सरस्वती सरोवर पिहोवा पर नशे में चूर पड़े हुए शराबी युवक
सरस्वती सरोवर पिहोवा पर नशे में चूर पड़े हुए शराबी युवक

 

सरस्वती सरोवर पिहोवा पर नशे में चूर पड़े हुए शराबी युवक
प्रशासन की नाकामी,सरस्वती सरोवर के आसपास धड़ल्ले से चलते हैं  शराब के अवैध खुर्दे
नशे में धूत शराबियों से सरोवर पर आने वाले श्रद्धालुओं की श्रद्धा होती है आहत
पिहोवा 17 अक्टूबर (पृथ्वी सिंह):-
सरस्वती सरोवर पिहोवा पर नशे में चूर पड़े हुए शराबी युवक
पिहोवा स्थित धार्मिक स्थल सरस्वती सरोवर की महत्ता भारत देश के अलावा विदेशों में रह रहे लोगों के दिलों में भी है,आये दिन विभिन्न राज्यों से श्रद्धालुओं का आवागमन रहता है। श्रद्धालुओं की अटूट श्रद्धा उस समय आहत होती है,जब वे सरस्वती सरोवर के आसपास शराब के नशे में चूर लोग पड़े हुए देखते हैं। कई बार शराब के नशे में श्रद्धालुओं से भीख लेने के लिए उनके पीछे पीछे लगे रहते हैं। मृतक परिजनों की आत्मिक शांति के लिए कर्मकांड करवाने आये श्रद्धालु रवि प्रकाश, संतोष, राजू,डिम्पल इत्यादि ने बताया कि वह जब सरस्वती सरोवर पर स्थित मंदिर के समीप पहुंचे तो भीख लेने के लिए काफी संख्या में महिलाएं व बच्चे आ खड़े हुए और उन्होंने श्रद्धा मुताबिक उन्हें दिया तो वे उनके पास से चले गए। लेकिन उनके बाद शराब के नशे में दो तीन युवक उनसे भीख मांगने लगे। उनसे शराब की बदबू दूर से आ रही थी और वो ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे।भीख लेने के लिए वो दूर तक उनके पीछे पीछे लगे रहे। जब उनसे पीछा छुड़वाकर आगे गए तो शौचालय के समीप दो लोग नशे में पड़े हुए थे। उन्होंने कहा कि धार्मिक स्थल पर ऐसे लोगों की उपस्थिति श्रद्धालुओं के मन को ठेस पहुंचाने का कार्य करती है। आमजन ने इसके लिए स्थानीय प्रशासन को जिम्मेवार ठहराया। नाम ना छापने की शर्त पर लोगों ने बताया कि सरस्वती सरोवर के आसपास शराबियों की उपस्थिति आम बात हो गई है क्योंकि अवैध खुर्दे भी सरोवर के आसपास हैं। इन्ही खुर्दो से सरोवर पर भीख मांगने वाले लोग तथा नशेड़ी शराब पीते हैं तथा नशे की हालत में सरोवर पर ही पड़े रहते हैं। बहुत से नशेड़ी हर वक्त सरोवर पर ही घूमते रहते हैं, भीख मांगकर शराब पी लेते हैं । स्थानीय लोगों ने बताया कि अभी तक कई लोग शराब के नशे में सरस्वती सरोवर  पर मृतक मिल चुके हैं। पिछले दिनों भी एक महिला की मृतक देह  सरोवर में तैरते हुए मिली थी। जिसकी जानकारी देते हुए लोगों ने बताया कि वह सरोवर पर घूमती रहती थी तथा अवैध खुर्दो से शराब पीती थी। श्रद्धालुओं व आमजन ने प्रशासन से मांग की सरोवर के आसपास चल रहे अवैध खुर्दो को तुरन्त बन्द करवाया जाए, ताकि सरोवर पर स्थानीय लोगों के साथ साथ विभिन्न राज्यों से आने वाले लोगों की श्रद्धा को ठेस ना पहुंचे।

Share this story