Tuesday, August 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
बकरीद के त्योहार को शान्तिपूर्ण ढंग से मनायें, अफवाहो पर न दे ध्यान-जिलाधिकारीअमेठीः समय से आय जाति निवास में लेखपाल नहीं लगा रहे रिपोर्ट, स्कॉलरशिप से छूट सकते हैं छात्रझूठे झमेले फैलाकर समाज में फूट डालने का कार्य कर रहे हैं नशाखोर भगवांधारीगांव जाट में किया गया मेले का आयोजन, विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं संपन्ननरवाना-दो हजार ने नशा को की ना, नशा न करने का लिया संकल्पशिरोमणी अकाली दल हरियाणा में सत्ता का दावेदार बनेगारावमावि सतनाली में आर्य समाज द्वारा किया गया विशाल हवन का आयोजनपानीपत रैली को लेकर चलाया जनसंपर्क अभियान, ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुंचने की कि अपील
Madhya Pradesh

शासन के आदेशों की उड़ रही है धज्जियां

निर्णय तिवारी | June 05, 2017 04:57 AM
निर्णय तिवारी
शासन के आदेशों की उड़ रही है धज्जियां
जिला पंचायत में नियम विरुद्ध तरीके से टीओ लिए है प्रभार
विनोद अग्रवाल
छतरपुर।  मप्र शासन के पंचायत ग्रामीण विकास विभाग द्वारा जो नियम बनाए गए हैं उन नियमों को ताक में रखकर जिला पंचायत में पदस्थ लेखा अधिकारी राजेश गुप्ता को पंचायत विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। जबकि नियम यह है कि प्रदेश के सभी 51 जिलों में सीईओ जिला पंचायत के अधीन अतिरिक्त सीईओ पंचायत विभाग की सभी हितग्राही मूलक योजना एवं ग्राम पंचायतों का नोडल अधिकारी बनाया गया है। बिना अतिरिक्त सीईओ के कोई भी फाइल सीईओ के पास नहीं जाना चाहिए। परंतु छतरपुर जिले में शासन के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जिला पंचायत के पूर्व सीईओ सत्येन्द्र सिंह ने अपने कार्यकाल में शासन के आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए जिला पंचायत में पदस्थ लेखा अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया था। तभी से यह अधिकारी लगातार ग्राम पंचायत एवं जिला पंचायत में संचालित सभी योजनाओं की फाइलों को डील कर रहा है और अतिरिक्त सीईओ एबी खरे कार्यालय में घास छील रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस संबंध में पंचायत विभाग के प्रमुख सचिव बीके बाथम को इसकी जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा जिला पंचायत में किया जा रहा है तो वह नियम के विरुद्ध है। सागर संभाग के सभी जिलों में जिला पंचायत सीईओ के बाद नोडल अधिकारी अतिरिक्त सीईओ को बनाया गया है। पन्ना में अतिरिक्त सीईओ अशोक चतुर्वेदी सागर में अतिरिक्त सीईओ श्रीमती मंजू खरे नोडल अधिकारी के बतौर काम कर रही हैं। यही नहीं सागर में तो जिला पंचायत सीईओ के छुट्टी जाने पर प्रभार अतिरिक्त सीईओ को दिया गया था।सवाल यह उठता है कि सागर संभाग के केबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव पंचायत एवं गामीण विकास के मंत्री हैं और उनके संभाग में ही उनके विभाग के द्वारा बनाई गई गाइड लाइन की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जिला पंचायत के लेखा अधिकारी राजेश गुप्ता इस समय पूरा फीलगुड करने में लगे हुए हैं। जिला पंचायत के बाबुओं का कहना है कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। नए जिला पंचायत के सीईओ से लोगों की आशा है कि वह नियम के अनुसार ही काम करेंगे। अब देखना है कि समाचार छपने के बाद क्या असर होता है। 
Have something to say? Post your comment
More Madhya Pradesh News
इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर की छात्राओं ने दिया बिजली बचाने का संदेश ।
नगर में पर्याप्त भीषण पेयजल संकट के लिए जिम्मेवार कौन?
जिले में बिगडती कानून व्यवस्था पर अंकुश लगाने एसपी ने किए थोकबंद तबादले
44 वर्ष पुराने खजुराहो नृत्योतसव अतिथियों को तरस रहा है.....!!! बर्षो बाद राज्य पाल ने किया शुभारंभ
सूखाग्रस्त बुंदेलखंड के जख्मों पर गीत-संगीत के नाम पर किसानो से किया गया छल
सार्वजनिक स्थानों को गंदा करने पर हो सकती है कड़ी कार्यवाही
भाजपा जिला अध्यक्ष ने इलाज के लिये दी आर्थिक मदद
नैगुवां सरपंच के इशारे पर प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि निकाली प्रधानमंत्री आवास योजना में खुलकर किया जा रहा है भ्रष्टाचार हो रही है धांधली
बुन्देलखंड,बेशकीमती महल पर प्राइवेट कंपनी का कब्जा, क्षेत्रवासियों ने की कार्यवाही मांग