Tuesday, October 23, 2018
Follow us on
Literature

ओंकार महायज्ञ में बैठने से नहीं आता कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट : शक्तिदेव

अटल हिन्द ब्यूरो | March 23, 2018 05:15 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

ओंकार महायज्ञ में बैठने से नहीं आता कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट : शक्तिदेव

-----

सामूहिक ओंकार महायज्ञ में स्वामी जी ने डाली संपूर्ण आहुति

लाडवा, 23 मार्च

: लाडवा-इंद्री मार्ग पर स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर में शुक्रवार को सामूहिक ओंकार महायज्ञ का आयोजन किया गया। ओंकार महायज्ञ का आयोजन जय ओंकार महायज्ञ समिति लाडवा द्वारा किया गया, जिसमें पूर्ण आहुति जय ओंकार अंतर्राष्ट्रीय सेवाश्रम संघ संस्थापक श्री श्री 1008 सद्गुरुदेव स्वामी श्री शक्ति देव जी महाराज, श्री श्री 1008 सद्गुरुदेव स्वामी संदीप ओंकार जी महाराज द्वारा महायज्ञ की परिक्रमा कर डाली। ओंकार महायज्ञ का शुभारंभ प्रचंड मां की स्वरूप कन्याओं व सत प्रकाश कंसल द्वारा ज्योति प्रज्ज्वलित कर किया गया। गणेश पूजन रणबीर ङ्क्षसह गुंदियानी व कलश पूजन सतीश गगैन द्वारा किया गया। राकेश गोयल व खेम चंद गोयल द्वारा भंडारे का शुभारंभ किया। कन्या पूजन सुरेंद्र गोयल व उसके परिवार द्वारा की गई। कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व जिला प्रधान पवन गर्ग, सूबे ङ्क्षसह, हेम चंद गोयल मु य यजमान के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर श्रद्धालुओं को प्रवचन करते हुए स्वामी शक्तिदेव जी महाराज ने कहा कि निराकार परब्रह्म ओंकार भगवान की महा प्रार्थना है ओंकार महायज्ञ है। ओंकार महायज्ञ में बैठने से कभी असाहय रोग व अकाल कष्ट नहीं आता है और उनका वंश पृथ्वी पर निरंतर जारी रहता है। ओंकार महायज्ञ से स्थानीय देवी-देवताओं को भी बल प्राप्त होता है, ताकि क्षेत्र में सुख-समृद्धि बनी रहे। प्रत्येक मंगल कार्यों के लिए ओंकार महायज्ञ किया जाता है। स्वामी जी ने श्रद्धालुओं को प्रतिदिन अपने घरों में कन्या पूजन व गौ पूजन अवश्य करने की बात भी कहीं। आश्रम के संचालक पंडित शिव नारायण दीक्षित ने कहा कि ओंकार महायज्ञ आत्मा कल्याण हेतु प्रत्येक शहर व गांव में धर्म प्रेमियों के सहयोग से किए जा रहे है। सामूहिक ओंकार महायज्ञ में विधिवत मंत्रोचारण के साथ सभी ने अपने-अपने हवन यज्ञों पर निराकार परब्रह्म ओंकार भगवान का पूजन किया गया। महायज्ञ को सफल बनाने में सहयोगियों व अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर स मानित किया गया। महायज्ञ के समापन पर कन्या पूजन के बाद विशाल भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें भारी सं या में श्रद्धालुओं ने पहुंचकर हलवा-पूरी, छोले व कड़ी-चावल का प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर संघ संचालक पंडित शिवनारायण दीक्षित, पवन गर्ग लाडवा, सेवा समिति सदस्य मांगे राम शर्मा, राजेंद्र शर्मा, ऋषि पाल सैनी धानोखेड़ी, प्रिंस धानोखेड़ी, गौरव लाडवा, मंजीत, सोनू शर्मा, अधिवक्ता राजेश दहिया, सुमित कंसल, प्रदीप गोयल, राजेश, अमित गर्ग, रमेश गुप्ता, राजेंद्र गोयल, मदन गोपाल, टेक चंद सहित भारी सं या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
More Literature News
सोनीपत-बाबा जिन्दा मेले में हजारों भक्तों ने माथा टेका
सत्संग से हमारा मन भगवान की याद में रम जाता है- ब्रहमचारिणी साध्वी ऋषि महाराज
गीता में मनुष्य जीवन का रहस्य छिपा-स्वामी ज्ञानानंद
श्रद्धालुशक्तिपीठ श्रीदेवीकूप भद्रकाली मंदिर में विशाल भगवती जागरण संपन्न
नवरात्रों के 6वे दिन श्रद्धालुओं ने की माँ भगवती की आराधना
काली कमली वाला मेरा यार है, मेरे मन का मोहन तू दिलदार है
कैसे और कब मनाएं श्रीमहाशिवरात्रि 13 या 14 फरवरी को ?
एक पर्व के लिए दो-दो तिथियां भविष्य नहीं आएगी सामने
श्रीमद् भागवत कथा में दिखाया कृष्ण-सुदामा चरित्र नेकी कर दरिया में डाल: गोस्वामी
31 जनवरी को चंद्रग्रहण ग्रहण पूरे भारतवर्ष में दिखाई देगा, सुतक सुबह 08 बजकर 14 मिनट से शुरू होगा