Wednesday, June 20, 2018
Follow us on
Rajasthan

ये हैं रतनगढ़ तहसील के प्रेमनगर, आलसर गांव के दुलाराम जी मेघवाल...

अटल हिन्द ब्यूरो | April 17, 2018 07:13 PM
अटल हिन्द ब्यूरो

ये हैं रतनगढ़ तहसील के प्रेमनगर, आलसर गांव के दुलाराम जी मेघवाल...

दुलाराम जी सेवाभाव से रोजाना 50 से अधिक लोगों के शरीर में दर्द, जोड़ो में दर्द, टूटी हुई हड्डी या नस, नाड़ी के दबने से होनेवाले दर्द का प्रभावी ईलाज अपने स्वयं के पैसों से देशी दवाईयां लाकर करते हैं। आप रोगी के घर जाकर देखने का भी कोई पैसा नहीं लेते हैं।

एक तरफ समाज में दुलाराम जी जैसे साधारण कमाई वाले, कम पढ़ेलिखे या अनपढ़ निस्वार्थ सेवाभावी लोग देखने को मिलते हैं और दूसरी तरफ संपन्न और सभ्य समाज से कहाने वाले धरती के तथाकथित भगवान या डॉक्टर्स हैं।

जो सरकार से उचित वेतन-भत्ते मिलने के बाद भी गरीब मरीजों से पैसे लेकर, जानबूझकर बाहर की दवाईयां लिखकर, अनावश्यक जांचें में कमीशन खाकर लूटने में कोई कोर कसर नहीं रखते हैं।

इनकी पैसों की भूख कभी नहीं मिटती है...

दुलाराम जी व इनकी विचारों में कितना फर्क है।

कभी सेवा की मूल भावना वाले पावन और संवेदनशील चिकित्सा पेशे में आज ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाने की लालसा सेवा की भावना पर हावी हो रही है।

जो दुखद है और धरती के भगवानों से अनैतिक और असंवेदनशील काम करवा रही है। आमजन की नजरों में इन्हें गिरा रही है।

Have something to say? Post your comment