरस्वती, खाटू श्याम जी महाराज व शनिदेव की मूर्ति प्राण-प्रतिष्ठा हुई। इससे पूर्व कस्बे में कलश-यात्रा के साथ प्रतिमाओं की शोभा यात्रा निकाली गई व मंदिर प्रांगण में ज्योतिषाचार्य पं. कुंजबिहारी शास्त्री ने वेदमंत्रोच्चारण के साथ हवन-यज्ञ करवाया व विधि-विधान सहित विभिन्न प्रतिमाओं को विराजमान किया। जिसमें सैंकडों श्रद्धालुओं ने आहूति डालकर धर्म लाभ उठाया। महिला एवं बाल विकास विभाग में आंगनबाडी सुपरवाईजर के पद पर कार्यरत मंदिर संचालक दर्शना देवी व जयबीर मालवाल ने बताया कि मंदिर में शिवशंकर भगवान, बजरंग बली हनुमान, माता शेरांवाली, शिवलिंग व शिव परिवार की प्रतिमाएं पहले से विराजमान थी। अब उनके द्वारा राम दरबार, जगदीश मालवाल व योगेंद्र मालवाल के द्वारा मां सरस्वती, शीला नर्स व लोकांत के द्वारा खाटू श्याम महाराज व विकास नगर के समस्त वासियों ने शनिदेव की प्रतिमा स्थापित करवाई है। इस मौके पर महिलाओं ने ढोल-नगाडों की थाप पर नृत्य किया व रंग-गुलाल के साथ जमकर खुशीयां मनाई। इस अवसर पर पं. रामकिशोर शर्मा, पं. पुनीत शुक्ला, योगेंद्र मालवाल, जयबीर मालवाल, विकास शर्मा, शीशराम उर्फ शीशु, सुनीता, शीला नर्स, सावित्री, शांति देवी आदि सहित अनेक महिलाएं एवं श्रद्धलुगण उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
More Literature News
बोले सो निहाल-सत श्री अकाल धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया
हजरत इलाही बू अली शाह कलंदर साहिब की दरगाह पर इन्द्री में चल रहें सालाना उर्स मुबारक व भंडारे पर आज एक विशेष शोभा-यात्रा
पूर्वाचलियों को छठ पूजा की बधाई देने आधा दर्जन स्थानों पर पहुंचे मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार
15 नवंबर को मनाया जाएगा शाह कलंदर का सालाना उर्स
5 नवंबर से दीवाली के पंच पर्व आरंभ
बुढ़ापा अनुभवों का वो पीटारा है जो बहुत चोटें खाने के बाद ही मिलता है: अचल मुनि 2
सोनीपत-बाबा जिन्दा मेले में हजारों भक्तों ने माथा टेका
सत्संग से हमारा मन भगवान की याद में रम जाता है- ब्रहमचारिणी साध्वी ऋषि महाराज
गीता में मनुष्य जीवन का रहस्य छिपा-स्वामी ज्ञानानंद
श्रद्धालुशक्तिपीठ श्रीदेवीकूप भद्रकाली मंदिर में विशाल भगवती जागरण संपन्न