Wednesday, January 16, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
गोंडा-टीम को उत्क्रिस्ट कार्यो के लिए किया गया सम्मानितसरकार ने भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कारवाही नहीं की तो हरियाणा बंद किया जाएगा - बजरंग गर्गगोंडा-जिला निर्वाचन अधिकारी ने वोटर्स अवेयरनेस फोरम की किया लान्चिंगलीपापोती -पीड़िता के पति को नहीं मिल रहा न्याय मृतक के पास 3 बच्चे भी जींद चुनाव में मांगे राम गुप्ता सबसे बड़ा चेहरा ,,पार्टियों के उम्मीदवार शून्यदेखे -विडिओ --इनैलो -बसपा को लिया मतदाताओं के आड़े हाथों जींद में इनेलो को बड़ा झटका, दलबीर खरब ने इनेलो छोड़ जेजेपी का थामा हाथमोदी के 11 मंत्रियों में से 7 पर हार का खतरा ?2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तरप्रदेश में
Madhya Pradesh

राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को मुख्य सचिव रोक पाएंगे?

निर्णय तिवारी | August 11, 2017 05:19 AM
निर्णय तिवारी
राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को मुख्य सचिव रोक पाएंगे?
 
छतरपुर/ मप्र के  मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह संभाग में राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर राजस्व प्रकरणों के मामलों की समीक्षा कर रहे हैं। परंतु वह राजस्व विभाग में हो रहे भ्रष्टाचार को क्या रोक पाएंगे। वर्षों से राजस्व अधिकारियों को जो भ्रष्टाचार की दांड लगी हुई है वह उस भ्रष्टाचार को मुख्य  सचिव की समीक्षा बैठक के बाद समाप्त हो पाएगी यह सवाल आम जनता प्रदेश के मुख्य सचिव से कर रही है। प्रदेश स्तर पर यह मामला विधायकों और प्रदेश के केबिनेट मंत्रियों ने स्वयं उठाया था कि राजस्व विभाग में छोटे छोटे कामों के लिए आम जनता को परेशान होना पड़ता है और तहसीलों में बिना पैसे के कोई भी काम नहीं होता है।यह सारा मामला प्रदेश के मुख्यमंत्री के संज्ञान में आने के बाद मु य सचिव ने थाना की राजस्व मामलों की संभागीयबार समीक्षा की जाना अति आवश्यक है उसी के तहत  मुख्य  सचिव ने सर्वप्रथम भोपाल संभाग की समीक्षा की और भोपाल संभाग के आने वाले सभी जिलों के कलेक्टर व कमिश्रर सहित समीक्षा बैठक की और निर्देश दिए कि राजस्व मामलों के लंबित प्रकरणों का निराकरण एक माह के अंदर हर हाल में हो जाना चाहिए। आज प्रदेश के मुख्य सचिव सागर संभाग में पांचों जिलों के कलेक्टरों की समीक्षा कर रहे हैं और उनके साथ प्रमुख सचिव स्तर के कई अधिकारी भी इस समीक्षा बैठक में शामिल होंगे। जिलेवार राजस्व विभाग केलंबित प्रकरणों की समीक्षा होगी। जिसमें पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर, दमोह एवं सागर जिले शामिल हैं। इस समीक्षा बैठक को देखते हुए सभी जिलों के कलेक्टरों ने राजस्व प्रकरणों की समीक्षा की है और काफी राजस्व प्रकरणों का निराकरण एक ह ते में किया है। परंतु राजस्व विभाग में फैले भ्रष्टाचार को प्रदेश के मुख्य सचिव क्या रोक पाएंगे यह सवाल आज भी कुरेद रहा है। राजस्व प्रकरणों में राजस्व अधिकारियों की मनमानी मु य सचिव किस हद तक रोकेंगे फिलहाल मु य सचिव के संभागीय दौरे से राजस्व अधिकारियों में हडकंप मचा हुआ है और इन दौरे से आम
Have something to say? Post your comment
More Madhya Pradesh News
योगी की राह पर कमलनाथ, मध्यप्रदेश में गोवंश को आवारा छोड़ना होगा अपराध
राजनगर विधानसभा में कौन बनेगा विधायक ,जनता किसको चुनेगी अपना सिर मोर*
छतरपुर-नातीराजा पहुच रहे घर-घर , बुजुर्गों का ले रहे आशीर्वाद
मध्यप्रदेश : सतना में तेज रफ्तार बस ने स्कूल वैन को मारी टक्कर, सात बच्चो सहित आठ लोगो की मौत...??
खजुराहो में cm के आने से पहले अमेरिका की तरह चमक रही सड़के
सत्यव्रत चतुर्वेदी अपने बेटे के लिए कर रहे हैं चुनाव प्रचार
इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर की छात्राओं ने दिया बिजली बचाने का संदेश ।
नगर में पर्याप्त भीषण पेयजल संकट के लिए जिम्मेवार कौन?
जिले में बिगडती कानून व्यवस्था पर अंकुश लगाने एसपी ने किए थोकबंद तबादले
44 वर्ष पुराने खजुराहो नृत्योतसव अतिथियों को तरस रहा है.....!!! बर्षो बाद राज्य पाल ने किया शुभारंभ