Sunday, May 27, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
घरौंडा-बसताड़ा टोल पर चली गोली, 2 घायल।चौधर का पल्लू पकडऩा है तो बीरेंद्र सिंह का पकड़ो: मनोहर लालराजीव जैन ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस कहा, सरकार लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को कर रही मजबूतनरवाना व दनौदा एस.ओ. के सभी ग्रामीण डाक कर्मचारी लगातार पांचवे दिन भी हड़ताल पर आदर्श बाल मंदिर उच्च विद्यालय नरवाना के प्रांगण में कैरियर काऊंसलिंग व मोटीवेशन सेमीनार का आयोजन कियासफाई का जायजा लेने कैथल डीसी निकली सड़कों ,गलियों मेंकैथल-अधिकारी अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव लाएं तथा गंभीरता से अपनी डियूटी निभाएं -डीसीहरियाणा में श्रमिकों के न्यूनतम मासिक और दैनिक वेतन (वेजिज) में वृद्धि करने की घोषणा
Punjab

विजीलेंस के पूर्व डीएसपी समेत ई ओ विंग के इंस्पैक्टर व दो हैड कांस्टेबलों को अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी किया तलब

अटल हिन्द ब्यूरो | March 22, 2018 09:09 PM
अटल हिन्द ब्यूरो


विजीलेंस के पूर्व डीएसपी समेत ई ओ विंग के इंस्पैक्टर व दो हैड कांस्टेबलों को
अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी किया तलब - पूर्व डीएसपी व इंस्पैक्टर की जमानत खारिज
बठिंडा, 22 मार्च,
करीब चार वर्ष पुराने एक भ्रष्टाचार के मामले में हाईकोर्ट के आदेशों पर निचली अदालत ने विजीलेंस के पूर्व डीएसपी जनक सिंंह और मौजूदा समय में ईओ विंग बठिंडा के इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला, हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत सिंह को बतौर सह आरोपी तलब किया है। वहीं अपने बचाव के लिए पूर्व डीएसपी व इंस्पैक्टर ने स्थानीय अदालत में अपनी जमानत याचिका दायर की थी जो अदालत ने वीरवार को खारिज कर दी । अदालत की ओर से सह आरोपी बनाए गए डीएसपी व इंस्पैक्टर का कहना था कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना ।

इस संबंधी बातचीत करते हुए पीडित पक्ष से वकील पूजा उर्फ ईशा मिगलानी ने बताया कि वर्ष 2012 में उसके ससुर देव राज को विजीलेंस ब्यूरो बठिंडा के उस समय के डीएसपी जनक सिंह और इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला ने साथी पुलिस कर्मीयों हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत के साथ मिलकर गिरफतार किया था । जिस के बाद डीएसपी व इंस्पैक्टर ने उनके परिवार से पचास हजार रूपए रिशवत मांगी कि वह देव राज को ‌पुलिस रिमांड पर नही लेगें । जिस के तहत पूर्व डीएसपी जनक सिंह ने अपने विभाग के कर्मी किक्कर सिंह को उनके घर रिशवत लेने भेज दिया था । महिला वकील ने बताया कि इस के बाद उन्होनें उक्त अधिकारियों की ओर से रिशवत मांगे जाने को लेकर सबूतों के साथ शिकायत की थी । जिस में सबसे पहले पुलिस कर्मी किक्कर सिंह को आरोपी बनाते हुए उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया था और डीएसपी जनक सिंह और इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला एवं हैड कांस्टेबल हरजिंदर सिंह और राजवंत सिंह को उच्च अधिकारियों ने केस से निकाल दिया था । जिस का विरोध करते हुए उक्त पुलिस वालों के खिलाफ वह स्थानीय अदालत में गए थे जहां पर उनकी सुनवाई नही की गई और उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया था । इसके बाद वह गत वर्ष पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट की शरण में चले गए । महिला वकील ने बताया कि हाईकोर्ट ने उनकी दलीलों से सहमत होते निचली अदालत को उक्त केस में उक्त पुलिस अधिकारियों व कर्मीयों को शामिल करने के आदेश दिए थे । जिस के बाद अब जिला सैशन जज ने गत दिनों पूर्व डीएसपी और इंस्पैक्टर व दोनों हैड कांस्टेबलों को 26 मार्च 18 को अदालत ने भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी तलब किए है।
महिला वकील ने बताया कि जब वह उक्त पुलिस वालों पर कारवाई के लिए हाईकोर्ट गए थे तो हाईकोर्ट में जिस दिन उनकी पेशी थी उस से दो दिन पहले विजीलेंस बठिंडा के एक एएसआई की ओर से उनके पति व ससुर के खिलाफ एक झुठा केस तक दर्ज करवा दिया था । लेकिन वह पीछे नही हटे ।

इस संबंधी विजीलेंस के पूर्व डीएसपी जनक सिंह से बातचीत कर उनका पक्ष जाना गया तो उन्होनें कहा कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना और क्रीमीनल लोगों की ओर से अदालत को गुमराह किया गया है, जिस के चलते अदालत ने उन्हें तलब किया है। इस के बाद मौजूदा समय में ई ओ विंग में तैैनात इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला से बात की गई तो उन्होनें कहा कि अदालत ने उनका पक्ष नही सुना लेकिन अदालत का जो भी निर्णय आएगा वो मान्य होगा ।

भ्रष्टाचार एक्ट के तहत बतौर सह आरोपी तलब किए गए ई ओ विंग के इंस्पैक्टर गुरदेव सिंह भल्ला के बारे में जब बठिंडा के एसएसपी नवीन सिंगला से बातचीत की गई तो उन्होनें कहा कि उक्त मामला अभी पैडिंग है । जो अदालत में चल रहा है।

ऐसे भ्रष्टाचारी पुलिस अफसरों के चलते लोगों को नही मिलता इंसाफ
समाजसेवी बलविंदर सिंह ने कहा कि ऐसे भ्रष्टाचार करने वाले पुलिस अफसरों के कारण ही लोगों को पुलिस से इंसाफ मिलने की उमीद लगभग समापत हो चुकी है। अगर पुलिस विभाग के उच्च अधिकारी लोगों को इंसाफ देना चाहते है तो इस तरह से भ्रष्टाचार करने वाले पुलिस अफसरों को तुरंत नौकरी से निकाल देना चाहिए । तभी जाकर लोगों को इंसाफ मिल पाएगा ।

Have something to say? Post your comment
More Punjab News
बटाला-परिवार की खुशियां बदल गई मातम में,एक ही परिवार के पांच शवों से कांप उठा गांव ‌अहमदाबाद
इंसाफ के लिए साईकिल पर बीस किलोमीटर का सफर तय कर पहुंचता अधिकारियों के पास-पर सुनवाई कोई नही
जून में शादी थी,मई में आ गई मौत साऊदी अरब से ताबूत में पैक होकर पहुंचा गांव लंगरवाल में निशान सिंह का शव
बटाला-आईपीएल क्रिकेट मैचों पर दड्डा-सट्टा लगाने वाले गिरोह का पर्दाफाश
बठिंडा -आखीर एक साल बाद पटवारी को पुलिस ने धोखाधडी के केस में कर ही लिया नामजद
बठिंडा, -खसरे का टीका लगने से तेरह बच्चों की हालत बिगडी
बठिंडा,अदालत से हैरोइन चोरी होना अदालत की सुरक्षा में सेंध - सीसीटीवी कैमरे भी नही कैद कर पाए चोर को
बठिंडा,-लिफट देकर विवाहता को खेत में लिजाकर आरोपियों ने किया दुष्कर्म
बठिंडा-जमीनी झगडे को लेकर दो सगे भाईयों की हत्या
बठिंडा,प्रेमिका से परेशान होकर प्रेमी ने जहर निगल की खुदकुशी