Thursday, January 24, 2019
Follow us on
Sports

पुलिस की दादागीरी सामने आई भिवानी में आयोजित तीन दिवसीय कुश्ती प्रतियोगिता के पहले दिन

ईश्वर धामू | March 21, 2018 07:10 PM
ईश्वर धामू

भिवानी में आयोजित तीन दिवसीय कुश्ती प्रतियोगिता के पहले दिन ही पुलिस की दादागीरी सामने आई

प्रवेश कार्ड बनवाने पहुंचे पत्रकारों को गेट पर ही रोग दिया गया, खेल
विभाग के निदेशक भी हुए पुलिसवालों की दादागीरी का शिकार

भिवानी। भिवानी के जिला प्रशासन ने लगता है कि करीब सात महीने पूर्व हुए तीन दिवसीय पंचायत विभाग के कार्यक्रम में की व्यवस्था से कोई सबक नहीं लिया। उस कार्यक्रम में प्रदेश के राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री आये थे। इस समारोह में पुलिसवालों से पत्रकारोंं को प्रवेश करने से रोका और बदतमीजी की गई थी। इस कार्यक्रम में राज्यपाल और मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के दिन पत्रकारों को पहले तो मुख्य प्रवेश पर रोका गया तथा बाद में फोटोग्राफरों को फोटो करने के लिए डी में नहीं जाने दिया गया। चैनल के पत्रकारों को कैमरा बैग लेकर अंदर नहीं जाने से भी रोका गया था। उस समय पत्रकारों द्वारा विरोध किए जाने के बाद जिला प्रशासन और लोक सम्पर्क विभाग की नींद खुली थी। आज भी ऐसा ही हुआ। भिवानी के भीम स्टेडियम में आज बुधवार से तीन दिवसीय एक करोड़ की कुश्ती मुकाबले शुरू हो रहे हैं। मुकाबलों का उद्घाटन महामहिम राज्यपाल कर रहे हैं। सुरक्षा की दृष्टि से पत्रकारों के प्रवेश पास बनाए गए। परन्तु पास बनवाने के लिए पहुंचे पत्रकारों को स्टेडियम के प्रवेश द्वार पर ही पुलिसवालों ने न केवल रोका अपितु उनसे बदतमीजी भी की। पत्रकारों को पुलिसवालों द्वारा पहचान पत्र दिखा कर भी अंदर नहीं जाने दिया गया। इतना ही नहीं इस बारे जिला लोक सम्पर्क विभाग भी लापरवाही बरत रहा था। क्योकि प्रवेश द्वार पर लोक सम्पर्क विभाग का कोई भी कर्मचारी मौजूद नहीं था, जो पत्रकारों की पहचान कर उनको प्रवेश दिला सके। इस प्रकार बहुतेरे पत्रकार प्रवेश पास बनवाने से वंचित रह गए। पत्रकारों ने इस घटना को पुलिस कप्तान के संज्ञान में लाया। उन्होने इस पर कार्यवाही करते हुए स्टेडियम की व्यवस्था देख रहे डीएसपी सिवानी का नम्बर जारी किया, जिस पर किसी तरह की घटना के लिए पत्रकार सम्पर्क कर सकते हैं। इसी संदर्भ में एक घटना तो चौंका देने वाली रही। यह कुश्ती प्र्रतियोगिता प्रदेश के खेल विभाग द्वारा आयोजित करवाई जा रही है। प्रतियोगिता की व्यवस्था को देखने के लिए खेल विभाग के निदेशक भाजरतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी जगदीप सिंह भी यंहा आए हुए हैं। आज जब वें कार्यक्रम की व्यवस्थाओं का जायजा लेने स्टेडियम पहुंचे तो पुलिस ने प्रवेश द्वार ही उनको रोक कर उनसे भी बदशलुकी की। बाद में किसी कर्मचारी ने जब सिंह के बारे में बताया तो उनको अंदर जाने दिया गया।

Have something to say? Post your comment
More Sports News
खेलों के माध्यम से बेटियों को आगे लेजाना हमारा मकशद: हवासिंह छौक्कर
दिवान बाल कृष्ण पब्लिक स्कूल नरवाना की छात्राओं ने इन्टरनैशनल कराटे चैम्पियनशीप मे जीते पदक
एस डी स्कूल की छात्राओं ने जीता गोल्ड।
7वीं वल्र्ड स्ट्रेंथ लिफ्टिंग चैंपियनशिप में लोहारू के संदीप और सचिन ने जीते तीन मेडल
हरियाणा की मिट्टी में रचा-बसा है खेल कबड्डी का : भूूप सिंह मटिंडू
रेनू ने राष्ट्रीय जूडो प्रतियोगिता में जीता रजत पदक
21वीं नार्थ इंडिया बॉक्सिंग चैंपियनशीप में सतनाली के खिलाड़ी विकेंद्र ने जीता गोल्ड मेडल
दिवेश ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए ओपन वेट पुरुष वर्ग में रजत पदक प्राप्त किया
नई खेल नीति से मिला युवाओं को प्रोत्साहन- मनोहर लाल
बालू गांव में कबड्डी टूर्नामेंट का हुआ आयोजन, अनीता ढुल बढसिकरी ने किया शुभारंभ