Friday, February 22, 2019
BREAKING NEWS

Literature

गणपति जी के शरीर मात्र से बहुत कुछ सिखने को मिलता है: गुरनाम

August 28, 2017 04:04 PM
संजय गर्ग
श्री गणेश सेवा मंडल ने किया शिव विवाह का आयोजन
गणपति जी के शरीर मात्र से बहुत कुछ सिखने को मिलता है: गुरनाम
लाडवा 28 अगस्त(संजय गर्ग): शहर में श्री गणेश सेवा मंडल की तरफ से पालिका बाजार के पीछे चल रहे 12 वें गणपति उत्सव में भगवान शिव के विवाह का आयोजन किया गया। 
मंडल के प्रधान पंडित राहुल भारद्वाज ने जानकारी देते हुए बताया कि गणेश उत्सव के तीसरे दिन पंडाल में शिव विवाह का आयोजन किया गया जिसे जंघम जोगियों द्वारा बेहतरीन रूप से प्रस्तुत किया गया। उन्होंने बताया कि शिव विवाह का शुभारम्भ भाजपा नेता गुरनाम सिंह मंगौली द्वारा ज्योति प्रचंड करके किया गया। गुरनाम सिंह ने ज्योति प्रचंड कर भगवान गणेश की आरती की। उन्होंने इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए कहा कि गणपति महाराज के शरीर मात्र से हमें बहुत कुछ सिखने को मिलता है जबकि अगर उनके द्वारा किये हुए कामों को हम अपने जीवन में उतार लें तो हमारा जीवन सफल हो जायेगा। उन्होंने कहा कि गणेश जी बुद्धि के दाता हैं और अगर हम निरंतर गणेश जी की पूजा अर्चना करें तो हमारी बुद्धि का अपार विकास होता है। इससे पहले मंडल के सदस्यों द्वारा मुख्यातिथि गुरनाम सिंह का स्वागत किया गया और उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। जंघम जोगियों द्वारा प्रस्तुत किये गए शिव विवाह का श्रद्धालुओं ने आनंद उठाया और शिव विवाह के बाराती बनकर नाचते हुए शिव विवाह में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। जंघम जोगियों ने माता गौरा के जन्म के कारण से लेकर माता गौरा द्वारा कलयुग का विवरण व जंघम उत्पति का वर्णन करते हुए अमरनाथ गुफा की कथा तक का शिव विवाह में वर्णन किया जिसे श्रद्धालुओं ने बड़े ध्यान से सुना और कथा के पश्चात भगवान शिव की आरती व प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर मनीष वर्मा, अमित सिंघल, राज सिंगला, विशाल आनंद, विजय शर्मा, पूनम सिंगला, सुमित बंसल, संदीप गर्ग, नवीन गर्ग, नरेश बंसल, बिट्टू सिंगला, पिंकी चावला, नरेश व्यास, शिव गुप्ता, नितिन गर्ग, कमल वर्मा सहित मंडल के सदस्य व श्रद्धालु उपस्थित थे। 

Have something to say? Post your comment

More in Literature

श्रीमद् भागवत कथा का प्रारंभ आज

मदहोश होकर लोग हुए आउट आफ कंट्रोल हरिनाम संकीर्तन में

अबकि बार मकर संक्रांति पर्व 14 जनवरी नहीं बल्कि 15 जनवरी को ही मान्य - पं. रामकिशन

सांई के जीवन से साधारण इंसान को अच्छा मनुष्य बनने में प्रेरणा मिलती है : सुमित पोंदा

कैथल में पूजा अर्चना के साथ हुआ श्री साई अमृत कथा का शुभारंभ

बोले सो निहाल-सत श्री अकाल धर्म हेत साका जिन किया, शीश दीया पर सिर न दिया

हजरत इलाही बू अली शाह कलंदर साहिब की दरगाह पर इन्द्री में चल रहें सालाना उर्स मुबारक व भंडारे पर आज एक विशेष शोभा-यात्रा

पूर्वाचलियों को छठ पूजा की बधाई देने आधा दर्जन स्थानों पर पहुंचे मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार

15 नवंबर को मनाया जाएगा शाह कलंदर का सालाना उर्स

5 नवंबर से दीवाली के पंच पर्व आरंभ