Friday, October 19, 2018
Follow us on
Punjab

बठिंडा के एसएसपी व एसपी की ओर से दुष्कर्म के केस को दाज दहेज में बदलने का

अटल हिन्द ब्यूरो | February 22, 2018 04:40 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

मामला बठिंडा के एसएसपी व एसपी की ओर से दुष्कर्म के केस को दाज दहेज में बदलने का

अदालत ने बठिंडा पुलिस की झुठी कहानी को किया बेनकाब

बठिंडा, 22 फरवरी,

करीब एक वर्ष पहले बठिंडा के एसएसपी स्वपन शर्मा और एस पी आप्रेशन गुरमीत सिंह की ओर से दुष्कर्म के केस को दाज दहेज में बदले जाने के संबंध में निचली अदालत ने पुलिस की ओर से आरोपी को बचाने के लिए बनाई गई झुठी कहानी को दरकिनार कर दिया और पीडिता को इंसाफ करते हुए अदालत ने दुष्कर्म की धारायों के तहत केस की सुनवाई शुरू कर दी है।

 

जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश निवासी युवती ने बठिंडा की रिफाइनरी में काम करने वाले इंजीनियर अमित कुमार कमल के खिलाफ 2016 में उस समय बठिंडा के एसएसपी स्वपन शर्मा के पास शिकायत दी थी कि अमित शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है । शिकायत की जांच के बाद पुलिस ने आरोपी अमित कुमार कमल के खिलाफ शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने के आरोप में मुकदमा नंबर 32 जून 2016 दर्ज कर लिया था । जिस के बाद जनवरी 2017 में एसपी आप्रेशन गुरमीत सिंह ने आरोपी को फायदा पहुंचाने के लिए बिना किसी ठोस सबूतों के केस से दुष्कर्म की धारांए हटाकर दाज दहेज की धारा लगा दी, जिसको एसएसपी स्वपन शर्मा ने भी प्रवानगी देने में कोई झिझक महसूस नही की ।

पुलिस अधिकारियों की ओर से अपने साथ की गई बेइंसाफ का विरोध करते हुए पीडित ने पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की शरण ली जहां पर हाईकोर्ट ने 18 जनवरी 2018 को एक आर्डर पास करते हुए कहा कि पुलिस ने उक्त केस में से गलत तारीके के साथ दुष्कर्म की धारांए हटाई है, क्यों कि पीडिता की तो कभी आरोपी से शादी ही नही हुई । जिस के बाद 15 फरवरी 2018 को बठिंडा की स्थानीय अदालत ने उक्त केस में चार्ज फ्रेम करते हुए पुलिस की ओर से मनगढत कहानी बनाकर केस को दाज दहेज में बदलने की कहानी को झुठा करार देते हुए कहा कि पीडिता ने तो कभी दाज दहेज की शिकायत की ही नही तो ऐसे में पुलिस ने कैसे दुष्कर्म की धारायों को दाज दहेज में बदल दिया । जिस के बाद अदालत ने उक्त केस की सुनवाई दुष्कर्म की धारायों के तहत करने के लिए 28 फरवरी तय की है।

 

वहीं इस संबंधी जब केस बदलने वाले एसपी आप्रेशन गुरमीत सिंह से बात की गई तो उन्होनें कहा कि पुलिस ने आरोपी की ओर से पेश किए गए कागजात पर ही केस से दुष्कर्म की धारायों को हटाकर दाज दहेज की लगाई थी । लेकिन अब जो अदालत का निर्णय है वही मान्य है।

 

पीडिता केस बदलने वाले एसएसपी व एसपी के खिलाफ जाएगी हाईकोर्ट

पीडिता ने बातचीत के दौरान बताया कि बठिंडा के उस समय एसएसपी स्वपन शर्मा और एस पी गुरमीत सिंह को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की फाइडिंग की कापी भी दी गई थी लेकिन उक्त पुलिस अधिकारियों ने आरोपी अमित को फायदा पहुंचाने के लिए उसके दुष्कर्म के केस को दाज दहेज में तबदील कर दिया था । लेकिन अब उसे निचली अदालत के आर्डर से इंसाफ मिलने की उमीद मिल गई है जो उक्त पुलिस अधिकारियों ने खत्म कर दी थी । पीडिता ने कहा कि ऐसे पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कारवाई के लिए वह पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की शरण में जाएगी ।

Have something to say? Post your comment
More Punjab News
बठिंडा के एसपीडी, डीएसपी डी ने कांग्रेस वर्करों के साथ मिलकर किया लोकतंत्र का कत्ल-पूर्व मंत्री मलूका बठिंडा में पत्नी ने अपने प्रेमी संग मिलकर की आप उमीदवार हिंदा की हत्या- आई जी फारूकी मामला महिला डाक्टर की संदिग्ध मौत का -सुप्रीम कोर्ट से डा.शेखावत की जमानत याचिका रद्द-जाएगें जेल इनेलो सांसद रोड़ी का प्राइवेट डराईवर को पुलिस ने किया गिरफतार,आरोपियों में हरियाणा पुलिस के होमगार्ड का जवान शामिल महिला मजदूर के साथ मारपीट,आरोपी एएसआई पर हो एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज-पूर्व विधायक बठिंडा में हाईकोर्ट के वकील ने शिक्षा विभाग के सचिव को नोटिस भेज की मांग बठिंडा-स्कूल प्रिंसीपल को बिना बताए होस्टल से दो छात्राओं को बाहर भेजने के आरोप में फरीदकोट में हुई बैंक डकैती के दो आरोपियों को फायरिंग कर बठिंडा के सेलबराह से किया गिरफतार अकाली नेता की बसों में डीजल भरने वाला टैंकर पकडा,गौरखधंधे का किया पर्दाफाश टैक्सी वंगार में नही दी तो तीन एएसआई ने चोरी के झुठे केस दर्ज कर दी जिंदगी तबाह -पीडित टैक्सी डराईवर