Wednesday, January 16, 2019
Follow us on
BREAKING NEWS
गोंडा-टीम को उत्क्रिस्ट कार्यो के लिए किया गया सम्मानितसरकार ने भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कारवाही नहीं की तो हरियाणा बंद किया जाएगा - बजरंग गर्गगोंडा-जिला निर्वाचन अधिकारी ने वोटर्स अवेयरनेस फोरम की किया लान्चिंगलीपापोती -पीड़िता के पति को नहीं मिल रहा न्याय मृतक के पास 3 बच्चे भी जींद चुनाव में मांगे राम गुप्ता सबसे बड़ा चेहरा ,,पार्टियों के उम्मीदवार शून्यदेखे -विडिओ --इनैलो -बसपा को लिया मतदाताओं के आड़े हाथों जींद में इनेलो को बड़ा झटका, दलबीर खरब ने इनेलो छोड़ जेजेपी का थामा हाथमोदी के 11 मंत्रियों में से 7 पर हार का खतरा ?2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर उत्तरप्रदेश में
Madhya Pradesh

बुन्देलखंड,बेशकीमती महल पर प्राइवेट कंपनी का कब्जा, क्षेत्रवासियों ने की कार्यवाही मांग

निर्णय तिवारी | November 10, 2017 10:02 AM
निर्णय तिवारी
बुन्देलखंड की धरोहर राजगढ़ महल के अंदर जगह-जगह खुदाई के निशान
बेशकीमती महल पर प्राइवेट कंपनी का कब्जा, क्षेत्रवासियों ने की कार्यवाही मांग
छतरपुर/ बुन्देलखंड की धरोहरों के संरक्षण के लिए जहां शासन करोड़ों रूपये खर्च कर रहा है, वहीं एक बुन्देलखंड की धरोहर का शासन लीज होने का हवाला देकर कुछ ही कहने में असमर्थ जता रहा है। जिम्मेदारों के इस प्रकार के बयान से अब लोगों के मन में तरह-तरह के विचार उत्पन्न हो रहे हैं। मामला राजनगर तहसीलअंतर्गत चंद्रनगर चौकी के चंदेलकालीन राजगढ़ महल का है, जो वर्षों से बंद पड़ा हुआ था। जिसे कुछ वर्ष पहले शासन ने लीज पर दे दिया। अब उस महल में खुदाई कर निर्माण होने के बाद होटल खोले जाने की तैयारी चल रही है। वहीं पुरातत्व विभाग का कहना है कि राजशाही धरोहर को किसी भी प्रकार से मजाक नहीं बनाया जाता है। इसे संरक्षित करना हम सभी का अधिकार है न की उसके खंडने करने का। 
सोने-चांदी के असीमित भंडार के गेट तोड़कर लग गये नये गेट-
ग्रामीणों ने बताया कि महल के अंदर ऐसे कुछ गेट थे जिनमें बड़े-बड़े ताले लगे थे, जिन्हें शुरूआती दौर में तोडकर अन्य गेट लगवा दिये। जिनके अंदर रियासतकालीन राजाओं के बेशकीमती आभूषण असीमित मात्रा में सोना-चांदी के भंडार थे। गौर करने वाली बात यह है कि इस तरह की धरोहर के लिए कुछ घंटों का समय काफी होता है और यदि जिसे वर्षों पहले ही प्रशासन ने सौंप दिया हो तो इस तरह की प्राइवेट कंपनी ने सुरक्षा करके अंदर क्या नहीं किया होगा। इसके बाद भी आज प्रशासन मौन बना हुआ है। 
क्या है मामला-
विगत वर्षों में मध्य प्रदेश शासन द्वारा  चंदेलकालीन राजगढ़ महल ओवराय होटल के लीज पर दे दिया गया, जिस पर प्राइवेट कंपनी ने अपना कब्जा जमाकर पूर्ण अस्तित्व जमा लिया और अपने गार्ड लगाकर किसी को भी अंदर जाने से मनाही के इंतजाम किये। इसके बाद महल के अंदर गोपनीय तरीके से कार्य कंपनी ने शुरू कर दिया। जिसकी शिकायत जब गत दिनों लोगों ने प्रशासन से की तो कार्यवाही की इतिश्री कर कह दिया कि इसमें हम कुछ नहीं कह सकते हैं। सवाल यह है कि जब इस तरह की धरोहर के लिए प्रशासन का उदासीन रवैया क्यों है? 
शिकायत पर हुआ निरीक्षण-
तहसीलदार ने शिकायत के आधार पर नायब तहसीलदार वैद्य प्रकाश सिंह, पटवारी अंकित पाठक, नरेन्द्र ओंमरे को महल के निरीक्षण के लिए भेजा। जहां  स्पष्ट रूप से खुदाई के निशान देखने को मिले, लेकिन नायबतहसीलदार चंद्रनगर ने अपनी मनमर्जी से पंचनामा तैयार पल्लाझाड़ लिया। जिससे स्पष्ट साबित हो रहा है कि राजस्व विभाग का खुदाई में कहीं न कही हाथ है तब तो राजगढ़ महल की खुदाई पर आपत्ति दर्ज नहीं की गई।  आरोप लगाते हुयसे बताया है कि राजगढ़ महल गुपचुप तरीके से जगह-जगह जेसीबी व अन्य ओजारों से चंदेलकालीन किले की खुदाई की गई। इसकी शिकायत जब ग्रामीणों ने की, इसके बाद भी राजशाही धरोहर को सुरक्षित करने की ओर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। निरीक्षण दौरान पत्रकार जब पहुंचे तो उनके कैमरा एवं मोबाइल भी महल के अंदर महल के अंदर नहीं जाने दिये।  
इनका कहना है
बहुत समय पहले वह महल लीज पर प्राइवेट कंपनी को होटल निर्माण के लिए दिया था, अब उसमें हम लोग क्या कर सकते हैं। जिन्होंने लीज पर लिया है वह अपने स्तर से महल में कार्य करवाएंगे।
सलोनी सिडाना, एसडीएम राजनगर 
राज सरकार ने 2008 में ओवराय कंपनी को लीज पर दिया था, जिसका मरम्मत कार्य हो रहा है। मैं वहां पर स्वयं गया था, जहां कोई खुदाई नहीं हो रही है। पर्यटकों के बढ़ावा के लिए राजमहल के बगल में होटल खोला जाएगा, जहां पर्यटक चंदेलकालीन महल का भ्रमण करेंगे। महल के संरक्षित के भी इंतजाम रहेंगे।  यदि ऐसा कुछ है तो हम जांच कराएंगे।
रमेश भंडारी, कलेक्टर 
महल को लीज पर दिया गया है, जो वहां पर काम रहे हैं। उनकी लीज किस आधार पर है यह मुझे मालूम नहीं। कुछ लोगों की शिकायत आई थी कि महल में खुदाई हो रही है, जिस पर नायब तहसीलदार को भेजा गया था, जहां उसकी मरम्मत के लिए थोड़ी बहुत खुदाई हुई है।  
Have something to say? Post your comment
More Madhya Pradesh News
योगी की राह पर कमलनाथ, मध्यप्रदेश में गोवंश को आवारा छोड़ना होगा अपराध
राजनगर विधानसभा में कौन बनेगा विधायक ,जनता किसको चुनेगी अपना सिर मोर*
छतरपुर-नातीराजा पहुच रहे घर-घर , बुजुर्गों का ले रहे आशीर्वाद
मध्यप्रदेश : सतना में तेज रफ्तार बस ने स्कूल वैन को मारी टक्कर, सात बच्चो सहित आठ लोगो की मौत...??
खजुराहो में cm के आने से पहले अमेरिका की तरह चमक रही सड़के
सत्यव्रत चतुर्वेदी अपने बेटे के लिए कर रहे हैं चुनाव प्रचार
इस्लामिया करीमिया कॉलेज इंदौर की छात्राओं ने दिया बिजली बचाने का संदेश ।
नगर में पर्याप्त भीषण पेयजल संकट के लिए जिम्मेवार कौन?
जिले में बिगडती कानून व्यवस्था पर अंकुश लगाने एसपी ने किए थोकबंद तबादले
44 वर्ष पुराने खजुराहो नृत्योतसव अतिथियों को तरस रहा है.....!!! बर्षो बाद राज्य पाल ने किया शुभारंभ