Friday, October 19, 2018
Follow us on
National

हरियाणा का कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय देश के सर्वश्रेष्ठ व सुंदर विश्वविद्यालयों में अग्रणी है :उपराष्ट्रपति नायडु

राजकुमार अग्रवाल | April 19, 2018 07:54 PM
राजकुमार अग्रवाल

हरियाणा का कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय देश के सर्वश्रेष्ठ व सुंदर विश्वविद्यालयों में अग्रणी है :उपराष्ट्रपति नायडु


कुरुक्षेत्र, 19 अप्रैल।

 

भारत के माननीय उपराष्ट्रपति, श्री एम. वेंकैया नायडु जी ने कहा कि नवभारत निर्माण के लिए युवाओं के उत्साह और उर्जा के सही उपयोग जरूरी है। एक युवा देश के लिए मानव संसाधनों का समुचित उपयोग वर्तमान और आने वाले समय की सबसे बड़ी चुनौती है। अगर युवा पीढ़ी को सही दिशा दी जा सके तो भारत एक विश्व शक्ति के रूप में उभर सकेगा।
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायड़ु कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के आडिटोरियम हॉल में 31वें दीक्षान्त समारोह में बतौर मुख्यातिथि के रूप में बोल रहे थे। इससे पहले उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु, राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा व कुलसचिव डॉ. प्रवीण कुमार सैनी ने दीपशिखा प्रज्ज्वलित कर विधिवत् रूप से 31वें दीक्षान्त समारोह का शुभारंभ किया। इस दौरान कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलाधिपति एवं राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने कुलपति डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा के अनुरोध करने पर परम्परानुसार दीक्षान्त समारोह को शुरू करने की घोषणा की और 31वें दीक्षान्त समारोह में वर्ष 2016-17 सत्र के 106 विद्यार्थियों को पीएचडी, 35 को एमफिल सहित स्नातक व स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को डिग्रियां वितरित की और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु ने कला एवं भाषा संकाय के गौरव श्रीवास्तव, समाज विज्ञान संकाय की रीना सैनी, जीव विज्ञान संकाय की रवीना, विज्ञान संकाय की मंजीत कौर, शिक्षा संकाय की ज्योति अहलावत, प्राच्य विद्या संकाय की सलोनी मित्तल, वाणिज्य एवं प्रबंधन संकाय की शिवानी, विधि संकाय के निशांत कुमार जिलोवा व अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संकाय की नेहा को गोल्ड व मेरिट सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।उपराष्ट्रपति ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को देश की सबसे सुंदर यूनिवर्सिटी की संज्ञा देते हुए और इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए राज्य सरकार और विश्वविद्यालय के कुलपति की प्रशंसा करते हुए कहा कि कुरुक्षेत्र की इस पुण्य भूमि का न केवल हरियाणा राज्य में अपितु सम्पूर्ण भारतवर्ष एवं करोड़ो भारतीयों के मानस में एक विशेष स्थान है। यह गीता स्थली हमारी पुरानी सभ्यता की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक व भौतिक समृद्धि का परिचायक रही है। इस पावन धरा पर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय हरियाणा का पहला ए प्लस श्रेणी का विश्वविद्यालय है। यह विश्वविद्यालय हरियाणा ही नहीं अपितु पूरे देश में एक आदर्र्श स्वायत्त संस्था के रूप में अपनी एक अलग पहचान बनाएगा।
उन्होंने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय बेटियों द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों पर बोलते हुए कहा कि भारत में वैदिक काल से बेटियों का सम्मान किया जाता है। इस देश में सभी नदियां का नाम महिलाओं पर आधारित है और वेदों में भी महिलााओं को सर्वोच्च स्थान दिया गया है लेकिन परिवर्तन के कारण आज देश में बेटियों के प्रति जो घटनाएं घट रही हैं वे दुर्भाग्यपूर्ण है आज हमें बेटियों के मान सम्मान की नज़र से देखना चाहिए और बेटों और बेटियों में कोई फर्क नहीं समझना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को 5 बिंदुओं मां, जन्मभूमि, मातृभाषा, मातृदेश और गुरू का सम्मान करना चाहिए। वर्तमान समय में परिवर्तन आया, आईटी और इंटरनेट गूगल का जमाना आया लेकिन गूगल गुरू का कभी स्थान नहीं ले पाएगा।उपराष्ट्रपति ने कहा कि आज हिंदी भाषा के साथ-साथ युवाओं को अन्य भाषाओं का भी ज्ञान होना जरूरी है। हिंदी के बिना देश कभी आगे नहीं बढ़ पाएगा लेकिन राष्ट्रीय एकता को सुदृढ़ बनाने के लिए हिंदी के साथ-साथ सभी भाषाओं का ज्ञान जरूरी है। उन्होंने कहा कि शिक्षा को केवल रोजगार के रूप में ही नहीं देखना चाहिए। शिक्षा से मनुष्य का सर्वांगीण विकास संभव है। इन्ही तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार एक नई शिक्षा नीति का निर्माण कर रही है। नई नीति का नारा है नई शिक्षा नीति, कार्य साकार, ज्ञान, योग्यता और रोजगार। इतना ही नहीं भारत को एक आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने के लिए अच्छी शिक्षा और प्रशिक्षण की जरूरत है। 21वीं सदी में अनुसंधान नवरचना, और तकनीकी ज्ञान को सफलता के मूल मंत्र के रूप में समझा जा रहा है।उन्होंने कहा कि भारत विश्व का सबसे युवा देश है। इस देश में करीब 65 प्रतिशत हिस्सा युवा शक्ति है इसलिए इस युवा शक्ति का सदुपयोग कर राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया को गति दी जा सकती है। उन्होंने आस्ट्रेलिया में कॉमन वेल्थ गेम्स में खिलाडिय़ों के सराहनीय प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि देश को गोल्ड मेडल जिताने में हरियाणा के खिलाडिय़ों का भी अहम योगदान है। इसके लिए भी राज्य सरकार बधाई की पात्र है। उन्होंने कहा कि सरकार देश में स्वराज शासन की स्थापना करने की तरफ आगे बढ़ रही है इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ-साथ आम नागरिकों को अपना योगदान देना चाहिए लेकिन देश में अभी भी कई जगह ऐसी घटनाएं घट रही हैं जो देश के विकास के लिए सही नहीं हैं। अगर किसी को अपनी शंका व समस्या का समाधान करना है तो उनको अहिंसा और प्रदर्शन का रास्ता छोडक़र शान्ति, सद्भावना का मार्ग इख्तियार करना होगा।कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा ने मेहमानों का स्वागत करते हुए कहा कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा 31वां दीक्षान्त समारोह आयोजित करना एक एतिहासिक क्षण है। इस विश्वविद्यालय द्वारा लगातार दूसरे वर्ष दीक्षान्त समारोह का आयोजन किया गया और इस दीक्षान्त समारोह में 2495 विद्यार्थियों को विभिन्न संकायों में डिग्रियंा प्रदान की गई हैं। इस विश्वविद्यालय को अक्टूबर 2017 में नैक द्वारा ए प्लस का दर्जा दिया गया है और देश में टॉप टेन की सूची में आठवां स्थान हासिल किया है। कुलपति ने विश्वविद्यालय के विद्यार्थियो को तैत्तिरीय उपनिषद शिक्षावल्ली की शिक्षाओं के माध्यम से भावी जीवन के लिए अमूल्य शिक्षाएं दी। इस कार्यक्रम के अंत में शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडु और कुलपति डॉ. कैलाश चन्द्र शर्मा ने राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी व शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा को शाल व स्मृति चिन्ह भेंट किया। इस मौके पर हरियाणा के सामाजिक एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी, विधायक सुभाष सुधा, जिला परिषद चैयरमेन गुरदयाल सुनहडी, भाजपा जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, पूर्व मंत्री देवेन्द्र शर्मा, डीन एकेडमिक अफेयर प्रो. श्याम कुमार, छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. पवन शर्मा, परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह सहित सभी संकायों के डीन, विभागाध्यक्ष, निदेशक, प्रिंसीपल, अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी व विद्यार्थी मौजूद थे।
बाक्स
हरियाणा के गृहसचिव एसएस प्रशाद बने डाक्टर
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के 31वें दीक्षान्त समारोह में हरियाणा सरकार के गृहसचिव वरिष्ठ आईएएस अधिकारी एसएस प्रसाद को लोक प्रशासन विषय में पीएचडी की उपाधि मिली।
बाक्स
तालियों की गडग़डाहट के बीच दिव्यांगों ने हासिल की डिग्रियां
तालियों की गडग़डाहट के साथ दिव्यांगों का किया विद्यार्थियों ने अभिनंदन
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालयों के आडिटोरियम हॉल में नजारा उस समय देखने लायक था जब दिव्यांग छात्रा नेहा शर्मा को संगीत व नरेन्द्र कुमार को एजुकेशन में एमफिल में डिग्री दी गई तो दर्शकों ने लगातार तालियों की गडग़ड़ाहट से सभी मेहमानों का दिल जीत लिया। दिव्यांगों को लेकर युवा पीढ़ी की सोच की सभी ने सराहना की
बाक्स
उपराष्ट्रपति ने अपनी पुरानी यादो को भी साँझा करते हुए कहा की मै किसान परिवार से सम्बन्ध रखता हूँ ओर परिवार मे भी कोई ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं है लेकिन यदि आप मेहनत करते हो तो उसका फल जरूर मिलता है जिस प्रकार मुझे मिला है।

Have something to say? Post your comment
More National News
नवरात्रि के सुअवसर पर हुआ नवाचार, किया गया फलाहार का आयोजन
मुम्बई-ईसाई मशीनरी द्वारा धर्म परिवर्तन का घिनौना खेल जोरो पर
डिजिटल फाउन्डेशन ने अमेठी मुसाफिरखाना के युवक को बनाया ठगी का शिकार आखिर पुलिस कब करेगी कार्यवाही
तीसरा मोर्चा मजबूत हुआ तो मायावती पीएम और इनेलो की सरकार बनने के लिए तैयार है : औमप्रकाश चौटाला
डिजिटल फाउन्डेशन के अन्य प्रदेशों से जुड़े तार, करोड़ों लेकर फरार
बेरोजगारों के पैसों से होती थी अय्यासी, हजारों को बनाया ठगी का शिकार, करोड़ो लेकर फरार
जीन्द-दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत
श्राद्धपक्ष में ढूंढे नहीं मिलते कौवे कंक्रीट के जंगलों के कारण कौओं के अस्तित्व पर खतरा
अमेठी सांसद राहुल गांधी की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की हुयी बैठक, राज्यमंत्री सुरेश पासी भी रहे मौजूद, बैठक में कई बार नाराज हुये अमेठी सांसद, जानिए क्यों ?
परिचय सम्मेलन में लांच की रोहिल्ला ऐप 251 युवक-युवतियों को हुआ परिचय सम्मेलन