Thursday, June 21, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
योग का नहीं किसी जाति धर्म से लेना देना - प्रभारी मंत्री, योग करने से होता है शारीरिक व मानसिक विकास- डीएम अमेठीघरौंडा जनस्वास्थ्य विभाग अधिकारियों के पसीने छूट , जताई मांगों पर सहमतिभारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा द्वारा नरवाना मण्डल में पौधारोपण का कार्यक्रम किया गया जींद-पति समेत पांच लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीडऩ का मामला दर्ज फिर हंगामेदार रही नगरपालिका की बैठक -विकास न होने से खफा पार्षद को विरोध करना पड़ा मंहगा नरवाना युवा कांग्रेस ने फल बांटे मेला मंडी में योगाभ्यास की पायलट रिहर्सल मंगलवार को सम्पन्न हुई। चीका -विधायक बाजीगर पर लगाया चेयरपर्सन की कुर्सी हिलाने की साजिश रचने का आरोप
World

जल संरक्षण व्यवस्था को बढ़ावा देने की भी जरूरत:-राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन

November 18, 2016 06:29 PM

बागवानी सहित कईं क्षेत्रों में भारत और इजराईल मिलकर कर रहे है
काम--बागवानी के क्षेत्र में इजराईल पद्धति को तेजी से अपना रहा है
हरियाणा प्रदेश-
-जल संरक्षण व्यवस्था को बढ़ावा देने की भी जरूरत:-राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन
राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन ने शुक्रवार को किया घरौंडा सब्जी उत्कृष्टता
केन्द्र का दौरा--मीडिया के साथ किया संवाद--इजराईल तकनीक से तैयार की जा
रही पौध को देखकर हुए गदगद--उत्कृष्टता केन्द्र में किया पौधारोपण--जिला
प्रशासन द्वारा किये गए थे सुरक्षा के चाक चौबंद प्रबंध।
घरौंडा: प्रवीण कौशिक
  बागवानी,सामरिक,सिंचाई,कृषि,व्यापार तथा संस्कृति को बढ़ावा देने के
क्षेत्र में भारत और इजराईल संयुक्त रूप से काम कर रहे है। दोनों सरकारों
के संबंध बहुत मधुर है। दोनों देश न केवल सरकारी स्तर पर आगे बढ़ रहे है
बल्कि दोनों देशों के लोग भी एक दूसरे को अच्छी तरह से समझते हुए
व्यापारिक तथा अन्य क्षेत्रों में बेहतरीन काम कर रहे है। यह अभिव्यक्ति
इजराईल के राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन ने शुक्रवार को घरौंडा के सब्जी
उत्कृष्टता केन्द्र में यादगार पट्ट के अनावरण उपरांत उच्च तकनीकी ग्रीन
हाउस में मीडिया से संवाद करते हुए व्यक्त की। रिवलिन ने कहा कि
कृषि,बागवानी सहित अन्य क्षेत्रों में इजराईल के पास बेहतरीन आधुनिक
तकनीक है। इस तकनीक को अपनाने में हरियाणा प्रदेश ने भी अच्छी पहल की है।
हरियाणा प्रदेश अन्य राज्यों को ऐसी उच्च तकनीक सिखाने की क्षमता रखने
लगा है। उन्होंने कहा कि अन्य क्षेत्रों में भी इजराईल सरकार भारत का
सहयोग कर रही है। दुनिया के दूसरे देशों को भी चाहिए कि वे आधुनिक तकनीक
का लाभ लेने और उच्च तकनीक अपनाने के लिए आगे बढक़र काम करें।
 राष्ट्रपति रिवलिन ने इंडो-इजराईल प्रोजेक्ट के सफल आयोजन के लिए प्रदेश
की सरकार व किसानों को बधाई दी और कहा कि इजराईल की नई तकनीक का लाभ
उठाकर हरियाणा प्रदेश आगे बढ़ रहा है। बागवानी के क्षेत्र में प्रदेश में
हुए विकास को लेकर भी राष्ट्रपति ने प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि
हरियाणा राज्य में इजराईल के रूप में ही बागवानी प्रौद्योगिकी का विकास
हुआ है।

 

इजराईल प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए हरियाणा के किसानों ने
तेजी दिखाई है और इससे बड़े पैमाने पर बदलाव नजर आया है। इससे पूर्व
उन्होंने हाईटेक ग्रीन हाउस का दौरा किया,जहां उन्होंने इंडो-इजराईल
तकनीक के माध्यम से किसानों के लिए बीज उत्पादन विधि के बारे में जाना।
इसके बाद राष्ट्रपति ने टनल न०-5 में जाकर घिया और खरबूजे इत्यादि के
उत्पादन संबंधी विषय को लेकर तकनीकी जानकारी सांझा की। अपने निर्धारित
कार्यक्रम के अनुसार राष्ट्रपति रिवलिन और उनकी पत्नी निचेमा रिवलिन ने
भारत की अध्यात्मिक संस्कृति के प्रतीक रूद्राक्ष का पौधा लगाया।
कहा धनखड ने-
इस मौके पर कृ षि मंत्री ओ.पी.धनखड़ ने कहा कि इजराईल खेती के मामले में
अग्रणी देशों में से एक है। हरियाणा प्रदेश ने इजराईल पद्धति को अपनाया
है। इस पद्धति के आधार पर हरियाणा में पांच विभिन्न प्रकार के उत्कृष्टता
केन्द्रों की स्थापना हो चुकी है ,जिनमें सब्जी उत्कृ ष्टता केन्द्र
घरौंडा,फल उत्कृष्टता केन्द्र लाडवा,कुरूक्षेत्र के रामनगर में मधुमक्खी
पालन उत्कृष्टता केन्द्र,सिरसा के मंगियाना गांव में फल उत्कृष्टता
केन्द्र,हिसार में डेयरी फार्मिंग उत्कृष्टता केन्द्र शामिल है तथा झज्जर
में जल्दी ही फूलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए उत्कृष्टता केन्द्र की
स्थापना की जाएगी,इसके लिए जमीन का चयन किया जा चुका है। उन्होंने आशा
व्यक्त की है कि भारत और इजराईल के संबंध इसी प्रकार मजबूत होते रहेंगे
और दोनों देश आपसी सहयोग के साथ आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति
का यह दौरा हरियाणा स्वर्ण जयंती उत्सव वर्ष के दौरान इंडो-इजराईल कृषि
कार्य योजना के तहत उत्कृष्टता केन्द्रों के सफल क्रियान्वयन के दृष्टिगत
था। उत्कृष्टता केन्द्र में किसानों को विभिन्न प्रकार के बीज व पौध
उपलब्ध करवाने के लिए पूरी व्यवस्था की हुई है। विभिन्न प्रकार की
सब्जियों के लगभग 40 लाख पौधे तैयार किये जाते है,जो किसानों को सस्ते
भाव में उपलब्ध करवाएं जाते है। यह पौध गुणवत्ता से भरपूर होती है।
ये रहे मौजूद

 
इस अवसर पर खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री कर्णदेव काम्बोज,मुख्य संसदीय सचिव
बख्शीश सिंह विर्क,हैफेड़ के चेयरमैन एवं घरौंडा के विधायक हरविन्द्र
कल्याण, इजराईल के राजदूत डेनियल कैरमन,भारत के राजदूत पवन कपूर,इजराईल
दूतावास में प्रथम सचिव स्पोक्सपर्सन एविगेल सिप्रा, कृषि विभाग के
प्रधान सचिव अभिलक्ष लिखी,बागवानी के महानिदेशक डा०अर्जुन सिंह
सैनी,इंडो-इजराईल प्रोजेक्ट के कृषि सलाहकार डैन अल्फ,आईजी अनिल राव,
जिला प्रशासन की ओर से उपायुक्त मंदीप सिंह बराड़,पुलिस अधीक्षक पंकज
नैन,एडीसी डा०प्रियंका सोनी,एसडीएम योगेश कुमार,नगराधीश सुधांशु
गौतम,मिशन डायरेक्टर बी.एस. सहरावत ,बागवानी के संयुक्त निदेशक रणवीर
सिंह,सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र घरौंडा के उप-निदेशक सतेन्द्र कुमार यादव,
सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।
बॉक्स
इजराईल के राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन ने यादगार शिलान्यास पट्ट के अनावरण
उपरांत सबसे पहले दोनों हाथ हिलाकर उपस्थित लोगों का अभिवादन स्वीकार
किया और फिर दोनों हाथ जोडक़र नमस्ते की। इससे सहज ही ये अनुमान लगाया जा
सकता है कि इजराईल के राष्ट्रपति हमारे देश और समाज की संस्कृति और
सभ्यता के पहलूओं को भी बारीकी से जानते है।
बॉक्स
राष्ट्रपति ने हाईटेक ग्रीन हाउस में पपीता और टमाटर की पौध अपने हाथ में
लेकर उनकी गुणवत्ता देखते हुए सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र की व्यवस्था की
सराहना की तथा टनल हाउस में बेमोसमी खरबूजे की फसल देखी और लगभग पांच
मिनट तक इस टनल हाउस मे रहकर विभिन्न बेमोसमी पौधों के बारे में जानकारी
ली।
बॉक्स
राष्ट्रपति का मधुबन के फुटबाल स्टेडियम में ढोल नगाड़ों,तासे बाजे के
साथ पूरे जोश के साथ स्वागत किया। बीन  और तुम्बे के वादन से निकली संगीत
की स्वर लहरियों ने पूरे माहौल को सराबोर कर दिया। इस दौरान राष्ट्रपति
के साथ आई उनकी पत्नी तथा अन्य अधिकारियों के चेहरें की खुशी देखते ही
बनती थी। सबसे बड़ी बात यह रही कि जिस उत्साह के साथ उनका आगमन के समय
स्वागत किया गया,उसी उत्साह के साथ फु टबाल स्टेडियम से ही उन्हें विदा
किया गया।
बॉक्स
सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र में इजराईल के डा०डैन अल्फ ने भारत में इजराईल
द्वारा चलाये जा रहे बागवानी मिशन तथा अन्य विषयों को लेकर पावर प्वाईंट
प्रेजेंटेशन के माध्यम से विषयगत अवगत कराया। वहीं दूसरी ओर हरियाणा
बागवानी विभाग के महानिदेशक अर्जुन सिंह सैनी ने हरियाणा में भारत और
इजराईल के सहयोग से चल रहे बागवानी के कार्यो बारे पावर प्वाईंट
प्रेजेंटेशन के माध्यम से ही जानकारी दी। इस मौके पर इजराईल के
राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन और उनकी पत्नी निचेमा रिवलिन भी उपस्थित थे।
बॉक्स
इजराईल के राष्ट्रपति रियुवेन रिवलिन ने विजिटर रजिस्टर में लिखा की गोड
ब्लेस द पिपल ऑफ हरियाणा। राष्ट्रपति द्वारा लिखा गया यह संदेश हमारी
संस्कृति और सभ्यता के पहलूओं को प्रदर्शित और परिभाषित करता है। इस
संदेश को काफी लोगों ने पढ़ा और कहा कि राष्ट्रपति हमारी संस्कृति को
पहचानते है।
बॉक्स
हरियाणा सरकार की ओर से कृषि मंत्री ओ.पी.धनखड़,खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री
कर्णदेव काम्बोज,मुख्य संसदीय सचिव बख्शीश सिंह विर्क,हैफेड़ के चेयरमैन
एवं घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण, भारत के राजदूत पवन कपूर,कृषि
विभाग के प्रधान सचिव अभिलक्ष लिखी,बागवानी के महानिदेशक डा०अर्जुन सिंह
सैनी,डीसी मंदीप बराड़,एसपी पंकज नैन ने इजराईल के राष्ट्रपति का स्वागत
किया।

Have something to say? Post your comment
More World News
पकिस्तान भी हरियाणा का दीवाना , स्मार्ट सिटी, कृषि, अवसंरचना विकास और निर्यात के क्षेत्र में गहरी रुचि दिखाई
इंडो कनाडा चेंबर ऑफ कार्मस (ई.सी.सी.सी.) के शिष्टïमंडल ने मनोहर लाल से भेंट की
Logic behind illogical behaviour of Kim Jong
विश्व बैंक रिपोर्ट एक ठंडी हवा का झोंका बनकर आई है
तीन पन्नो का वो गुमनाम पत्र जिसने सन्त गुरमीत राम रहीम जैसे रावण की लंका को फूंक दिया!!
भारत के नेताओ को इस महिला का करारा जबाब श्री नगर के लाल चौंक से , अंगों के प्रत्यारोपण के मामले में भारत दुनिया में दूसरे स्थान पर: डॉ. वाहिद
कोविंद बने भारत के महामहीम
विज ने कहा माफ़ी माँगे न्यूयॉर्क टाइम्ज़
जीवन्ता चिल्डर्न हॉस्पिटल ने विश्व के सबसे कम वजन के शिशु के दिल का सफल ऑपरेशन कर पूरी दुनिया में नया रिकॉर्ड स्थापित किया