Saturday, November 17, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सुल्तानपुर जिलाधिकारी महोदय खनन पर कर रहें नजर अंदाज भूमाफियाओं कें आगे प्रदेश सरकार की बोलती हुयी बंदजोगी बंगले में गजराज पगारिया की पिटाई, थाने पहुंचा मामलाचौटाला परिवार के दोफाड़ - इनेलो मुख्यालय का नया पता फ्लैट नंबर-109, सेक्टर-3एसपी आस्था मोदी का कैथल से अम्बाला हुआ तबादलाकैथल जिला की पुलिस कैसे साफ़ सुधरी रह सकती है जिला पुलिस कप्तान आस्था मोदी कुछ भी कहती रहे हिमाचल के पत्रकारों को भी जल्द दिलाएंगे हरियाणा की तर्ज पर पेंशनकैथल चीनी मिल चिप घोटाले में सरकार द्वारा शीघ्र जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाएगी : ग्रोवरचंद्रबाबू नायडू के समक्ष विपक्षी एकता की चुनौती
Punjab

विजीलेंस के पूर्व डीएसपी समेत ई ओ विंग के इंस्पैक्टर व दो हैड कांस्टेबलों को अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी किया तलब

अटल हिन्द ब्यूरो | March 22, 2018 09:09 PM
अटल हिन्द ब्यूरो


विजीलेंस के पूर्व डीएसपी समेत ई ओ विंग के इंस्पैक्टर व दो हैड कांस्टेबलों को
अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी किया तलब - पूर्व डीएसपी व इंस्पैक्टर की जमानत खारिज
बठिंडा, 22 मार्च,
करीब चार वर्ष पुराने एक भ्रष्टाचार के मामले में हाईकोर्ट के आदेशों पर निचली अदालत ने विजीलेंस के पूर्व डीएसपी जनक सिंंह और मौजूदा समय में ईओ विंग बठिंडा के इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला, हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत सिंह को बतौर सह आरोपी तलब किया है। वहीं अपने बचाव के लिए पूर्व डीएसपी व इंस्पैक्टर ने स्थानीय अदालत में अपनी जमानत याचिका दायर की थी जो अदालत ने वीरवार को खारिज कर दी । अदालत की ओर से सह आरोपी बनाए गए डीएसपी व इंस्पैक्टर का कहना था कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना ।

इस संबंधी बातचीत करते हुए पीडित पक्ष से वकील पूजा उर्फ ईशा मिगलानी ने बताया कि वर्ष 2012 में उसके ससुर देव राज को विजीलेंस ब्यूरो बठिंडा के उस समय के डीएसपी जनक सिंह और इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला ने साथी पुलिस कर्मीयों हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत के साथ मिलकर गिरफतार किया था । जिस के बाद डीएसपी व इंस्पैक्टर ने उनके परिवार से पचास हजार रूपए रिशवत मांगी कि वह देव राज को ‌पुलिस रिमांड पर नही लेगें । जिस के तहत पूर्व डीएसपी जनक सिंह ने अपने विभाग के कर्मी किक्कर सिंह को उनके घर रिशवत लेने भेज दिया था । महिला वकील ने बताया कि इस के बाद उन्होनें उक्त अधिकारियों की ओर से रिशवत मांगे जाने को लेकर सबूतों के साथ शिकायत की थी । जिस में सबसे पहले पुलिस कर्मी किक्कर सिंह को आरोपी बनाते हुए उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया था और डीएसपी जनक सिंह और इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला एवं हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत सिंह को उच्च अधिकारियों ने केस से निकाल दिया था । जिस का विरोध करते हुए उक्त पुलिस वालों के खिलाफ वह स्थानीय अदालत में गए थे जहां पर उनकी सुनवाई नही की गई और उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया था । इसके बाद वह गत वर्ष पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की शरण में चले गए । महिला वकील ने बताया कि हाईकोर्ट ने उनकी दलीलों से सहमत होते निचली अदालत को उक्त केस में उक्त पुलिस अधिकारियों व कर्मीयों को शामिल करने के आदेश दिए थे । जिस के बाद अब जिला सैशन जज ने गत दिनों पूर्व डीएसपी और इंस्पैक्टर व दोनों हैड कांस्टेबलों को 26 मार्च 18 को अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी तलब किए है।
महिला वकील ने बताया कि जब वह उक्त पुलिस वालों पर कारवाई के लिए हाईकोर्ट गए थे तो हाईकोर्ट में जिस दिन उनकी पेशी थी उस से दो दिन पहले विजीलेंस बठिंडा के एक एएसआई की ओर से उनके पति व ससुर के खिलाफ एक झुठा केस तक दर्ज करवा दिया था । लेकिन वह पीछे नही हटे ।

इस संबंधी विजीलेंस के पूर्व डीएसपी जनक सिंह से बातचीत कर उनका पक्ष जाना गया तो उन्होनें कहा कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना और क्रीमीनल लोगों की ओर से अदालत को गुमराह किया गया है, जिस के चलते अदालत ने उन्हें तलब किया है। इस के बाद मौजूदा समय में ई ओ विंग में तैैनात इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला से बात की गई तो उन्होनें कहा कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना लेकिन अदालत का जो भी निर्णय आएगा वो मान्य होगा ।

भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी तलब किए गए ई ओ विंग के इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला के बारे में जब बठिंडा के एसएसपी नवीन सिंगला से बातचीत की गई तो उन्होनें कहा कि उक्त मामला अभी पैडिंग है । जो अदालत में चल रहा है।

ऐसे भ्रष्टाचारी पुलिस अफसरों के चलते लोगों को नही मिलता इंसाफ
समाजसेवी बलविंदर सिंह ने कहा कि ऐसे भ्रष्टाचार करने वाले पुलिस अफसरों के कारण ही लोगों को पुलिस से इंसाफ मिलने की उमीद लगभग समापत हो चुकी है। अगर पुलिस विभाग के उच्च अधिकारी लोगों को इंसाफ देना चाहते है तो इस तरह से भ्रष्टाचार करने वाले पुलिस अफसरों को तुरंत नौकरी से निकाल देना चाहिए । तभी जाकर लोगों को इंसाफ मिल पाएगा ।

Have something to say? Post your comment
More Punjab News
पूर्व मुख्य मंत्री बादल की सुरक्षा में सेंध एक व्यक्ति को सरकारी रिवालवर समेत दबोचा
बठिंडा में दो सौ रूपए के लेन देन को लेकर युवक की हत्या
जबरन उतरवाए लड़कियों के कपड़े . .
बठिंडा के एसपीडी, डीएसपी डी ने कांग्रेस वर्करों के साथ मिलकर किया लोकतंत्र का कत्ल-पूर्व मंत्री मलूका बठिंडा में पत्नी ने अपने प्रेमी संग मिलकर की आप उमीदवार हिंदा की हत्या- आई जी फारूकी मामला महिला डाक्टर की संदिग्ध मौत का -सुप्रीम कोर्ट से डा.शेखावत की जमानत याचिका रद्द-जाएगें जेल इनेलो सांसद रोड़ी का प्राइवेट डराईवर को पुलिस ने किया गिरफतार,आरोपियों में हरियाणा पुलिस के होमगार्ड का जवान शामिल महिला मजदूर के साथ मारपीट,आरोपी एएसआई पर हो एससी एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज-पूर्व विधायक बठिंडा में हाईकोर्ट के वकील ने शिक्षा विभाग के सचिव को नोटिस भेज की मांग बठिंडा-स्कूल प्रिंसीपल को बिना बताए होस्टल से दो छात्राओं को बाहर भेजने के आरोप में