Wednesday, June 20, 2018
Follow us on
Uttar Pradesh

मान्धाता-जल निगम विभाग में महा घोटाला,पानी की टंकी चढी भरस्ट्राचार की भेंट

राहुल अग्रहरि उर्फ रवि ब्यूरो चीफ pbh | April 16, 2018 05:08 PM
राहुल अग्रहरि उर्फ रवि ब्यूरो चीफ pbh

मान्धाता-जल निगम विभाग में महा घोटाला,पानी की टंकी चढी भरस्ट्राचार की भेंट

 

जल निगम ठेकेदारों ने घटिया समान यूज कर पानी टँकी को बना दिया शोपीस

 

शासन से लेकर अधिकारी भी ले रखे है मौन व्रत, कारवाही के नाम पर मात्र सान्त्वना देते है अधिकारी

 

जल निगम विभाग में एक लाख अस्सी हजार के महा घोटाले कि आ रही है बदबू 

जनप्रतिनिधि सिर्फ उद्घाटन करना जानते है काम हुआ या नही इससे कोई मतलब नही

 

 

 

 

 जनपद प्रतापगढ़ में जैसे जैसे गर्मी का प्रकोप बढ़ रहा है जल स्तर धीरे-धीरे नीचे खिसक रहा है वैसे वैसे  पानी की समस्या ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ती ही जा रही है एक ताजा मामला जनपद प्रतापगढ़ के विकास क्षेत्र मानधाता के उसरा पुर गांव का सामने आया है इस गांव में पूर्व विधायक उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वर्गीय राजाराम पांडे के प्रयास से जल निगम विभाग द्वारा पानी की टंकी क्यू  पी वी योजना के अंतर्गत प्रदान की गई यह टंकी इसलिए स्थापित की गई कि उनका कोई सपना रहा होगा परंतु ईश्वर को नहीं मंजूर था वे थोड़े ही समय मे ब्रहमलीन हो गये । और पानी की टंकी जल निगम विभाग प्रतापगढ़ द्वारा बनवाई गई सरकार के द्वारा एक करोड़ 1800000 रुपए इस पानी की टंकी को बनवाने के लिए जल निगम विभाग को मुक्त किया गया परंतु प्रतापगढ़ में जल निगम विभाग वही है जो घोटालों की भेंट चढ़ा हुआ है

    Delete Preview

 

कितनी परियोजनाओं को अपूर्ण पाया गया है जिलाधिकारी प्रतापगढ़ शंभू कुमार एवं मुख्य विकास अधिकारी राजकमल यादव के द्वारा स्थलीय निरीक्षण करके उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह की शिकायत पर जांच हुई और थाना कोतवाली नगर में संबंधित अधिकारियों ठेकेदारों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई तब से जल निगम विभाग प्रतापगढ़ के अधिशासी अभियंता राजेश खरे सुर्खियों में बने रहे वही बिकास क्षेत्र मानधाता के उसरा पुर गांव में राजस्व गांव कैला काला कैला खुर्द चौबेपुर उसरा पुर यह चार राजस्व गांव को मिलाकर 1 ग्राम सभा उसरा पुर बनती है इस गांव की जनता को हर घर तक जल निगम की पानी की टोटी पहुंचाने का सपना सरकार के पूर्व विधायक मंत्री ने देखा रहा होगा परंतु आज यह सब सपना भ्रष्टाचार के चलते भेट चढ़ गया है आज जब इस पानी की टंकी की हकीकत खंगाली गई तो पता चला कि जब पानी की टंकी की मोटर चला कर पानी लोड किया जाता है तो यह पानी की टंकी से पानी टपकने लगता है

    Delete Preview

 

और यदाकदा जब यह ऑपरेटर के द्वारा सोचा गया कि पानी की सप्लाई किया जाए तो जो पाइप जल निगम विभाग एवं ठेकेदार के द्वारा जमीन में डाली गई है सपलाई हेतु जैसे ही पानी को खोला जाता है तो वह घटिया पाइप जगह-जगह भ्रष्ट हो जाती है अभी कुछ बस्तियों में पाइप लाईन डाली ही नहीं गई है बताया जाता है कि विभाग द्वारा पूरा पैसा भुगतान कर दिया गया है वही ब्राह्मण बस्ती हरिजन बस्ती और यादव बस्ती में आज तक पाइप लाइन बिछाने का काम ही नहीं किया गया है ठेकेदार एवं  लेबर सब इस काम को छोड़कर भाग चुके हैं संबंधित ग्राम सभा के ग्राम प्रधान इंद्र कुमार मिश्र पियरी को जब ग्राम वासियों ने जल निगम विभाग के द्वारा स्थापित पानी की टंकी के बारे में बताया गया कि यह पानी की टंकी केवल शोपीस बनी हुई है ग्राम वासियों को इसका फायदा नहीं है जलस्तर दिन पर दिन नीचे ही जा रहा है गांव में लगाए गए इंडिया र्माका टू हैडं पम्प एवं देसी नल भी पानी छोड़ चुके  हैं आम जनता जनार्दन को एवं मवेशियों को पानी पीने के लिए बहुत मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है इस बात को संज्ञान में लेते हुए ग्राम प्रधान इंद्र कुमार मिश्रा के द्वारा जिला अधिकारी प्रतापगढ़ के कार्यालय में जाकर लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र दिया गया उस दिन जिला अधिकारी प्रतापगढ़ मौजूद नहीं थे उनके स्थान पर सी आर ओ  प्रतापगढ़  बैठे थे उनके द्वारा  मामले को गंभीरता से लेते हुए 1 सप्ताह के अंदर जांच कराकर दोषी के विरुद्ध कार्यवाही करने को कहा और निवारण भी कराया जाएगा।

    Delete Preview और बिधायक ने उदघाटन भी कर दिया  यह पत्थर इस बात की गवाहीजरूर  दे रहा है कि जल निगम की टंकी में पानी चालू हैं मोटर चले या ना चले ग्रामीणों को पानी मिले या ना मिले इन सब से इन माननीयों का कोई लेना-देना नहीं है एक वीडियो बयान के माध्यम से ग्राम प्रधान इंद्र कुमार मिश्रा उर्फ पियरी महाराज ने संबंधित जल निगम विभाग के द्वारा बनवाई गई टंकी की हकीकत बयां वीडियो बयान के माध्यम से करते नजर आए अब देखना यह है कि जल निगम विभाग प्रतापगढ़ में महा भ्रष्टाचार  की कड़ी में एक कड़ी और आज जुड गई हैं  उसरा पुर ग्राम सभा की जल निगम की पानी की टंकी स्वयं में गवाही दे रही हैकि प्रतापगढ जनपद मे राजेश खरे अभियन्ता जल निगम प्रतापगढ ऊची पहुंच वाले हैं इसी लिए इस जिले में लगभग 15 बर्षों से लागातार जमे हैं ।और उनका कोई जिले का नेता कुछ नही कर सका और वे सबकी आखं मे धूल झोंक कर नौकरी की हैं उनके बिभाग  एवं उनके काम ही इस जिले मे गवाही दे रहे हैं 

 परंतु प्रतापगढ़ जिला तो वही जिला है  शिकायतकर्ता है परंतु शिकायत पत्र रद्दी की टोकरी में डाल दिया जाता है 1 सप्ताह बीत जाने के बाद ना ही कोई जिम्मेदार जांच करने पहुंचे ना ही शिकायत का निवारण हुआ संबंधित ग्राम प्रधान के द्वारा अभिलंब जिलाधिकारी प्रतापगढ़ शंभू कुमार को मामले से पुनः अवगत कराया जाएगा 

Have something to say? Post your comment
More Uttar Pradesh News
सीएमओ साहब ! अस्पताल तो फार्मासिस्ट चला रहा है, गौर तो करेंगें ?
एक व्यक्ति, एक वृक्ष, योजना में जनसहभागिता की आवश्यकता डीएम अमेठी
1862 में बना था मुग़लसराय स्टेशन इतिहास के पन्नों में दर्ज
राष्ट्रीय पर्यावरण सुरक्षा संघ ने विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून को ग्रीन डे के रूप में मनाया
दहेज न मिलने पर ससुराल वालों ने उठाया खौफनाक कदम
माता सीता का अपमान संपूर्ण नारी जाति एवं सनातन धर्म का अपमान है :-ओम प्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास
पीस कमेटी की बैठक में पहुॅचे भाजपा जिलाध्यक्ष उमाशंकर पाण्डेय जानिए क्या हुयी चर्चा
प्रतापगढ़-भजन संध्या पर खुब थिरके श्रोतागण ,लिया भजनों का आनन्द
प्रतापगढ़-विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता गोष्ठी का आयोजन
क्या है शुकुल बाजार में खास, अधिकारियों को स्थानान्तरण नहीं आता रास ?