Sunday, February 17, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
संगठन सर्वोपरी होता है और इससे बडी ताकत नहीं-डा. श्रीकांतएक्शन मूढ में कांग्रेस,नए प्रभारी लोकसभा के उम्मीदवारों की सूचि तैयार करनें में जूटे,पार्टी पदाधिकारियों से ले रहे है प्रदेश अध्यक्ष की रायडॉक्टरों का एनपीए 20 प्रतिशत बढ़ामेले के अंतिम दिन रही भारी भीड़, रामकुमार के बैगपाईपर की धुन पर युवाओं की खूब मस्ती।रा.व.मा. विद्यालय बुडीन की दो छात्राओं का NMMS में हुआ चयनएग्री समिट-2019:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 25 किसानों को 1 लाख रुपए राशि के साथ दिया कृषि रत्न पुरस्कारराज्य सरकार पर्यटन को बढावा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है-राम बिलास शर्मारातभर अंधेरे में डूबा रहता है सतनाली का मुख्य बाजार, स्ट्रीट लाइटें खराब होने से कस्बे की गलियां व मुख्य चौक रहते है अंधकारमय
 
 
Business

मशरूम की खेती बनी किसानों के लिए फायदे का सौदा

December 02, 2016 03:18 PM
मशरूम की खेती बनी किसानों के लिए फायदे का सौदा---------------------
बेराजगार युवा व किसानों के लिए मार्गदर्शक बनें रजवन्त सिंह----------------------
 
बाबैन 2 दिसम्बर (राकेश शर्मा) लगातार बढ़ रही महगांई ओर प्राकृतिक आपदाओं का शिकार हो रही खेती आज किसानों के लिए घाटे का सौदा बनती जा रही है। इस घाटे ओर नुकशान को देखते हुए अब किसान गेहु व धान की खेती छोडकर अब मशरूम की खेती ओर अग्रसर हो रहे है कुछ ऐसा ही कार्य कर रहे बाबैन क्षेत्र के गांव बीड़ मगौली के रहने वाले छोटे से किसान ने जो कारनामा किया है वह आज किसानों ओर बेराजगार युवाओं के लिए मार्गदर्शक बन गये है। वैसे तो रजवन्त सिंह काफी समय से हलवाई का काम करता है लेकिन उस काम को छोड़कर खुम्ब की खेती पर अपनी किस्मत अजमायी ओर सफल हो गये। रजवन्त सिंह का कहना है उसने बेकार पड़े कमरे में लोहे की राडो के सहारे पौलोथिन में बेकार पड़ी पराली की भुस्सी ओर नारियल की भुस्सी से कार्य शुरू किया ओर दस से पन्द्रह दिनों में खुम्ब तैयार हा जाती हैै ओर उसे बेचकर वह हर महीने 10 से 12 हजार रूपये कमा लेता है जिससे वह बेहद खुश है। रजवन्त सिंह का कहना है यदि छोटे किसान इस तरह से खुम्ब का उत्पादन करे तो उनकी भी पौ बारह हो जायेगी जिससे उनके सामने अन्य विकल्प खुल जाएगें।  
 
खुम्ब खाने से क्या क्या है फायदे---------------
खुम्ब को मशरूम भी कहा जाता है ओर इसमें उतना ही प्रोटीन होता है जिसना मांस में होता है मिली जानकारी के अनुसार इसमें लाईसिन नामक एमिनों अम्ल की अधिकता रहती है। साथ ही खनिज लवण विटामिन बी,सी,ओर डी पर्याप्त मात्रा मे मिलता है। यह मधुमेह,रक्तचाप,कब्ज,मोटापा व हदय रोग के अलावा अन्य बिमारीयों में भी लाभदाय है। जो छोटे बच्चों से लेकर बूढ़ो तक के फायदेमंद होता है।  
 
Have something to say? Post your comment
 
More Business News
ब्रास की सुनहरी नक्कासी से बने सोफा सेट से दें घर को शाही अंदाज
आयकर विभाग ने किया जींद ,नरवाना ,और सफीदों में सर्वे
देश की 25 सर्वश्रेष्ठ कंपनियों में चुनी गई एब्रो इंडिया तरावड़ी
मैडम जी ओल्या नै मार दिए सारी फसल बर्बाद हो गी सै। म्हारा किमें समाधान करों
व्यापारियों को आयकर विभाग भेज देता है अनावश्यक टैक्स नोटिस, व्यापारियों ने अधिकारियों के समक्ष जताया ऐतराज
कपास, धान की आवक, भाव बढऩे से मार्केट फीस में हुई 26 प्रतिशत बढ़ोतरी
धराशायी हुआ शेयर,डीएचएफएल में 31,000 करोड़ रुपये के कथित फर्जीवाड़े का आरोप,
कपास के भाव 5500 पार होने के बाद कम हुए
खानक में शीघ्र ही लंबी अवधि के टेंडर जारी किए जाएंगे-विपुल गोयल
गेंहू उत्पादक किसान खुश तो आलू व सरसो उत्पादक किसानो के चेहरे पर चिंता की लकीरे