Tuesday, July 17, 2018
Follow us on
Business

व्यापारी व किसान विरोधी नीतियों के कारण प्रदेश में व्यापार व उधोग पूरी तरह पिछड़ा। - बजरंग दास गर्ग ।

नरेन्द्र जेठी | April 03, 2018 02:00 PM
नरेन्द्र जेठी
सरकार की  व्यापारी व किसान विरोधी नीतियों के कारण प्रदेश में व्यापार  व उधोग पूरी तरह पिछड़ा। - बजरंग दास गर्ग ।
केंद्र सरकार ने देश में पहली बार कपडा व  चीनी पर जी एस टी  टैक्स लगाकर गरीबो के साथ खिलवाड़ किया है। बजरंग दास गर्ग ।
नरवाना, 3 अप्रैल (नरेन्द्र जेठी) 
अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव व हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने व्यापारियों की समस्या सुनने के उपरान्त पी. डब्लू. डी. रेस्ट हाउस जींद में पत्रकार सम्मलेन में कहा कि हरियाणा सरकार पूरी तरह व्यापारी व किसान विरोधी है। इस राज में लगातार व्यापार व उधोग पिछड़ता जा रहा है। जिसके कारण आज व्यापारी बर्बादी के कगार पर है। हरियाणा सरकार की 15 दिन पहले की घोषणा के बावजूद भी सरसों की खरीद मंडी के आढ़तियों के माध्यम से नहीं हो रही। किसान अपनी सरसों को बेचने के लिए सरकारी एजेंसियों में धक्के खा रहा है। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग दास गर्ग ने कहा कि सरकार मंडियों से आढ़तियों का व्यापार खत्म करने पर तुली हुई है। कभी किसान की फसल ऑनलाइन खरीदने की बात करना व आढ़तियों को बिचोलिया कह कर व्यापारियों का अपमान करना जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। सरकार अपने निजी स्वार्थ के लिए किसान व व्यापारियों में टकराव करवाकर व्यापारी व किसान को बर्बाद करने में लगी हुई है जबकि किसान व व्यापारियों का सदियों से पारिवारिक संबंध है जिसे किसी कीमत पर टूटने नहीं दिया जाएगा। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग दास गर्ग ने कहा कि सरकार किसान की फसल बार-बार ऑनलाइन खरीदने की बात करके किसानों को परेशान कर रही है। जबकि किसान की फसल खुले बाजार में बिकने से किसानों को अपनी फसल के पूरे भाव मिलते हैं और ऑनलाइन फसल बिकने से किसान को फसल के कम भाव मिलेंगे। किसान पूरी तरह सरकार व अफसरों के चंगुल में फंस जाएगा जबकि किसान को ऑनलाइन की कोई जानकारी तक नहीं है। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग दास गर्ग ने कहा कि केंद्र सरकार ने 1 जुलाई 2017 से हर चीजों पर अनाप-शनाप जीएसटी लगाकर देश के किसान, कर्मचारी, मजदूर, व्यापारी व आम जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। भारत देश आजाद होने के बाद से कभी भी कपड़ा, आटा, खाद, चीनी आदि जरूरत के सामान पर  कभी कोई टैक्स नहीं लगा। इस सरकार ने गरीब का तन ढकने का कपड़ा व  चाय की मिठास चीनी पर टैक्स लगा कर गरीब जनता के साथ खिलवाड़ किया है। राष्ट्रीय महासचिव बजरंग दास गर्ग ने कहा कि पिछले दिनों केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि जीएसटी टैक्स प्रणाली में टैक्स की दरें कम करके अधिकतम 2 स्लैब 12 व 18  प्रतिशत  करने की बात कही थी। मगर कई महीने बीतने के बावजूद भी अभी तक टैक्स में स्लैब  व टैक्स की दरें कम नहीं की गई। जिन वस्तुओं पर वेट कर 5 व 12.5  प्रतिशत था उसे बढ़ाकर जीएसटी में 28 व 18 प्रतिशत कर दिया गया है। जिस पेट्रोल और डीजल पर 57 प्रतिशत टैक्स है उसे कम करके अभी तक जीएसटी के दायरे में नहीं लाया गया जो देश की जनता के साथ बहुत बड़ी ज़्यादती  है।यहा तक की  सरकारी अधिकारी अपने निजी स्वार्थ में व्यापारियों का माल रास्ते में रोक - रोक  कर नाजायज तंग कर रहे है और सरकारी अधिकारी दुकानों में  जा जाकर भी व्यापारियों से पैसे ऐठने का काम के रहे है। श्री गर्ग ने केंद्र व प्रदेश सरकार से मांग की है कि वह देश के व्यापारी, किसान, कर्मचारी, मजदूर व  आम जनता के हित में जीएसटी में पूरी तरह सरलीकरण करके टैक्स की दरें कम की जाए व हर अनाज की खरीद व फसल का भुगतान मंडी आढ़तियों के माध्यम से किया जाए और जो अफसर अपने निजी स्वार्थ के लिए व्यापारियों को नाजायज तंग करते है उनके खिलाफ सख्त  से सख्त  कारवाही की जाए ताकि देश के  व्यापारी व आम जनता को राहत मिल सके। व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग दास गर्ग ने महावीर कंप्यूटर को हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल का जिला प्रधान नियुक्त किया। इस बैठक में व्यापार मंडल के शहरी प्रधान ईश्वर बंसल, जिला प्रधान महावीर कंप्यूटर, प्रदेश प्रचार सचिव राजकुमार गोयल,उप प्रधान राधेश्याम बिंदल, महासचिव कृष्ण परुथी,सचिव सुरेश गर्ग, बर्तन एसो. प्रधान जितेंद्र जैन, धी - चीनी उप प्रधान ओम प्रकाश प्रधान रघुवीर गोयल, हांसी रोड  प्रधान रमेश, साड़ी एसो. प्रधान सावर गर्ग, नवजीत जैन, रामफल फौजी, राजेंद्र जैन, सुबे सिंह,राजेंद्र प्रसाद, मदन लाल सैनी, जैन समाज प्रधान नवनीत जैन,  रजनीश जैन, अनिल जैन, ताराचंद आदि व्यापारी प्रतिनिधि भारी संख्या में मौजूद थे।
Have something to say? Post your comment
More Business News
केंद्र का फैसला, बिना यूपीएससी भी बनेंगे अफसर, 10 मंत्रालयों में 3 साल का होगा टर्म, प्राइवेट कंपनी में काम करने वालों को भी मौका
सरकारी खरीद एजेंसी द्वारा गेहूँ की पेमेंट ना मिलने से व्यापारी व किसान परेशान--भगवान दास ।
सरसों की आवक जोर पर लेकिन सरकारी खरीद न होने से किसानों की जेब काटी जा रही है
महिला कौशल विकास योजना के तहत ब्युटीपार्लर का प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू।
नरवाना में जॉब फेयर का आयोजन
लहसुन की खेती करने से बढेगी किसानों आमदन : डा. सी.बी सिंह
बिटकॉइन को लेकर इनकम टैक्स विभाग के छापे, वेबसाइट बंद ! निवेशकों के करोड़ों रुपये फंसे
भारत देश में उद्योग के उत्पादन में लगातार गिरावट आ रही है।-बजरंग दास गर्ग
लिटल एंजल्स स्कूल बना लगातार चौथी बार विजेता
हत्या के मामले में दो आरोपियों सहित 6 को उम्र कैद की सजा