Wednesday, September 19, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
हरियाणा में सता का फाईनल बेशक दूर लेकिन सेमीफाईनल करीब,निगाहें अरविन्द केजरीवाल के इस दौरे पर टिकीगैंगरेप की घटना को लेकर इनसो के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने किया विरोध-प्रदर्शन, जताया रोषPartapgarh- खुुुलेे में शौच मुक्ति दिवस के रुप में मनाया गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिनश्यामपुरा में दो दिवसीय खंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता संपन्नसब जूनियर नेशनल बॉक्सिंग प्रतियोगिता में सतनाली के खिलाडिय़ों ने जीते 2 सिल्वर, 1 ब्रॉन्जदरिंदगी की शिकार हुई छात्रा को न्याय दिलाने के लिए महाविद्यालय के विद्यार्थी उतरे सडक़ों पर25 सितंबर को मनाए जाने वाले सम्मान समारोह को लेकर चलाया जनसंपर्क अभियानमहम के गांव मेंऑनर किलिंग का मामला जला रहे थे लड़की का शव,ऑनर किलिंग का शक
Entertainment

हिंदी और मराठी फिल्मों की अदाकारा- रीमा लागू कानिधन

लाल बिहारी लाल | May 18, 2017 04:40 PM
लाल बिहारी लाल

हिंदी और मराठी फिल्मों की अदाकारा- रीमा लागू कानिधन
लाल बिहारी लाल
नई दिल्ली। हिंदी औरमराठी फिल्मों की अभिनेत्री रीमा लागू का जन्म एक मराठी परिवार में नागपुर में1958 में हुआ था। इनकी माता मंदाकनी भदभड़े मराठी थियेटर की जानी मानी अभिनेत्रीथी। रीमा के बचपन का नाम नयन भदभड़े था। इनकी शिक्षा स्थानीय हाई स्कूल में हीहुई। इन्होनें बाल कलाकार के रुप में 9 फिल्में कर ली। इनके परिवार वाले आगे पढ़ानाचाहते थे पर पारिवारिक माहौल के कारण ही ये अभिनेभी बन गई। सन 1870-80 के दशक मेंमराठी थियेटर के कलाकार विवेक लागू से इनकी शादी हुई ।इन्होंने शादी के बाद अपनानाम बदलकर रीमा लागू कर लिया।
उन्होने1980 में कलयुग,आक्रोश,नासुर आदि जैसी फिल्मे की पर समय से पहले ही बालीवूड के निर्देशकोंने इन्हें माँ बना दिया जिसका मलाल इन्हें मरते दम तक रहा। माँ की भूमिका में कुछप्रमुख फिल्में रही उनमें- मैने प्यार किया, आशिकी, साजन, हम आपके हैं कौन, वास्तव,कुछ-कुछ होता है, कल हो ना हो, हम सब साथ-साथ आदी है। इन्होनें हिन्दी धारावाहिकोंमें भी काफी काम किया है – उनमें- 1985 में खानदान,1994 में डी.ड़ी. नेशनल औऱ सबटी.वी. पर प्रसारित श्रीमान-श्रीमती में कोकिलायानी की कोकी की यादगार भूमिका जिससे इनकी पहचान भारत के हर घर मे होने लगी। फिर1994-2000 तक डी.ड़ी नेशनल औऱ स्टार प्लस पर प्रसारित धारावाहिक में देविका वर्मा की भुमिका में काफी मशहूर हुईजिसके लिए इन्हें पहला टी.वी पुरस्कार का बेस्ट अदाकारा का पुरस्कार मिला। फिर1997 में जी टी.वी के लिए दो और दो पाँच की फिर धड़कन अभी वर्तमान में नामकरण मेंदमयंती मेहता की भूमिका निभा रही थी। रीमा अपने फिल्मीं कैरियर में 95 से ज्यादा फिल्में की। आज रीमाभौतिक रुप से दिल का दौड़ा पड़ने के कारण हमलोगों के बीच नहीं रही पर अपने अदाकारीके दम पर आज भी हर भारतीय के दिलों में जिंदा है।

Have something to say? Post your comment
More Entertainment News
उम्र के आखिरी पड़ाव में समझ आई प्यार की कीमत, ‘‘द लास्ट डिसीजन’’ने दिया संदेश
स्कूलो में बच्चों की एक कलास थियेटर की भी लगनी चाहिए- अभिनेता यशपाल शर्मा।
बहु ने कहा-मेरे ससुर ने मुझे वो दिया जो पति नही दे पाया, सुहागरात से अबतक ससुर ही मेरे काम आए…?
नचले इंडिया 3 के नेशनल लेवल का हुआ आयोजन।
हरियाणवी हास्य कलाकार झंडू ने जागरण में जमाया रंग
आ देखें जरा किसमें कितना है दम जल्दी ही आदर्श स्कूल का रणदीप दिखेगा टीवी पर
नरवाना,वेदांता इन्टरनैशनल स्कूल में ड्राईंग प्रतियोगिता का आयोजन।
नानक शाह फकीर फिल्म की रिलीज ना किए जाने की मांग को लेकर सिख समाज ने सौंपा ज्ञापन
जींद की दीवान बाल कृष्ण रंगशाला में हुआ जानी चोर सॉग का शानदार प्रदर्शन
पर्वतारोही सचिन बेस्ट यूथ अवार्ड से सम्मानित