Saturday, November 17, 2018
Follow us on
BREAKING NEWS
सुल्तानपुर जिलाधिकारी महोदय खनन पर कर रहें नजर अंदाज भूमाफियाओं कें आगे प्रदेश सरकार की बोलती हुयी बंदजोगी बंगले में गजराज पगारिया की पिटाई, थाने पहुंचा मामलाचौटाला परिवार के दोफाड़ - इनेलो मुख्यालय का नया पता फ्लैट नंबर-109, सेक्टर-3एसपी आस्था मोदी का कैथल से अम्बाला हुआ तबादलाकैथल जिला की पुलिस कैसे साफ़ सुधरी रह सकती है जिला पुलिस कप्तान आस्था मोदी कुछ भी कहती रहे हिमाचल के पत्रकारों को भी जल्द दिलाएंगे हरियाणा की तर्ज पर पेंशनकैथल चीनी मिल चिप घोटाले में सरकार द्वारा शीघ्र जांच करवाकर उचित कार्रवाई की जाएगी : ग्रोवरचंद्रबाबू नायडू के समक्ष विपक्षी एकता की चुनौती
National

इनेलो ने तत्कालीन राज्यपाल जीडी तपासे के मुंह पर कालिख पोतने वाले अपने समर्थक को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया था

राजकुमार अग्रवाल | April 20, 2018 04:40 PM
फाइल फोटो ----
राजकुमार अग्रवाल
इनेलो ने   तत्कालीन राज्यपाल जीडी तपासे के  मुंह पर कालिख पोतने वाले अपने समर्थक को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया   था 
 
 
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने इनेलो के बसपा के साथ गठबंधन पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा की टिप्पणी को इनेलो के चरित्र के अनुरूप अहंकार और घमंड से परिपूर्ण बताया है
 
 
चंडीगढ़, 20 अप्रैल-(राजकुमार अग्रवाल )
 
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने इनेलो के बसपा के साथ गठबंधन पर प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा की टिप्पणी को इनेलो के चरित्र के अनुरूप अहंकार और घमंड से परिपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि इसी मानसिकता की बदौलत इनेलो को जनता ने बीते 15 साल से सत्ता से बाहर बिठा रखा है। यही नहीं जब-जब इनेलो सत्ता में रहती है , तब-तब दलित समुदाय के हितों पर कुठाराघात करने और उन्हें हतोत्साहित किया गया है। 
दरअसल गत दिवस इनेलो प्रदेशाध्यक्ष अशोक अरोडा द्वारा गठबंधन पर राजनीतिक दलों की प्रतिक्रिया पर कहा गया था कि हाथी मस्ती में चलते हैं और कुत्ते भौंकते हैं। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि इनेलो नेताओं की भद्दी जबान और सोच की वजह से जनता ने उन्हें बीते 15 साल से कुर्सी से उतार रखा है। 
उन्होंने कहा कि इनेलो ने हमेशा दलित वर्ग को दबाने का काम किया है। गांवों में उनके कार्यकत्र्ता न केवल दलित बस्तियों में भय का माहौल बनाते थे, अपितु विकास में भी अवरोध उत्पन्न करते थे। उन्होंने कहा कि 1990 में तत्कालीन केंद्र सरकार द्वारा मंडल आयोग की सिफारिशों को लागू करने की घोषणा की तो पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के इशारे पर पूरे प्रदेश में मंडल आयोग के खिलाफ रास्ते जाम करते हुए सैंकड़ों बसों को आग के हवाले कर दिया गया, क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि मंडल आयोग की सिफारिशों के लाभ पिछड़ा वर्ग को मिले।
टोहाना विधायक बराला ने कहा कि वर्ष 1982 में तत्कालीन राज्यपाल जीडी तपासे को अपमानित कराने वाली इनेलो ने उनके मुंह पर कालिख पोतने वाले अपने समर्थक को सार्वजनिक तौर पर सम्मानित किया और 1987 में आम चुनाव में डॉ कृपाराम पूनिया के बहाने सत्ता की हिस्सेदारी करने वाले चौटाला परिवार ने उन्हें चीन में अपमानित करवाते हुए दलित समाज को अपनी संकीर्ण विचारधारा से दबाने की कोशिश की। 
उन्होंने कहा कि दलित समाज को लेकर इनेलो की कुटिल नीति के उदाहरणों से इतिहास भरा है। आज इनेलो नेताओं का अहंकार ऊंचाई पर है, इसी वजह से आज इनेलो रसातल में पहुंच गई है।
Have something to say? Post your comment
More National News
अगर अपने क्षेत्र से “atalhind” www.atalhind.com पर न्यूज़ भेजना चाहते हैं तो आप अपनी डिटेल हमें WhatsApp 9416111503 पर भेजे।
तीन कैबिनेट सहयोगियों को खो चुके हैं पीएम मोदी
पोंजी घोटालाः दो दिन की पूछताछ के बाद खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी गिरफ्तार
उड़ीसा के राज्यपाल गणेशीलाल 18 को जीन्द में
2 करोड़ रुपये पेन्शन दे रही हरियाणा विधानसभा, सजायाफ्ता और धन्नासेठ तक ले रहे फ़ायदा
मनोज तिवारी विवादों का नाम या सुर्ख़ियों में रहने और आप को बदनाम करने का ?
मनोज तिवारी में सरे आम दिल्ली पुलिस में कर्मी को मारा थप्पड़ -दिल्ली पुलिस चुप
ब्रेकिंग जींद -इनेलो के बाद जींद में कांग्रेस को लगा भारी झटका
नरवाना में पुलिस पब्लिक सम्मेलन का आयोजन
बिग ब्रेकिंग-इनैलो नेता कृष्ण मिढ़ा ने थामा भाजपा का दामन