Saturday, May 26, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सफाई का जायजा लेने कैथल डीसी निकली सड़कों ,गलियों मेंकैथल-अधिकारी अपनी कार्यप्रणाली में बदलाव लाएं तथा गंभीरता से अपनी डियूटी निभाएं -डीसीहरियाणा में श्रमिकों के न्यूनतम मासिक और दैनिक वेतन (वेजिज) में वृद्धि करने की घोषणाबटाला-परिवार की खुशियां बदल गई मातम में,एक ही परिवार के पांच शवों से कांप उठा गांव ‌अहमदाबादराजकीय प्राथमिक पाठशाला ढाणी गांधीनगर नरवाना में अभिभावक - शिक्षक मेगा बैठक का आयोजन किया गया।कैथल-वाहनों की आवाजाही रहेगी बंद, जिला की आम जनता बढकर करे भागीदारी : मोदीकैथल-स्कूल स्थानांतरित होने की समस्या को लेकर डीसी से मिलने पहुँचे शक्ति नगर के ग्रामीण व सरपंचकेवाईएस ने किसानों की जमीन की नीलामी रोकी जाने और उनका कर्ज माफ किये जाने को लेकर मुख्यमंत्रीके नाम सौंपा ज्ञापन!
National

ऑनर किलिंग मामले में पांच को उम्र कैद

रणबीर रोहिल्ला | April 12, 2018 07:43 PM
रणबीर रोहिल्ला
ऑनर किलिंग मामले में पांच को उम्र कैद 
अदालत ने आरोपिओं पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत 30000 रूपये का जुर्माना भी किया

सोनीपत।

 

गांव मातंड में हुए ऑनर किलिंग के मामले में सुनवाई करते हुए अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डा. सुनीता ग्रोवर की अदालत ने बाद मां-बाप, बहन व दो चाचाओं को उम्र कैद की सजा सुनाई है। दोषियों ने घर से भागी बेटी को समझा-बुझाकर लाने के बाद उसकी हत्या कर शव बिटोड़े में जला दिया था। गोहाना ऑनर किलिंग मामले में एएसजे डा. सुनीता ग्रोवर की अदालत ने बलराज, सुदेश, राजू, सुरेश व मीना को उम्र कैद की सजा सुनाई। अदालत ने आरोपिओं पर आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत 30000 रूपये का जुर्माना भी किया गया। सरकारी वकील पवन अत्री ने बताया कि गांव मातंड निवासी बलराज की बेटी स्वीटी (17) राजकीय कालेज गोहाना में बीए प्रथम वर्ष में पढ़ती थी। 2 जुलाई, 2016 को उसके दादा धज्जाराम ने बरोदा पुलिस को बताया था कि उसका किसी युवक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। उन्होंने बताया था कि स्वीटी 15 दिन पहले युवक के साथ घर से चली गई थी। उस समय परिजनों ने पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी थी। कुछ दिन बाद परिजन उसे समझा-बुझाकर घर ले आए थे। बेटी के कदम से उसका पिता बलराज व मां सुदेश काफी आहत थे। इसी को लेकर 1 जुलाई, 2016 को झूठी शान के लिए स्वीटी की हत्या कर दी थी। मामले को दबाने के लिए स्वीटी के शव को बिटोड़े में डाल कर आग लगा दी गई थी। धज्जाराम ने मामले की सूचना पुलिस को दी थी। पुलिस ने फायर ब्रिगेड की टीम को बुला कर आग पर काबू पाया था। तब तक शव का अधिकतर हिस्सा जल चुका था। पुलिस ने शव के अवशेष बरामद करके उन्हें पोस्टमार्टम के लिए खानपुर कलां गांव स्थित बीपीएस राजकीय महिला मेडिकल कालेज के अस्पताल भेज दिया था। दादा धज्जाराम की शिकायत पर बलराज व सुदेश के खिलाफ 2 जुलाई, 2016 को हत्या व शव को खुर्द-बुर्द करने का मामला दर्ज किया गया था। मामले में बलराज के साथ ही उसके भाई राजू व सुरेश, पत्नी सुदेश व बेटी मीना की भी संलिप्तता मिली थी। मंगलवार को मामले की सुनवाई करते हुए एएसजे डा.सुनीता ग्रोवर की अदालत ने बलराज, सुदेश, राजू, सुरेश व मीना को दोषी करार दिया था। आज वीरवार को अदालत ने सभी पांचों आरोपिओं को उम्र कैद के साथ-साथ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत 30000 रूपये का जुर्माना भी किया गया

Have something to say? Post your comment
More National News
अमेठी में जब मॉ अपने बच्चे को नहीं लगवा रही थी टीका, तो उसके घर पहुॅच गये ऑफिसर
बाबा रे बाबा। भाजपा नेताओं का बाबा के प्रति प्यार बरकरार,चोरीछुपे मिलना भी शुरू।
सीएम मनोहर लाल ने खेली गिल्ली-डंडा और बच्चों को उठाया कंधों पर
भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और राबार्ट बाड्रा की मिलीभगत थी , जैसे ही हाईकोर्ट फैसला कर देगा रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दिया जाएगा--मनोहर लाल
युवा पत्रकार रवि अग्रहरि ने पौधरोपण कर मनाया अपना जन्मदिन पर्यावरण सेना के ब्लाक अध्यछ ने दिया अपने जन्मदिन पर पर्यावरण बचाने हेतु संदेश
प्रतापगढ़,जौनपुर -यू पी के दूल्हा दुल्हन ने मुम्बई में रचाई अनोखी शादी, -साईकल पर सवार होकर ब्याह रचाने दूल्हा पहुँचा दुल्हन के द्वार
मुम्बई-पर्यावरण सेना की हरित विवाह मुहिम का असर पूरे हिंदुस्तान में
दंगा, पत्थरबाजी, गोली, बम की बजाए शांति, प्रेम, विश्वास व विकास का मार्ग चुने-इंद्रेश कुमार
आम्रपाली एक्सप्रेस के डायनेमो बॉक्स में लगी आग
मुख्यमंत्री, चेयरमैन दोषी क्यों-कांग्रेस शासन में थी घर, दफ्तर में पेपर सैट करने की परंपरा