Wednesday, April 24, 2019
BREAKING NEWS
नेताओ की निगाह में कार्यकर्ताओं की कोई हैसियत नहीं ,कोई कार्यकर्त्ता नेता बने ये सहन नहीं 10 लोकसभा क्षेत्रों से नामांकन प्रक्रिया के आखिरी दिन 163 उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र दाखिल सोनीपत बनी सबसे हॉट सीट, राजनीति के दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव परदिल के अरमान आंसुओं में बह गए...राजकुमार सैनी नामांकन ही नहीं कर पाए दाखिल रामपाल माजरा ने किया अर्जुन चौटाला के चुनावी कार्यालय का उद्घाटन कर श्रीगणेश डेरा बाबा वडभाग सिंह के बाबा पर धोखाधड़ी का मामला दर्जजो पार्टी 72 हजार रूपए में श्रीमद्भगवत गीता को बेच सकते हैं , कुरूक्षेत्र से क्या न्याय कर पाएगी :- रणदीप सिंह सुरजेवालाजयहिंद के खिलाफ दर्ज हैं चार केसफरीदाबाद को गुंडाराज से मुक्ति दिलाएंगे पंडित नवीन जयहिंद:सिसोदियातरावड़ी नपा ने घोषित किया जहरीला जल, फिर भी पाली जा रही मछलियां

Sports

जनार्धन गहलोत ने एकेएफ आई भारतीय कबड्डी संघ पर लगाया भ्रष्टाचार का दाग-सुरेन्द्र कुमार

April 16, 2018 05:05 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

जनार्धन गहलोत ने एकेएफ आई भारतीय कबड्डी संघ पर लगाया भ्रष्टाचार का दाग-सुरेन्द्र कुमार
सन्नी मग्गू
जींद, 16 अप्रैल
कबड्डी का खेल कहने को तो भारतीय पंरम्परागत खेल है लेकिन पिछले 20 वर्षों से इस खेल की आड़ में भ्रष्टाचार का जो जाल फैलाने का काम एके एफ आई भारतीय कबड्डी संघ के प्रधान जनार्धन सिंह गहलोत ने किया है ऐसा पहले किसी भी संघ द्वारा नहीं किया होगा। क्योंकि जनार्धन गहलोत के खिलाफ प्रतिभावान खिलाडिय़ों के साथ नाइंसाफ  कर धनाढ्य लोगों से पैसे के बल पर खेल में दूसरे खिलाडिय़ों को आगे लाने के आरोप लगे है।

(SUBHEAD)

यहां तक के बंगाल, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली जैसे राज्यों के शहरों में गहलोत के खिलाफ एफ आईआर दर्ज है। यह बात रविवार को जींद के बुलबुल काम्पलैक्स में भारतीय कबड्डी संघ के नवनियुक्त प्रधान सुरेन्द्र कुमार, महासचिव रोहताश नांदल और उपाध्यक्ष प्रवीन यादव ने संयुक्त रूप से पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। प्रधान सुरेन्द्र कुमार ने कहा कि गहलोत ने भ्रष्टाचार के दम पर राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खिलाडिय़ों से रूपए लेना, महिला खिलाडिय़ों को तरह तरह की यातनाएं देकर सैंकड़ों की तादाद में खेल प्रमाण पत्र बेचने का गोरख धंधा चला रखा है।

 

(SUBHEA1)

इस गोरख धंधे में 2005 में दिल्ली के मुखर्जीनगर पुलिस स्टेशन में कई एफ आईआर एकेएफ आई भारतीय कबड्डी संघ के प्रधान जनार्धन गहलोत और सचिव गोविंद नारायण राजस्थान के खिलाफ दर्ज हुई है। खेल सर्टीफि केट बेचने का गोरख धंधा दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ सिद्ध भी हो चुका है जिसके लिए भ्रष्टाचारी व्यक्ति को सलाखों के पीछे होना चाहिए था लेकिन दल बदलकर जर्नाधन व उसका सचिव अपने आप को बचाने में कामयाब रहा है और राज्य सरकारों से दोहरे पैसे लेता रहा है। गु्रप बदलकर आईओ में अपना सिक्का चलाता रहा है। जबकि यह सिद्ध हो चुका है कि दिल्ली सरकार की आरटीआई आर्डर के माध्यम से इसके दलाल गोविंद नारायण का लडक़ा नवनीत दिल्ली सरकार से 2010 में 10 लाख रूपए और 2014 में दिल्ली सरकार से 20 लाख व राजस्थान सरकार से 30 लाख रूपए ले चुका है नवनीत को दोनों जगहों का वासी बताकर रूपए लेने का मामला सामने आया है और देश का सबसे सर्वोच्च अवार्ड नवनीत को गहलोत द्वारा दिलवाया गया है जो कि एक प्रतिभावान खिलाड़ी का हक था उसे छीनने का काम किया गया है।

सुरेन्द्र कुमार ने कहा कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्टीय खेलों के खिलाडिय़ों का चयन जनार्धन के घर से होता है और गोल्ड मेडल की एवज में जीतने रूपए सरकार खिलाडिय़ों को देती है उससे पहले ही कई गुणा रूपए खिलाडिय़ों से वसूलने का काम करता है। जितना बड़ा भ्रष्ट व्यापार खेलों के माध्यम से गहलोत ने किया है इतना तो बड़े से बड़ा अपराधी भी नहीं कर सकता। 2005 को दिल्ली में दर्ज एफ आइआर को अपने राजनितिक प्रभाव से, 2013 तक कांग्रेस में रहकर और बाद में अपना उल्लू सीधा करने के लिए भाजपा में शामिल होकर अपना बचाव कर रहा है। इस एफ आईआर में आरोप सिद्ध होने के बावजूद 2015 में बैंगलोर में करवाएं गए सिनियर नैशनल में खिलाडिय़ों को आसाम राज्य के नाम पर इनकी पत्नी मरदुल भटोरिया जो ऐकेएफ आई की प्रधान है द्वारा भी खेल प्रमाण पत्र दिए जिनकी सभी रिपोर्ट यह बता रही है कि जिन खिलाडिय़ों को इनकी पत्नी द्वारा प्रमाण पत्र दिए गए है वह न तो आसाम के निवासी है और न ही उस प्रतियोगिता में खेले थे। भारतीय कबड्डी संघ के पदाधिकारियों ने खिलाडिय़ों के उज्ज्वल भविष्य को देखते हुए केंद्र सरकार, खेल मंत्रालय एवं इंडियन ओल्मपिक एसोसिएशन से सभी पहलुओं पर सीबीआई जांच करवाने और इस भ्रष्ट पदाधिकारियों को तुरंत प्रभाव से कबड्डी संघ से बेदखल करने की मांग करती है ताकि देश के ग्रामीण आंचल में बैठे अच्छी प्रतिभा वाले खिलाडिय़ों को अपना भविष्य बनाने का अवसर मिल सके और नवनीत को दिए गए अर्जुन अवार्ड छीनकर जिस खिलाड़ी का हक था उसे उसका हक दिया जाना चाहिए और दोनों राज्यों से लिए गए रूपए ब्याज समेत वसूल किए जाने चाहिए। इस मौके पर हरियाणा कबड्डी संघ के प्रधान विजय प्रकाश, अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी नरेश पहलवान, रणधीर सिंह श्योराण, मिडिया बोर्ड के चेयरमैन आनन्द लाठर, विजेन्द्र सिंह सहित बड़ी संख्या में कबड्डी संघ के पदाधिकारी मौजूद रहे।

Have something to say? Post your comment

More in Sports

तोशाम के गांव बुशान में बाबा बीरबल नाथ के मेले व विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन

किकबाक्सिंग चैम्पियनशिप में फरीदाबाद डै्रगन मार्शल आर्टस एकेडमी ने कब्जा जमाया

खेलों से समय के महत्व, अनुशासन तथा टीम भावना का विकास होता है- प्रियंका सोनी

पूंडरी-छेड़छाड़ से परेशान राष्ट्रीय फुटबॉल खिलाड़ी ने दे दी जान

गुरु तेग बहादुर खालसा पब्लिक स्कूल की छात्राओं ने जीता गोल्ड व सिल्वर मैडल

हरियाण केसरी का खिताब विशाल पुत्र कुलदीप निवासी झज्जर ने अपने नाम किया

महिला पहलवानों ने हरियाणा का नाम चमकाया है विश्व पटल पर : अतिरिक्त उपायुक्त

हरियाणा केसरी व कुमारी दंगल के दूसरे दिन विभिन्न आयु वर्गो में कुश्ती अखाड़ा प्रतियोगिता आयोजित

दीवाल इन्टरनैशनल स्कूल थाना में एक दिवसीय कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन

नवदीप स्टेडियम में हॉस्टल की बिल्डिंग का उद्धाटन