Tuesday, June 19, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
घरौंडा-अधिकारियों को नजर नहीं आया मंडी में लबालब भरा बरसाती पानीसिर चढक़र बोलता अंधविश्वास*, विज्ञान के युग में भी लोग फंस रहे पाखंडियों के जाल मेंबारड़ा गांव में पकड़ा गायों से भरा ट्रक, पुलिस ने खानापूर्ति कर मामले से किया किनारा"सिर चढक़र बोलता अंधविश्वास", विज्ञान के युग में भी लोग फंस रहे पाखंडियों के जाल मेंचोरीशुदा जनरेटर तथा वारदात में प्रयुक्त पीकअप गाडी सहित दो आरोपी गिरफतार, पुत्रवधु की करतूत भी उजागर ,48 घंटों के भीतर ही पुलिस कंवाली में हुई बुजुर्ग महिला की हत्या की गुत्थी सुलझाईपुलिस कर्मी तमाशबीन बने थे कर दिए गए निलम्बित , नौजवान पर चाकूओं से हो रहा था हमलाकुरूक्षेत्र में मिठ्ठा राम बनाते है भगवान,भगवान को बनाने वाले निर्धन
Business

बिटकॉइन को लेकर इनकम टैक्स विभाग के छापे, वेबसाइट बंद ! निवेशकों के करोड़ों रुपये फंसे

अटल हिन्द ब्यूरो | December 16, 2017 06:19 PM
अटल हिन्द ब्यूरो
बिटकॉइन को लेकर इनकम टैक्स विभाग के छापे, वेबसाइट बंद ! निवेशकों के करोड़ों रुपये फंसे
(अटल हिन्द )
देश में बिटकॉइन की खरीद-फरोख्त करवाने वाली कंपनियों पर इनकम टैक्स विभाग के छापों के बाद कंपनी की वेबसाइट बंद होने के बाद इससे जुड़े गाजियाबाद समेत दिल्ली-एनसीआर और पूरे यूपी के हजारों अकाउंट ब्लॉक हो गए हैं। ऐसे में बिटकॉइन खरीद चुके लोगों का डिजिटल वॉलिट भी ब्लॉक हो गया है। बताया जा रहा है कि ऐसे लोगों के करोड़ों रुपये इसमें फंसे हैं। दिल्ली स्थित आर्थिक अपराध शाखा में दिल्ली के 15 लोगों ने इस संबंध में शिकायत भी दर्ज करवाई है। आरोप है कि हैदराबाद (आंध्र प्रदेश) की वेबसाइट 15 दिन से ब्लॉक है। कंपनी संचालक ने 24 घंटे में सब ठीक होने की बात कही है।
बिटकॉइन वेबसाइट बंद होने के बाद लोग परेशान
बिटकॉइन खरीदने वाले वेंकटेश ने बताया कि इससे पहले कंपनी की वेबसाइट बंद नहीं हुई। अभी कारण मेंटिनेंस बताया जा रहा है, लेकिन आयकर विभाग के शिकंजे के बाद से इसके शुरू नहीं होने से लोग परेशान हैं।
 
दो साल में 7 हजार से 14 लाख पहुंची कीमत
दो साल पहले एक बिटकॉइन महज 7 हजार रुपये का था। नोटबंदी के बाद इसकी कीमत अचानक 36-45 हजार रुपये हो गई। इस साल सितंबर में इसकी कीमत 5 लाख, अक्टूबर में साढ़े नौ लाख और नवंबर में 14 लाख रुपये हो गई।
 
नोटबंदी के बाद आयकर विभाग के रडार पर आए
आयकर विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि बिटकॉइन इंडिया में लीगल नहीं है। नोटबंदी के बाद से बिटकॉइन की कीमत बढ़ने से इसमें ब्लैकमनी लगने का शक हुआ।
 
शिकायत: दिल्ली के 15 लोगों ने आर्थिक अपराध शाखा में की शिकायत, गाजियाबाद के 100 पीड़ितों ने बनाया वॉट्सऐप ग्रुप
 
बिटकॉइन: वो सब जो आप जानना चाहते हैं
 
एक्सपर्ट बताते हैं कि बिटकॉइन वर्चुअल करंसी है। हालांकि भारत में इसे करंसी नहीं, कमोडिटी की तरह मानकर निवेश किया जाता रहा है।
भारत में 10 कंपनियां खरीद-फरोख्त करवाती हैं। अकाउंट खोलकर एक ई-वॉलिट जारी किया जाता है।
विश्व में 2 करोड़ 10 लाख बिटकॉइन की सेल ही हो सकती है। इसमें डिमांड के बढ़ने के साथ ही इसके रेट भी बढ़ जाते हैं।
बिटकॉइन की शुरुआत जापानी मूल के इंजिनियर सातोषी नाकामोतो ने की थी। बिटकॉइन में 500 रुपये से करोड़ों रुपये का निवेश किया जा सकता है।
एक बिटकॉइन में 10 लाख सातोषी होते हैं। जो लोग महंगे बिटकॉइन नहीं ले सकते, वह सातोषी में पैसा लगा सकते हैं।
चीन और रूस में इसकी माइन होने के कारण दोनों की जगहों को बिटकॉइन का गढ़ माना गया है।
Have something to say? Post your comment
More Business News
केंद्र का फैसला, बिना यूपीएससी भी बनेंगे अफसर, 10 मंत्रालयों में 3 साल का होगा टर्म, प्राइवेट कंपनी में काम करने वालों को भी मौका
सरकारी खरीद एजेंसी द्वारा गेहूँ की पेमेंट ना मिलने से व्यापारी व किसान परेशान--भगवान दास ।
व्यापारी व किसान विरोधी नीतियों के कारण प्रदेश में व्यापार व उधोग पूरी तरह पिछड़ा। - बजरंग दास गर्ग ।
सरसों की आवक जोर पर लेकिन सरकारी खरीद न होने से किसानों की जेब काटी जा रही है
महिला कौशल विकास योजना के तहत ब्युटीपार्लर का प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू।
नरवाना में जॉब फेयर का आयोजन
लहसुन की खेती करने से बढेगी किसानों आमदन : डा. सी.बी सिंह
भारत देश में उद्योग के उत्पादन में लगातार गिरावट आ रही है।-बजरंग दास गर्ग
लिटल एंजल्स स्कूल बना लगातार चौथी बार विजेता
हत्या के मामले में दो आरोपियों सहित 6 को उम्र कैद की सजा