Tuesday, October 23, 2018
Follow us on
Literature

महादेव का मामूली जाप करने से होते है कष्ट दूर: गौतम

संजय गर्ग | July 23, 2017 09:06 PM
संजय गर्ग
8 दिवसीय महाशिव पुराण कथा सम्पन्न 
महादेव का मामूली जाप करने से होते है कष्ट दूर: गौतम 
लाडवा, 23 जुलाई(संजय गर्ग): श्री बालाजी शक्तिपीठ धाम में आचार्य स्वामी अखिलेश शास्त्री के सानिध्य में चल रही 8 दिवसीय महाशिवपुराण कथा धूमधाम से सम्पन्न हो गई और एक विशाल भंडारे का भी आयोजन किया गया। 
कथा के अंतिम दिन स्वामी राकेश कुमार गौतम ने अपने प्रवचनों में शिव विवाह का सुंदर वर्णन करते हुए कहा कि हिमालय और मैनावती की पुत्री पार्वती से भगवान शिव का विवाह का पूरा प्रसंग सुनाया। उन्होंने कहा कि भगवान शिव हर प्रकार के जीवो के कष्टों का हरण करते है और धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाले है। उन्होंने कहा कि श्रावण मास में जो व्यक्ति उनका लेशमात्र भी श्रावण कर ले, उसका भोले नाथ तुरंत कल्याण कर देते है। उन्होंने कहा कि भोले नाथ इतने सरल स्वभाव के है कि उन्होंने सांय, बिच्छू, व भूत पे्रतो को भी अपने परिवार में सम्मिलित कर लिया है। इसलिए वह देवीं के देव है। वहीं मंदिर के संचालक आचार्य स्वामी अखिलेश शास्त्री ले कहा कि जिस प्रकार नवरात्रो में दुर्गा मां, कार्तिक मास में विष्णु का महात्मय है उसी प्रकार श्रावण मास में महादेव का महत्व है। उन्होंने कहा कि यदि श्रावण मास में पंचाक्षरी का जाप व रूद्राक्ष धारण किया जाए तो उसे शारीरिक कष्टो से छ¸टकारा मिल जाता है और उसे अर्थ की प्राप्ति होती है। कथा की समाप्ति के बाद विश्व कल्याण हेतू हवन किया गया और एक विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। जिसमें सैकड़ो श्रद्वालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर प्रबंधक जितेन्द्र शास्त्री  अमित धीमन, बुधराम, हरीन्द्र सिंघल, रमेश शर्मा, जितेन्द्र नाथ, राजबीर सिंह, सतपाल आहूजा, विजय गोयल, विजय मितल, अरविंद सिंह, त्रिलोकी नाथ गर्ग, सोहन लाल, कृष्णा गोयल, भावना शर्मा, संगीता ढ़ीगड़ा, आशा ढ़ीगड़ा, शिवानी गर्ग, रजनेश कुमारी सहित भारी संख्या में श्रद्वालु उपस्थित थे। 
Have something to say? Post your comment
More Literature News
सोनीपत-बाबा जिन्दा मेले में हजारों भक्तों ने माथा टेका
सत्संग से हमारा मन भगवान की याद में रम जाता है- ब्रहमचारिणी साध्वी ऋषि महाराज
गीता में मनुष्य जीवन का रहस्य छिपा-स्वामी ज्ञानानंद
श्रद्धालुशक्तिपीठ श्रीदेवीकूप भद्रकाली मंदिर में विशाल भगवती जागरण संपन्न
नवरात्रों के 6वे दिन श्रद्धालुओं ने की माँ भगवती की आराधना
ओंकार महायज्ञ में बैठने से नहीं आता कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट : शक्तिदेव
काली कमली वाला मेरा यार है, मेरे मन का मोहन तू दिलदार है
कैसे और कब मनाएं श्रीमहाशिवरात्रि 13 या 14 फरवरी को ?
एक पर्व के लिए दो-दो तिथियां भविष्य नहीं आएगी सामने
श्रीमद् भागवत कथा में दिखाया कृष्ण-सुदामा चरित्र नेकी कर दरिया में डाल: गोस्वामी