Wednesday, August 22, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
जिलास्तरीय बैडमिंटन प्रतियोगिता में मॉनटेसरी स्कूल के छात्र हितेष ने जीता सिल्वर मेडलगांव के विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर पौधारोपण कर पूर्व प्रधानमंत्री को दी श्रद्धांजलिअभाविप महेंद्रगढ़ द्वारा सभा का आयोजन कर अटल बिहारी वाजपेई को दी श्रद्धांजलिबकरीद के त्योहार को शान्तिपूर्ण ढंग से मनायें, अफवाहो पर न दे ध्यान-जिलाधिकारीअमेठीः समय से आय जाति निवास में लेखपाल नहीं लगा रहे रिपोर्ट, स्कॉलरशिप से छूट सकते हैं छात्रझूठे झमेले फैलाकर समाज में फूट डालने का कार्य कर रहे हैं नशाखोर भगवांधारीगांव जाट में किया गया मेले का आयोजन, विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं संपन्ननरवाना-दो हजार ने नशा को की ना, नशा न करने का लिया संकल्प
Business

मशरूम की खेती बनी किसानों के लिए फायदे का सौदा

December 02, 2016 03:18 PM
मशरूम की खेती बनी किसानों के लिए फायदे का सौदा---------------------
बेराजगार युवा व किसानों के लिए मार्गदर्शक बनें रजवन्त सिंह----------------------
 
बाबैन 2 दिसम्बर (राकेश शर्मा) लगातार बढ़ रही महगांई ओर प्राकृतिक आपदाओं का शिकार हो रही खेती आज किसानों के लिए घाटे का सौदा बनती जा रही है। इस घाटे ओर नुकशान को देखते हुए अब किसान गेहु व धान की खेती छोडकर अब मशरूम की खेती ओर अग्रसर हो रहे है कुछ ऐसा ही कार्य कर रहे बाबैन क्षेत्र के गांव बीड़ मगौली के रहने वाले छोटे से किसान ने जो कारनामा किया है वह आज किसानों ओर बेराजगार युवाओं के लिए मार्गदर्शक बन गये है। वैसे तो रजवन्त सिंह काफी समय से हलवाई का काम करता है लेकिन उस काम को छोड़कर खुम्ब की खेती पर अपनी किस्मत अजमायी ओर सफल हो गये। रजवन्त सिंह का कहना है उसने बेकार पड़े कमरे में लोहे की राडो के सहारे पौलोथिन में बेकार पड़ी पराली की भुस्सी ओर नारियल की भुस्सी से कार्य शुरू किया ओर दस से पन्द्रह दिनों में खुम्ब तैयार हा जाती हैै ओर उसे बेचकर वह हर महीने 10 से 12 हजार रूपये कमा लेता है जिससे वह बेहद खुश है। रजवन्त सिंह का कहना है यदि छोटे किसान इस तरह से खुम्ब का उत्पादन करे तो उनकी भी पौ बारह हो जायेगी जिससे उनके सामने अन्य विकल्प खुल जाएगें।  
 
खुम्ब खाने से क्या क्या है फायदे---------------
खुम्ब को मशरूम भी कहा जाता है ओर इसमें उतना ही प्रोटीन होता है जिसना मांस में होता है मिली जानकारी के अनुसार इसमें लाईसिन नामक एमिनों अम्ल की अधिकता रहती है। साथ ही खनिज लवण विटामिन बी,सी,ओर डी पर्याप्त मात्रा मे मिलता है। यह मधुमेह,रक्तचाप,कब्ज,मोटापा व हदय रोग के अलावा अन्य बिमारीयों में भी लाभदाय है। जो छोटे बच्चों से लेकर बूढ़ो तक के फायदेमंद होता है।  
Have something to say? Post your comment
More Business News
केंद्र का फैसला, बिना यूपीएससी भी बनेंगे अफसर, 10 मंत्रालयों में 3 साल का होगा टर्म, प्राइवेट कंपनी में काम करने वालों को भी मौका
सरकारी खरीद एजेंसी द्वारा गेहूँ की पेमेंट ना मिलने से व्यापारी व किसान परेशान--भगवान दास ।
व्यापारी व किसान विरोधी नीतियों के कारण प्रदेश में व्यापार व उधोग पूरी तरह पिछड़ा। - बजरंग दास गर्ग ।
सरसों की आवक जोर पर लेकिन सरकारी खरीद न होने से किसानों की जेब काटी जा रही है
महिला कौशल विकास योजना के तहत ब्युटीपार्लर का प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू।
नरवाना में जॉब फेयर का आयोजन
लहसुन की खेती करने से बढेगी किसानों आमदन : डा. सी.बी सिंह
बिटकॉइन को लेकर इनकम टैक्स विभाग के छापे, वेबसाइट बंद ! निवेशकों के करोड़ों रुपये फंसे
भारत देश में उद्योग के उत्पादन में लगातार गिरावट आ रही है।-बजरंग दास गर्ग
लिटल एंजल्स स्कूल बना लगातार चौथी बार विजेता